Home समाचार डबल इंजन की सरकार से बदली उत्तर प्रदेश की पहचान!

डबल इंजन की सरकार से बदली उत्तर प्रदेश की पहचान!

412
SHARE

केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश निरंतर विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है, इस विकास गाथा की सबसे ज्यादा चमक जिन राज्यों में दिखाई दे रही है, उनमें सबसे आगे है देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश। उत्तर प्रदेश में डबल इंजन सरकार का कमाल, विरोधियों को भी हैरान कर रहा है। योगी सरकार का पिछले 4.5 साल का रिपोर्ट कार्ड बेहद शानदार रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उत्तर प्रदेश में हो रहे बदलाव सारी दुनिया को हैरान कर रहे हैं ।

योगी राज में उत्तर प्रदेश की बदलती तस्वीर

उत्तर प्रदेश की बदलती तस्वीर के पीछे हैं, योगी सरकार का कामकाज , जिसका लाभ तेज रफ्तार से आम लोगों तक पहुंच रहा है। योगी राज में पिछले 4.5 वर्षों में कोई दंगा नहीं हुआ। अपराधियों पर कड़े एक्शन से माफिया राज पर नकेल लगी, साथ ही विकास की योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचा।

शानदार है योगी सरकार का रिपोर्ट कार्ड

हाल ही में अपनी सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा लोगों के सामने रखते हुए सीएम योगी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व को धन्यवाद देते हुए कहा कि ‘यूपी में सुरक्षा और सुशासन की दृष्टि से हमारी सरकार ने बहुत काम किए। यूपी का परसेप्शन देश और दुनिया में बदला है। सरकार और संगठन के सामूहिक प्रयास से काम किए गए। इस सरकार की सफलता में केंद्रीय नेतृत्व के निरंतर सहयोग की बहुत बड़ी भूमिका रही।’

अपराधियों और माफिया के खिलाफ सख्त एक्शन 

वर्ष 2012 से 2017 के बीच उत्तर प्रदेश पर दंगों के कई दाग लगे, देश-दुनिया में प्रदेश की छवि खराब हुई। लेकिन सीएम योगी की सरकार में यूपी दंगों से मुक्त रहा, अपराधियों और माफिया तत्वों पर सख्ती से लोग शांति से अपनी जिंदगी जी सके। उत्तर प्रदेश में अपराधी एक दिन भी चैन से बैठ नहीं सके। सीएम योगी ने अपराधियों और गुंडा तत्वों पर सख्ती के निर्देश दिए, इसके बाद पूरी तरह से एक्शन में आई, उत्तर प्रदेश की पुलिस ने अपराधियों के अवैध निर्माण को जमींदोज कर दिया, योगी सरकार की सख्ती का ही नतीजा है कि अपराधियों और माफियाओं की 1,866 करोड़ रुपयों की संपत्ति या तो गिरा दी गई या फिर उन्हें जब्त कर लिया गया। सभी 1,535 थानों में महिला हेल्प डेस्क का गठन किया गया है।

लोगों को मिल रहा योगी सरकार की योजनाओं का लाभ

बालिकाओं को ग्रेजुएशन तक मुफ्त शिक्षा दी जा रही है। 1.67 करोड़ महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन मिला है। सीएम योगी की सरकार ने गरीबों को घर दिलाने के मिशन पर भी पूरा जोर लगा दिया। उत्तर प्रदेश में गरीबों को मिले 42 लाख आवास इस बात का प्रमाण हैं।अपनी सरकार के रिपोर्ट कार्ड पर सीएम योगी ने कहा है कि ‘पहले सीएम अपने आवास बनाने के लिए बनते थे. खुद के लिए हवेली और मकान बनाने में मुकाबला होता था. हम लोगों ने अपने आवास नहीं बनाए, गरीबों को 42 लाख आवास दिए हैं. यही सुशासन है’

उत्तर प्रदेश में गरीबों तक मदद पहुंचाने में पहले सालों लग जाते थे। आम लोगों को मामूली जरूरतों को पूरा करने के लिए भी लंबा इंतजार करना पड़ता था, लेकिन योगी सरकार ने शासन-प्रशासन के काम करने के तरीके को बदला। हर काम के लिए जिम्मेदारी तय की। अब 24 घंटों के भीतर ही लोगों तक मदद पहुंच रही है। उन्हें अपने काम के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ते।

योगी राज में उत्तर प्रदेश में नौकरियों की बहार 

डीडीटी के जरिए 5 लाख करोड़ से ज्यादा की धनराशि लाभार्थियों को देने का काम किया गया है। युवाओं के लिए सरकार ने नौकरी के दरवाजे खोले हैं। साल 2017 में उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी दर 17.5 प्रतिशत थी। जो मार्च, 2021 में घटकर 4.1 फीसदी रह गई। उत्तर प्रदेश में 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरियां दी गई हैं । कुल नौकरियों का आंकड़ा तो 1.5 करोड़ से अधिक पहुंचता दिख रहा है ।

बदल रहा है भारत, बदल रहा है उत्तर प्रदेश 

उत्तर प्रदेश देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में उत्तर प्रदेश वर्ष 2016-17 में 14वें स्थान पर था। अब देश में दूसरे नंबर पर आ गया है। योगी सरकार की निवेश को लेकर प्रभावी नीतियों का ही नतीजा है कि 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हुआ। देश की पहली डिस्प्ले यूनिट उत्तर प्रदेश में लगाई गई है।

लोगों की सुरक्षा का सरकार रख रही ख्याल

उत्तर प्रदेश में लोगों को तेजी से न्याय मिलने का रास्ता भी साफ हुआ है। 218 नए फास्ट ट्रैक कोर्ट, 81 मजिस्ट्रेट स्तरीय कोर्ट और 81 अपर सेशन कोर्ट बनाए गए हैं। यूपी में अब तक 1.43 लाख पुलिसकर्मियों की भर्ती हुई है। चार बड़े शहरों में कमिश्नरेट सिस्टम लागू किया गया है। 214 नए पुलिस स्टेशन, साइबर पुलिस स्टेशन और साइबर सेल का गठन हुआ है। साथ ही SDRF और SSF का गठन किया गया है।

शहरों को जोड़ने के लिए तैयार हो रहे वर्ल्ड क्लास एक्सप्रेस-वे

योगी आदित्यनाथ की सरकार यूपी को तेजी से आर्थिक विकास के रास्ते पर ले जाने के लिए कमर कस चुकी है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण इसका बेहतरीन उदाहरण है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लगातार कोशिशों से उत्तर प्रदेश ‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बनने की ओर बढ़ रहा है।

अन्नदाता को भी सरकार की योजनाओं से मिला फायदा

देश के अन्नदाता को लाभ पहुंचाने और उनकी आमदनी बढ़ाने के लिए भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं। 86 लाख लघु और सीमांत किसानों का 36,000 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया गया है। किसानों को मिला ये लाभ, पिछली सरकारों की तुलना में 22 गुना ज्यादा है।

Leave a Reply