Home समाचार नेशनल वॉर मेमोरियल बनाने का विरोध करने वाली कांग्रेस के राहुल गांधी...

नेशनल वॉर मेमोरियल बनाने का विरोध करने वाली कांग्रेस के राहुल गांधी को अमर जवान ज्योति की लौ पर राजनीति करते ही यूजर्स ने लगाई लताड़

610
SHARE

इंडिया गेट पर बने अमर जवान ज्योति की लौ का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National War Memorial) में विलय कर दिया गया है। सेना के अधिकारियों के अनुसार अमर जवान ज्योति की लौ को शुक्रवार 21 जनवरी, 2022 को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जल रही लौ में मिला दिया गया।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि साल 1947 में आजाद होने के बाद कई लड़ाई होने के बाद भी शहीद जवानों के लिए 1971 तक किसी अमर जवान ज्योति और 2019 तक किसी नेशनल वॉर मेमोरियल की स्थापना नहीं की गई थी।

इंडिया गेट को अंग्रेजों ने 1931 में बनवाया था। यहां ब्रिटिश सेना के लिए प्रथम विश्वयुद्ध और अफगान युद्ध में शहीद होने वाले सैनिकों के नाम अंकित हैं। जबकि अमर जवान ज्योति को 1971 के भारत-पाक (बांग्लादेश) युद्ध में शहीद हुए भारतीय सैनिकों की याद में बनवाया गया। अमर जवान ज्योति पर शहीदों के नाम नहीं हैं। देश के लिए शहीद हुए सभी जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि देने क लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 फरवरी, 2019 को National War Memorial का उद्घाटन किया था। यहां 25,942 सैनिकों के नाम अंकित किए गए हैं।

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक देश का अकेला स्मारक है, जहां तीनों सेना के शहीद जवानों के नाम अंकित हैं। इसमें 1971 युद्ध में शहीद जवानों के नाम भी शामिल हैं। इसमें भारत-चीन के बीच हुए युद्ध के साथ भारत-पाक के बीच हुए 1947, 1965, 1971 और 1999 कारगिल युद्धों दौरान शहीद जवानों के नाम भी हैं। इसके साथ ही इसमें श्रीलंका में भारतीय शांति सेना के संचालन के दौरान और संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के दौरान शहीद हुए जवानों के नाम भी अंकित हैं।

अब सभी जवानों को एक साथ श्रद्धांजलि देने के लिए अमर जवान ज्योति की लौ को नेशनल वॉर मेमोरियल की लौ के साथ मिला दिया गया है। इसे लेकर कांग्रेस ने राजनीति शुरू कर दी। कांग्रेस राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का शुरू से विरोध करती रही है। राष्ट्रीय युद्ध स्मारक बनाए जाने के फैसले पर कांग्रेस की तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा था कि राष्ट्रीय युद्ध स्मारक बना देने पर लोग कहां घूमने जाएंगे? देखिए वीडियो-

 

 

अब अमर जवान ज्योति की लौ को नेशनल वॉर मेमोरियल की लौ के साथ विलय करने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी हो-हल्ला कर रहे हैं। राहुल ने ट्वीट कर लौ की विलय का विरोध किया जिसपर सोशल मीडिया पर यूजर्स ने कड़ी फटकार लगाई।

Leave a Reply