Home समाचार दूरसंचार के क्षेत्र में नए युग की शुरुआत, प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च...

दूरसंचार के क्षेत्र में नए युग की शुरुआत, प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च की 5G सर्विस, जानें कैसे सबसे पहले उठाये 5G सर्विस का आनंद

314
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस ‘न्यू इंडिया’ और ‘डिजिटल इंडिया’ की परिकल्पना की है, उस दिशा में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। आज टेक्नोलॉजी की दौड़ में भारत भी किसी से कम नहीं है। शनिवार (01 अक्टूबर, 2022) को दूरसंचार के क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत हुई। प्रधानमंत्री मोदी ने नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2022 के छठे एडिशन में हाई स्पीड मोबाइल इंटरनेट सुविधा से युक्त 5G सर्विस को लॉन्च किया। इसके साथ ही भारत 5G सर्विस वाले चुनिंदा देशों में शामिल हो गया। इस मौके पर केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव, दूरसंचार राज्य मंत्री देवुसिंह चौहान, रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी, आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ल भी मौजूद रहे।

2024 तक पूरे भारत में 5G सर्विस होगी शुरू

इंडिया मोबाइल कांग्रेस (IMC) 2022 में प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में Jio और Airtel सहित शीर्ष दूरसंचार ऑपरेटर ने अपनी 5G तकनीक का प्रदर्शन किया। इस दौरान बताया गया कि सेवा के रोलआउट में कुछ समय लगने वाला है। वास्तव में, 5G सेवाओं का पूर्ण रोलआउट 2023 के अंत तक ही होगा। दिग्गज टेलिकॉम कंपनियां जैसे एयरटेल और जियो की सबसे पहले 5G सर्विस ऑफर करने वाली कंपनियां होंगी। केंद्र सरकार का कहना है कि अगल दो साल यानी 2024 तक पूरे भारत में 5G सर्विस शुरू हो जाएगी। 5G लॉन्च के बाद अब सरकार का ध्यान 6G लॉन्चिंग करने पर है। इसके लिए सरकार की तरफ से पहले ही काम शुरू कर दिया गया है। 

इन 13 शहरों को सबसे पहले मिलेगी 5G की सौगात

हालांकि भारत में 5G की शुरुआत दिल्ली से हुई। लेकिन इस साल दीपावली से देश के 13 शहरों में 5G सर्विस शुरू हो जाएगी। इनमें दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, कोलकाता, जामनगर, लखनऊ और पुणे शामिल है। इन शहरों के बाद धीरे-धीरे इसका विस्तार होगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने 5G लॉन्च के समय ऐलान किया कि दिसंबर 2023 तक देश के हर तालुका तक जियो 5G की सेवा पहुंच जाएगी। जियो ने देश के हर गांव में 5G इंटरनेट सेवा को पहुंचाने के लिए 2 लाख करोड़ के निवेश की बात कही है। 

कैसे उठाएं 5G सर्विस का लाभ

भारत में 5G सर्विस शुरू होने का इंतजार खत्म होने के बाद अब इस सेवा का लुत्फ उठाने की बारी है। इसके लिए सबसे पहले 5G स्मार्टफोन लेना होगा। साथ ही यह सुनिश्चित करना होगा कि जिस 5G स्मार्टफोन को खरीदना है, उसमें ज्यादा से ज्यादा 5G बैंड्स दिए गए हो। दरअसल टेलिकॉम कंपनियां सबसे पहले भारत में मिड-बैंड स्मार्टफोन की कनेक्टिविटी उपलब्ध कराएंगी। जियो और एयरटेल की कंपनी सबसे पहले भारत में 5G सर्विस लॉन्च करने जा रही है। ऐसे में इन दोनों कंपनियों में से किसी एक का सिम होना चाहिए।

5G सर्विस से उपभोक्ताओं को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं

देश में 5G सर्विस शुरू होने के बाद उपभोक्ताओं को बेहतर कॉल और कनेक्टिविटी की सुविधा मिलेगी। इंटरनेट यूजर्स मूवी और अन्‍य चीजों को चुटकियों में डाउनलोड कर सकेंगे। टीवी प्रोग्राम, मल्‍टीमीडिया आदि हाई क्‍वालिटी में देख पाएंगे। 5जी से कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, यातायात प्रबंधन आदि तमाम क्षेत्रों में क्रांति आ सकती है। साथ ही 5G टेक्नोलॉजी से ड्राइवरलेस कार का सपना भी साकार किया जा सकता है। 5G टेक्नोलॉजी हेल्थकेयर, वर्चुअल रियलिटी, क्लाउड गेमिंग के लिए भी एक उम्मीद की किरण दिखा रही है।

5G सर्विस से एलेक्सा जैसी डिवाइसेज का चलन बढ़ेगा

4G आने के बाद एलेक्सा (Alexa) और गूगल होम (Google Home) जैसे डिवाइसेज आम हुए हैं। 5G सर्विस के आने बाद इस तरह की दूसरी डिवाइसेज का भी चलन बढ़ सकता है। इसके अलावा मार्केट में सिक्‍योरिटी से जुड़े नए इक्विपमेंट भी पेश किए जा सकते हैं। गेमिंग के क्षेत्र में नई संभावनाएं पैदा हो सकती हैं। मेडिकल क्षेत्र में रोबोट्स के ज़रिए सर्जरी की तकनीक को आसान बनाया जा सकता है। हालांकि इसके लिए दूसरे मोबाइल नेटवर्क की तुलना में ज्‍यादा कीमत देनी पड़ सकती है।

4G की तुलना में 5G 20 से 30 गुना तेज

गौरतलब है कि यह 5वीं पीढ़ी का मोबाइल नेटवर्क है। 1G, 2G, 3G और 4G के बाद यह नया वैश्विक वायरलेस मानक है। इसे 4G से 30 गुना तक तेज माना जा रहा है। एयरटेल के अनुसार 4G की तुलना में 5G 20 से 30 गुना तेज होगा। 5G को IMT-2020 आवश्यकताओं के आधार पर 20 Gbps तक की पीक डेटा दर देने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसकी पीक डेटा दर 20 गीगाबिट-प्रति-सेकंड (Gbps) और औसत डेटा दर 100+ मेगाबिट-प्रति-सेकंड (Mbps) तक पहुंच सकती है। हाई स्पीड के अलावा 5G को अधिक नेटवर्क क्षमता प्रदान करने के लिए भी डिज़ाइन किया गया है। 

Leave a Reply