Home समाचार एक्शन में योगी सरकार, यूपी में माफिया पर रोज हो रहे प्रहार

एक्शन में योगी सरकार, यूपी में माफिया पर रोज हो रहे प्रहार

422
SHARE

कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीरो टालरेंस की नीति का असर धरातल पर साफ दिख रहा है। 2017 में सरकार गठन के बाद से ही प्रदेश में माफिया और बाहुबलियों के साथ ही उनके करीबियों पर भी रोज प्रहार हो रहे हैं। ताजा घटनाक्रम में मऊ सदर से बाहुबली विधायक माफिया मुख्तार अंसारी के करीबी कोयला माफिया उमेश सिंह के 10 करोड़ के शॉपिंग मार्ट को ध्वस्त कर दिया गया है। मऊ में शनिवार सुबह ठेकेदार उमेश सिंह के शॉपिंग मार्ट पर प्रशासन का बुलडोजर चला।

मऊ में कई वर्षों से संचालित हो रहा था मार्ट, लेकिन पूर्व की सरकारें नहीं जुटा सकीं कार्रवाई करने की हिम्मत
यह मार्ट पिछले कई वर्षों से संचालित हो रहा था, लेकिन पूर्ववर्ती किसी सरकार ने उस पर कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटाई। मऊ सिटी मजिस्ट्रेट के न्यायालय में अवैध तरीके से निर्माण करने का मुकदमा स्टेट बनाम उमेश सिंह, अजय सिंह, विजय सिंह, विनय सिंह के विरुद्ध चल रहा था। जिसकी सुनवाई करते हुए शुक्रवार को कोर्ट ने ध्वस्तीकरण का आदेश जारी किया था। मुख्तार अंसारी के करीबी और त्रिदेव ग्रुप के मालिक कोयला माफिया उमेश सिंह मन्ना सिंह हत्याकांड में आरोपी है। मऊ प्रशासन इसके पहले भी कई मौके पर उमेश की करोड़ों रुपये की संपत्ति को सीज कर जब्त कर चुकी है। बीते वर्ष अक्तूबर माह में कोपागंज थाना क्षेत्र के अदरी स्थित त्रिदेव धर्म कांटा व कोल डिपो को जिला प्रशासन ने जब्त किया था।

 

प्रदेश में 800 बड़े अपराधी चिह्नित, अब तक ढाई अरब रुपये की अवैध संपत्ति जब्त
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था को लेकर पहले ही अपनी प्रतिबद्धता जता दी थी कि अपराधियों के लिए उत्तर प्रदेश में कोई जगह नहीं है। वे जेल में रहेंगे या प्रदेश के बाहर। प्रदेश स्तर पर बड़े माफिया पर शिकंजा कसते हुए अब जिले स्तर पर भी बड़े व आदतन अपराधियों को चिह्नित किया गया है। अब इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की तैयारी है। पुलिस कुर्की से लेकर संपत्ति तक जब्त कर बदमाशों की कमर तोड़ रही है। ऐसे करीब ढाई अरब रुपये की अवैध संपत्ति को पुलिस ने जब्त किया है। यूपी पुलिस के अनुसार जिले स्तर पर जुलाई माह तक करीब 800 आपराधिक माफिया को चिह्नित किया गया है। आठ हजार से ज्यादा मुकदमे दर्ज कर 668 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मुठभेड़ में तीन आपराधिक माफिया को मार भी गिराया है। 12 आरोपियों की कुर्की करते हुए 25 आरोपियों पर रासुका लगाया गया है। 567 आरोपियों पर गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही, पुलिस ने जिला स्तर पर कानून व्यवस्था में रोड़ा बन रहे 233 आपराधियों पर गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई की है और 11 शस्त्र लाइसेंस निरस्त किए हैं। इसके अलावा ऐसे 382 बदमाशों की हिस्ट्रीशीट भी खोली गई है और 274 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

ये हैं प्रदेश के 25 बड़े माफिया, टॉप पर हैं मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद
1.गाजीपुर जिले के युसूफपुर मोहम्दाबाद निवासी मुख्तार अंसारी
2.प्रयागराज जिले के खुल्दाबाद थाना क्षेत्र निवासी अतीक अहमद
3.वाराणसी जिले के चौबेपुर निवासी बृजेश कुमार सिंह उर्फ अरुण कुमार 
4.लखनऊ जिले के हसनगंज निवासी ओमप्रकाश उर्फ बब्लू श्रीवास्तव
5.बिजनौर जिले के स्योहारा थाना क्षेत्र निवासी मुनीर
6.अंबेडकरनगर जिले के हंसवार थानाक्षेत्र निवासी खान मुबारक
7.गाजियाबाद जिले के लोनी निवासी अमित कसाना
8.शामली जिले के आदर्श मंडी निवासी आकाश जाट
9.मेरठ जिले के सरूरपुर निवासी उधम सिंह
10.मेरठ जिले के सरूरपुर निवासी योगेश भदौड़ा
11.बागपत जिले के बड़ौत निवासी अजीत उर्फ हप्पू
12.मुजफ्फरनगर जिले के रतनपुर निवासी सुशील उर्फ मूंछ,
13.मुजफ्फरनगर जिले के कोतवाली निवासी संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा
14.गौतमबुद्धनगर जिले के कासना निवासी सुंदर भाटी उर्फ नेताजी
15.गौतमबुद्धनगर जिले के कासना निवासी अनिल भाटी
16.गौतमबुद्धनगर के बादलपुर निवासी अनिल दुजाना उर्फ अनिल नागर
17.गौतमबुद्धनगर जिले के दनकौर निवासी सिंघराज भाटी
18.गौतमबुद्धनगर जिले के जारचा निवासी अंकित गुर्जर
19.वाराणसी जिले के कोतवाली निवासी सुभाष सिंह ठाकुर
20.आजमगढ़ जिले के जीयनपुर निवासी ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह
21.गाजीपुर जिले के मुहम्मदाबाद उमेश राय उर्फ गौरा राय
22.गाजीपुर जिले के सैदपुर निवासी त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन कुमार
23.लखनऊ जिले के कैंट निवासी मो. सलीम
24.लखनऊ जिले के कैंट निवासी मो. सोहराब
25.लखनऊ जिले के कैंट निवासी मो. रुस्तम

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी सीएम के काम को सराहा, कहा योगी का नाम सुनते ही प्रदेश में थरथर कांपने लगते हैं गुंडे
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सराहना करते हुए कहा कि 2017 से पहले यूपी में अराजकता और गुंडागर्दी का माहौल था। गुंडे वर्दी पर भारी पड़ रहे थे, लेकिन जबसे उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार आई है, तब से सीएम योगी का नाम सुनते ही गुंडों की धड़कनें बढ़ जाती हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की गौरवशाली परंपरा और सनातन धर्म की रक्षा में गोरक्षपीठ ने अहम योगदान निभाया है। राम मंदिर आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाने वाले गोरक्ष पीठाधीश्वर ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ ने हिंदू धर्म की गौरव गाथा को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। उन्हीं के बताए रास्तों पर चलकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी में विकास और विश्वास का नया माहौल बना रहे हैं। यही वजह है कि योगी का नाम सुनते ही गुंडे कांपने लगते हैं।

 

 

 

Leave a Reply