Home समाचार पीएम मोदी ने ठेठ बनारसी अंदाज से जीता काशीवासियों का दिल, आधी...

पीएम मोदी ने ठेठ बनारसी अंदाज से जीता काशीवासियों का दिल, आधी रात पहुंचे कैंट रेलवे स्टेशन और खिड़किया घाट

444
SHARE

यूपी विधानसभा चुनाव के महासंग्राम के आखरी चरण में सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी। सभी पार्टियों के दिग्गज नेताओं ने शुक्रवार (04 मार्च, 2022) को काशी के मैदान में अपना दम दिखाया। लेकिन इसमें सबसे अधिक चर्चा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ठेठ बनारसी अंदाज की हो रही है। प्रधानमंत्री मोदी अपने बनारसी परिधान और अंदाज से काशीवासियों का दिल जीत लिया। प्रधानमंत्री मोदी की सादगी और अपनापन देख हर कोई उनका कायल हो गया। उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों पर ऐसा जादू किया कि पूरी काशी मोदीमय हो गई। हर तरफ मोदी-मोदी की गूंज सुनाई देने लगी। 

पीएम मोदी ने बाबा विश्वनाथ की पूजा के बाद बजाया डमरू

रोड शो खत्म कर प्रधानमंत्री मोदी काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर पहुंचे और मंत्रोच्चारण के साथ पूजा-अर्चना की। प्रधानमंत्री मोदी ने मंदिर में मौजूद पुजारियों से बातचीत भी की। इसके बाद मंदिर प्रांगण में मौजूद लोगों से भी बातचीत की। इस दौरान उन्होंने डमरू भी बजाया।

कुल्हड़ वाली चाय की चुस्की के साथ काशीवासियों से संवाद

काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के बाद लौटते समय प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के प्रसिद्ध अस्सी चौराहे पर स्थिति पप्पू की चाय की दुकान पर पहुंच गए। उन्होंने वहां कुल्हड़ वाली चाय का आनंद लिया। कोयले की आंच पर बने चाय की चुस्की लेते हुए उन्होंने दुकान में मौजूद लोगों के साथ बाचतीच की। प्रधानमंत्री मोदी को देख दुकान के बाहर भारी भीड़ जुट गई। लोगों ने हर-हर महादेव के नारे के साथ ही मोदी-मोदी का नारा लगाना शुरू कर दिया। 

प्रधानमंत्री मोदी ने लिया बनारसी पान का स्वाद 

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी बगल की दूकान पर पहुंच बनारस की एक दूसरी पहचान पान का स्वाद लिया। यह पान की दुकान भी अस्सी घाट पर ही चाय की दुकान के पास स्थित थी। जहां पहुंच कर उन्होंने दुकानदार से अपने लिए पान मांगा। प्रधानमंत्री मोदी के इस स्वरूप को देखकर मौके पर जमा लोगों में काफी उत्साह भी देखने को मिला। 

आधी रात रेलवे स्टेशन पहुंच कर लोगों से संवाद

थकानभरा रोड शो करने के बाद भी आराम करने के बजाय प्रधानमंत्री मोदी ने अचानक आधी रात को वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचकर सभी को हैरान कर दिया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने चिरपरिचित अंदाज के साथ प्लेटफॉर्म पर मौजूद स्टॉल्स कर्मचारियों और यात्रियों से संवाद किया। प्रधानमंत्री मोदी ने स्टेशन पर एग्जीक्यूटिव लाउंज में कर्मचारियों का हाल-चाल लिया और सुविधाओं के बारे में पूछा। इसके बाद उन्होंने प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर घूमकर यात्रियों से भी बातचीत की और सुविधा व साफ-सफाई का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने प्लेटफार्म पर खड़ी एक महिला के पैर भी छुए। प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन पर दस मिनट ठहरे थे। इसके बाद वे वहां से रवाना हो गए।

खिड़किया घाट पहुंच कर निर्माण कार्य का लिया जायजा

रेलवे स्टेशन से वाराणसी के उत्तर में स्थित अंतिम गंगा घाट खिड़किया घाट पर पहुंचे। इस दौरान हर जगह मोदी-मोदी और जय श्रीराम गूंजता रहा। यहां पर गंगा का काफी देर तक प्रधानमंत्री मोदी ने निहारा। एक-एक चीज को बहुत करीब से देखा। धर्मेद्र प्रधान को अपने पास बुलाने के बाद हाथों से इशारा करके काफी देर तक बातचीत भी करते रहे। माना जा रहा है कि वहां हुए निर्माण को लेकर कुछ दिशा निर्देश दिया गया है। बनारस में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तरह ही खिड़किया घाट भी पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जाता है। खिड़किया घाट ऐसी जगह पर मौजूद है जहां सभी तरह के वाहन जा सकते हैं।

 

ठेठ बनारसी परिधान में नजर आए पीएम मोदी

वाराणसी में रोड शो के दौरान प्रधानमंत्री ठेठ बनारसी अंदाज में गमछा लिए हुए थे। खादी की सदरी पहने प्रधानमंत्री मोदी ने भगवा टोपी भी पहन रखी थी। बनारसी गमछा, खादी की सदरी के साथ प्रधानमंत्री मोदी की टोपी की चर्चा इस रोड शो में सबसे ज्यादा रही। प्रधानमंत्री मोदी ने पहली बार इस तरह की टोपी पहनी। इसके कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। दरअसल प्रधानमंत्री मोदी ने बनारसी गमछे और खादी की सदरी से वोकल फॉर लोकल और बनारसीपन का संदेश दिया। अक्सर देखा जाता है कि प्रधानमंत्री जहां जाते हैं वहां के परिधान में नजर आ जाते हैं। कई रैलियों के दौरान वे उस क्षेत्र विशेष के पहनावे में होते हैं। इस चुनाव के दौरान भी पंजाब की रैलियों में प्रधानमंत्री मोदी पगड़ी पहने नजर आए। उत्तराखंड में भी उत्तराखंडी टोपी पहनकर उन्होंने रैली को संबोधित किया।

काशीवासियों ने प्रधानमंत्री का दिल खोलकर किया स्वागत

इससे पहले रोड शो के दौरान काशीवासियों ने प्रधानमंत्री मोदी का दिल खोलकर स्वागत किया। मलदहिया चौराहा स्थित सरदार पटेल की मूर्ति पर माल्यार्पण कर प्रधानमंत्री मोदी के रोड शो को 3 किमी दूर काशी विश्वनाथ मंदिर तक पहुंचने में करीब 3 घंटे लग गए। इस दौरान फूलों के साथ रंगों की फुहार उड़ाई। उनका काफिला जहां से भी निकला वहां से फूल मालाओं के साथ लोग उनका इंतजार करते मिले। कई जगहों पर गुलाल की फुहारों से भी उत्साहित लोगों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। प्रधानमंत्री मोदी का रोड शो बनारस की गलियों में धीरे-धीरे आगे बढ़ता गया। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं का उत्साह देखते बन रहा था।  

Leave a Reply