Home समाचार मोदी सरकार ने बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांटों को दोबारा शुरू करने का...

मोदी सरकार ने बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांटों को दोबारा शुरू करने का दिया निर्देश, सिंगापुर और UAE से ऑक्सीजन टैंकर मंगाने का फैसला

658
SHARE
फाइल फोटो

कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से अस्पतालों में ऑक्सीजन की मांग काफी बढ़ गई है। अचानक बढ़ी इस मांग से अस्पतालों में अफरा-तफरी मची हुई है। मांग और आपूर्ति के बीच संतुलन बनाने के लिए युद्ध स्तर पर काम हो रहा है। लोगों की सांसें बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार काम कर रहे हैं और एक के बाद एक बड़े फैसले ले रहे हैं। ऑक्सीजन एक्सप्रेस, ऑपरेशन ऑक्सीजन चलाने के बाद मोदी सरकार ने बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांटों को फिर से शुरू करने का निर्देश दिया है। इतना ही नहीं सरकार ने विदेशों से ऑक्सीजन टैंकर और प्लांट मंगाने का फैसला किया है।

ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को तेजी से पूरा करने के लिए अब मोदी सरकार ने एक नया फैसला किया है। जिसके तहत अब केंद्र सरकार, सिंगापुर और UAE से उच्च क्षमता वाले आक्सीजन टैंकर मंगाने जा रही है। इससे पहले जर्मनी से 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट हवाई मार्ग से लाने का फैसला हो चुका है। इनमें से हर प्लांट प्रति मिनट 40 लीटर और प्रति घंटा 2400 लीटर आक्सीजन उत्पादन कर सकता है।

ऑक्सीजन को लेकर राज्य सरकारें एक दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। इस लिए मोदी सरकार ने राज्यों को उत्पादन बढ़ाने के लिए बंद पड़ी ऑक्सीजन इकाइयों को दोबारा शुरू करने के निर्देश दिए हैं। ताकि जल्द से जल्द देश में ऑक्सीजन संकट पूरी तरह दूर हो सके। वहीं किसी भी मरीज की जान ऑक्सीजन की कमी की वजह से न जाए।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से आक्सीजन की ढुलाई करने वाले वाहनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को भी कहा है। आक्सीजन वाहनों के लिए विशेष कॉरिडोर बनाने और उन्हें एंबुलेंस का दर्जा देने को भी कहा है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने अपने पत्र में कहा है कि विभिन्न जिलों में आक्सीजन उत्पादन करने वाली इकाइयां हैं। इन इकाइयों से स्थानीय अस्पतालों को आक्सीजन की सप्लाई की जा सकती है। ऐसी इकाइयों की सूची बनाने के लिए जिलाधिकारियों को जिम्मेदारी देने को कहा गया है। 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हालात पर पैनी नजर रखे हुए है। ऑक्सीजन के उत्पादन, परिवहन और वितरण को लेकर भी अधिकारियों से जानकारी लेते रहते हैं और जरूरी निर्देश दे रहे हैं। प्रधानमंत्रीी मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देशभर के प्रमुख ऑक्सीजन उत्पादकों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि यह वक्त सिर्फ चुनौतियों से निपटने का नहीं है, बल्कि उनका समय में समाधान ढूंढने का भी है। प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार और ऑक्सीजन उत्पादकों के बीच बेहतर तालमेल पर भी जोर दिया।

 

Leave a Reply