Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी के लॉकडाउन 2.0 वाले संबोधन को 20.3 करोड़ लोगों ने...

प्रधानमंत्री मोदी के लॉकडाउन 2.0 वाले संबोधन को 20.3 करोड़ लोगों ने देखा, तोड़े पिछले सारे रिकॉर्ड

480
SHARE

कोरोना वायरस संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल, 2020 को देश को संबोधित किया। 19 दिन के लॉकडाउन 2.0 की घोषणा करने वाला देश के नाम यह संबोधन व्यूअरशिप के मामले में पिछले रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया है। प्रधानमंत्री मोदी के इस संबोधन को टीवी पर सबसे ज्यादा देखा गया। टीवी व्यूअरशिप मॉनिटरिंग एजेंसी बार्क (ब्रॉडकास्टिंग ऑडियंस रिसर्च काउंसिल्स) इंडिया रेटिंग्स के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी के इस संबोधन को 199 चैनलों पर 20.3 करोड़ से ज्यादा लोगों ने लाइव देखा।

प्रधानमंत्री मोदी कोरोना वायरस महामारी पर देश की जनता को चार बार संबोधित कर चुक हैं। पहली बार उन्होंने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया। उसके बाद लॉकडाउन की घोषणा और तीसरी बार घरों में मोमबत्तियां और दीये जलाने का आह्वान किया। इससे पहले मोदी ने जब पहली बार 21 दिन के बंद की घोषणा की तो उनके इस संबोधन को रिकॉर्ड 19.3 करोड़ लोगों ने देखा।

बार्क के मुख्य कार्यकारी सुनील लुल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को राष्ट्रव्यापी बंद को 19 दिन बढ़ाने की घोषणा की। उनके इस 25 मिनट के संबोधन का प्रसारण 199 प्रसारण कंपनियों ने किया। सभी दर्शकों की संख्या के आधार पर गणना की जाए तो इस प्रसारण को चार अरब मिनट देखा गया। यह भी एक रिकॉर्ड है।

परिषद ने कहा कि 12 अप्रैल को समाप्त हुए सप्ताह तक टीवी देखने का आंकड़ा कोविड-19 से पहले की तुलना में 38 प्रतिशत बढ़ा। लुल्ला ने संकेत दिया कि इसकी वजह राष्ट्रीय प्रसारणकर्ता दूरदर्शन के दर्शकों की संख्या में इजाफा है। बंद के दौरान दूरदर्शन ने रामायण और महाभारत का प्रसारण दोबारा शुरू किया है जिसकी वजह से उसके दर्शकों की संख्या बढ़ी है। उन्होंने कहा कि सामान्य मनोरंजक चैनलों के दर्शकों की संख्या दूरदर्शन की वजह से बढ़ी है। 

इसके अलावा पहले भी प्रधानमंत्री मोदी कई मुद्दों पर राष्ट्र के नाम संबधोन कर चुके हैं। आइए जानते हैं प्रधानमंत्री  कब-कब और किन-किनों मुद्दों पर राष्ट्र को पहले संबोधित कर चुके हैं।

03 अप्रैल 2020

राष्ट्र के नाम संबोधन देशवासियों से रात नौ बजे नौ मिनट दीये बिजली बंद कर मोमबती, टॉर्च लाइट व मोबाइल फ्लैश लाइट जलाने की अपील की।

24 मार्च 2020

कोविड-19 के मद्देजनर राष्ट्र के नाम संबोधन, पूरे देश में 21 दिन के लिए लॉकडाउन की घोषणा।

19 मार्च 2020

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दिन 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की बात कही थी। 22 मार्च को देशभर में सबकुछ बंद रहा।

10 नवंबर 2019

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राष्ट्र के नाम संबोधन।

8 अगस्त 2019

जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने के मुद्दे पर राष्ट्र के नाम संबोधन।

27 मार्च 2019

उपग्रह रोधी प्रक्षेपास्त्र’ (एएसएटी) के सफल परीक्षण पर राष्ट्र के नाम संबोधन।

8 नवम्बर 2016

राष्ट्र के नाम संबोधन में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने की ऐतिहासिक घोषणा।

Leave a Reply