Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी ने फिर पेश की मानवता की मिसाल

प्रधानमंत्री मोदी ने फिर पेश की मानवता की मिसाल

655
SHARE

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक फलक पर एक बार फिर मानवता की मिसाल कायम की है। उन्होंने इस संकट की घड़ी में उन देशों की मदद की है जो आज तक हमें घाव देते रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन देशों को भी मरहम लगाकर वैश्विक कूटनीतिक के लिए उच्चतम मापदंड स्थापित किया है। ब्राजिल और अमेरिका के बाद अब पाकिस्तान ने भी वैश्विक महामारी कोरोना से बचने के लिए भारत से मलेरिया की हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवाई मांगी है। इतना ही नहीं इस दवाई के लिए मलेशिया और तुर्की ने भी भारत से संपर्क किया है। भारत इन देशों की मांग पर गंभीरतापूर्वक विचार किया है।

जिन देशों ने घाव दिया उन्हें भी मरहम दे रहा भारत

जो देश बीते समय में भारत के विरोधी देश के रूप में सामने आए हैं आज वही अपनी जनता को कोरोना के कहर से बचाने के लिए भारत के सामने याचक की तरह खड़ा है। वह चाहे पाकिस्तान हो या फिर मलेशिया या फिर तुर्की सभी अपनी जनता को कोरोना से बचान के लिए भारत की मदद मांगने को मजबूर है। ऐसा भी नहीं है कि भारत ने उनकी मांगों को ठुकरा दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मानवता की मिसाल कायम करते हुए उन देशों को मदद करने को तैयार है।

मलेशिया ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण से किया इनकार

भारत के विरोधी देश के रूप में पाकिस्तान का नाम तो जगजाहिर है, लेकिन बीते कुछ दिनों में मलेशिया ने भी भारत का विरोध किया था। मलेशिया वही देश है जो आतंक को बढ़ा देने के आरोपी जाकिर नाइक के प्रत्‍यर्पण से इनकार कर दिया था। मालूम हो कि पिछले चार सालों  से जाकिर नाइक मलेशिया में ही रह रहा है। लेकिन भात के दबाव के बावजूद मलेशिया ने नाइक के प्रत्यर्ण को खारिज कर दिया था। आज वही मलेशिया अपनी पूरी जनता को कोरोना के कहर से बचाने के लिए भारत के आगे हाथ फैलाए हुए खड़ा है।

पाकिस्तान तो शुरू से रहा है विरोधी

पाकिस्तान तो भारत का शुरू से विरोधी रहा है। वह चाहे आतंकियों को प्रश्रय देना हो या सीजफायर का उल्लंघन करना हो, पाकिस्तान हर प्रकार से भारत का दुश्मन रहा है। हाल ही में देश सीएए कानून लागू करना हो या फिर जम्मू एवं कश्मीर से आर्टिकल 370 को खत्म करना हो, पाकिस्तान ने भारत के कदम का विरोध ही नहीं किया था बल्कि उसके खिलाफ जो बन सकता था वह सब किया भी था। आज वही पाकिस्तान भारत से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा मांग रहा है। मालूम हो कि पाकिस्तान भी कोरोना से बुरी तरह प्रभावित है।

Leave a Reply