Home समाचार पीएम मोदी ने मोर्चा संभालते ही शुरू किया ‘ऑपरेशन ऑक्सीजन’, ऑक्सीजन आपूर्ति...

पीएम मोदी ने मोर्चा संभालते ही शुरू किया ‘ऑपरेशन ऑक्सीजन’, ऑक्सीजन आपूर्ति में तेजी लाने के लिए वायुसेना की ली जा रही मदद

405
SHARE

देश के अनेक राज्यों में ऑक्सीजन की भारी किल्लत को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खुद मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने ऑक्सीजन की उपलब्धता, परिवहन, वितरण और आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए समीक्षा बैठक की और जरूरी निर्देश दिए। इसके बाद पूरा सरकारी तंत्र एक्शन में आ चुका है। सरकार ने ‘ऑपरेशन अक्सीजन’ की शुरुआत की है। इसके लिए रेलवे के बाद वायुसेना को भी मोर्चा पर लगाया गया है। वायुसेना अब ऑक्सीजन कंटेनर्स को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने में जुट गई है।

भारतीय वायुसेना के दो C17 विमानों ने दो बड़े ऑक्सीजन कंटेनर्स, IL 76 ने एक खाली कंटेनर को बंगाल के पन्नागढ़ पहुंचाया। इन तीनों कंटेनर्स को ऑक्सीजन से भरकर दिल्ली लाया जा रहा है। वायुसेना की ओर से ऑक्सीजन की सप्लाई को पूरा करने के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों में इस तरह का ऑपरेशन चलाया जाएगा।

इतना ही नहीं, अब 23 मोबाइल ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स को जर्मनी से एयरलिफ्ट कर भारत लाया जा रहा है। ताकि अस्पतालों के पास इन्हें लगाया जा सके और ऑक्सीजन की सप्लाई को सुचारू रूप से चालू रखा जाए। वहीं से सेना के कोविड हॉस्पिटल्स में ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी।

मंगलवार को ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना को जरूरी मेडिकल उपकरण खरीदने की इजाजत दी थी। जर्मनी से इन प्लांट्स के अलावा सेना अब बड़ी तादाद में ऑक्सीजन-कंसन्ट्रेटर भी खरीद रही है ताकि मिलिट्री हॉस्पिटल्स में ऑक्सीजन सप्लाई लगातार जारी रहे।

इससे पहले वायुसेना ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लेह में कोविड टेस्टिंग सेटअप को पहुंचाया, ताकि टेस्टिंग की प्रक्रिया में किसी तरह की रुकावट ना आए। गौरतलब है कि देश के कई राज्यों के अस्पताल इस वक्त ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहे हैं।

देश के अलग-अलग राज्यों में ऑक्सीजन का संकट है। झारखंड के बोकारो से ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए आपूर्ति को तेज गति दी जा रही है। बोकारो से शुक्रवार को लखनऊ के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस रवाना हुई, इसमें कुल तीन टैंकर भेजे गए।

केंद्र सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी नहीं है, लेकिन सप्लाई में काफी दिक्कत आ रही हैं। कई जगह ऑक्सीजन सड़क के रास्ते से पहुंच रहा है, इसलिए उसमें वक्त लग रहा है। यही कारण है कि दिल्ली, महाराष्ट्र, यूपी, मध्य प्रदेश, कर्नाटक समेत दर्जनों राज्यों में इस वक्त ऑक्सीजन को लेकर मारामारी चल रही है।

 

 

Leave a Reply