Home समाचार महिला दिवस स्पेशल : महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध मोदी...

महिला दिवस स्पेशल : महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध मोदी सरकार

621
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी तमाम नीतियों और प्रगतिशील कदमों के द्वारा महिला शिक्षा और कौशल विकास को बढ़ावा दिया है। महिला उद्यमियों के सपनों और महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने का मौका दिया है, जिससे वो रोजगार देने वाली बनें और दूसरी महिलाओं को भी सशक्त बनाएं। प्रधानमंत्री मोदी की पहल ने महिलाओं में विश्वास भरने के साथ ही भरोसा भी उत्पन्न किया है।

शिक्षा से सुनहरा भविष्य

-मोदी सरकार ने सैनिक स्कूलों में लड़कियों के दाखिले की स्वीकृति दी।

पीएम विद्या लक्ष्मी योजना और उड़ान योजना शुरू की गई।
-पीएम विद्यालक्ष्मी पोर्टल पर स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध है।
-शादी शगुन योजना के तहत स्नातक करने वाली अल्पसंख्यक लड़कियों को 51,000 रुपये की राशि दी जा रही है।
-नौंवी और 10वीं कक्षा में पढ़ाने वाली मुस्लिम बच्चियों को 10 हजार रुपये स्कॉलरशिप दी जा रही है।
-मोदी सरकार ने अल्पसंख्यक लड़कियों के लिए ‘पढ़ो-बढ़ो’ अभियान की शुरुआत की।

महिलाओं का कौशल विकास

– पीएम कौशल विकास योजना के अंतर्गत महिलाओं को रोजगार योग्य बनाने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।
– दीन दयाल उपाध्याय राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत 3 करोड़ ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार के लिए लोन दिए गए।
– 6.6 करोड़ से अधिक महिलाएं स्व-सहायता समूह अभियान से जुड़ीं, जहां उन्हें कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है।
– पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एसएचजी के महिला सदस्यों से सीधा संवाद किया।
– महिला शक्ति केन्द्र योजना के तहत ग्रामीण महिलाओं को सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से सशक्त बनाया जा रहा है।
– फरवरी 2020 में दिल्ली में आयोजित हुनर हाट में करीब 50 प्रतिशत महिला दस्तकार शामिल हुईं।
– कामकाजी महिलाओं को जरूरी सहयोग मुहैया कराने के लिए 190 से ज्यादा हॉस्टल खोले जा रहे हैं।

डिजिटल इंडिया
– सरकार और महिलाओं के बीच ब्रिज बनी टेक्नोलॉजी
– डीबीटी के दायरे में 56 मंत्रालयों की 450 योजनाएं
– योजना राशि महिला लाभार्थियों के बैंक खाते में सीधे ट्रांसफर
– जनधन, आधार और मोबाइल से भ्रष्टाचार पर अंकुश,लीकेज खत्म
– घर बैठी 20 लाख महिलाओं द्वारा 9 अरब डॉलर का व्यापार
– होममेकर्स की व्हाट्सऐप और फेसबुक के जरिए लोगों तक पहुंच
– महिला उद्यमियों के लिए ‘महिला ई-हाट’ लॉन्च किया गया
– सरकारी पोर्टल GeM पर सेल्फ हेल्प ग्रुप के उत्पादों को बढ़ावा

महिला आरोग्य
-आयुष्मान भारत योजना के तहत 30 लाख महिलाओं के सर्वाइकल कैंसर की जांच

-इंद्रधनुष योजना के तहत 91.4 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण
– देश की हर बड़ी पंचायत में हेल्थ वेलनेस सेंटर बनाये जा रहे हैं
– 6000 जन-औषधि केंद्रों पर कम कीमत पर मिल रही हैं दवाइयां
– गर्भवती महिलाओं के पोषण के लिए भारतीय पोषण कृषि कोष
– पोषण योद्धा के रूप में 13 लाख आंगनबाड़ी कार्यकर्ता
– 2022 तक भारत को कुपोषण मुक्त देश बनाने का लक्ष्य
– सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत प्रसवपूर्व जांच की सुविधा
– मातृत्व अवकाश 12 से बढ़ाकर 26 सप्ताह किया गया
– मातृत्‍व लाभ कार्यक्रम के तहत 6,000 रुपये का नकद प्रोत्‍साहन
– गर्भपात की सीमा 20 से बढ़ाकर 24 सप्ताह किया गया

स्वच्छता से स्वास्थ्य सुधार
– 10.90 करोड़ से अधिक घरों में शौचालयों का निर्माण
– खुले में शौच से मुक्त गांवों की संख्या 6 लाख से अधिक
– पीएम मोदी की प्रेरणा से 3 महिलाओं ने जेवर बेचकर बनवाए शौचालय
– महिलाओं के BMI (Body Mass Index) में 32 प्रतिशत का सुधार
– शिशु मृत्यु दर में कमी के साथ महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार
– महिलाओं से छेड़छाड़ व बलात्कार की घटनाओं में कमी
– स्कूलों में शौचालयों के निर्माण से लड़कियों के ड्रॉप ऑउट में कमी
– संक्रमण से मुक्ति के लिए 1 रुपये में सेनेटरी नैपकिन की बिक्री

Leave a Reply