Home समाचार विश्व मंच पर बढ़ता जा रहा प्रधानमंत्री मोदी का दबदबा

विश्व मंच पर बढ़ता जा रहा प्रधानमंत्री मोदी का दबदबा

482
SHARE

देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम का डंका सारी दुनिया में बज रहा है। ग्लोबल लीडर के तौर पर दुनिया के बड़े मंचों पर प्रधानमंत्री मोदी की धाक बढ़ती जा रही है। दुनिया में आतंक के बढ़ते प्रभाव और अफगानिस्तान में तालिबान के उदय के बीच अब दुनिया की निगाहें देश के प्रधानमंत्री मोदी पर आ टिकी हैं। आतंक से निजात दिलाने के लिए विश्व प्रधानमंत्री मोदी के कड़े और बड़े फैसलों की ओर आशा भरी निगाहों से देख रहा है।

अफगानिस्तान में तालिबान राज और दुनिया पर मंडराते आतंक के खतरे के बीच, अब ताकतवर देश प्रधानमंत्री मोदी की ओर आशा भरी निगाहों से देख रहे हैं, क्योंकि उन्हें इस बात का एहसास हो चुका है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ही आतंक को कड़ी टक्कर दे सकता है। धरती से आतंक का नामोनिशान मिटा सकता है। इससे आने वाले दिनों में पीएम मोदी की धाक दुनिया के मंच पर और मजबूत होने वाली है

प्रधानमंत्री मोदी इसी महीने अमेरिका का दौरा कर सकते हैं। इस दौरान वे यूएन महासभा को संबोधित करेंगे, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ भी उनकी मुलाकात होनी है, अमेरिका में क्वाड देशों का शिखर सम्मेलन 24 सितंबर को होने की उम्मीद है, इसमें प्रधानमंत्री मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा के साथ मंच साझा करने वाले हैं।

अफगानितान में तालिबान राज के बाद दुनिया के बड़े देशों के राजनयिकों और सुरक्षा एजेंसियों के प्रमुखों का भारत दौरा विश्व मंच पर पीएम मोदी की बढ़ती धाक का गवाह है। सऊदी अरब जैसे देश भी अफगानिस्तान संकट के हल के लिए भारत की ओर देख रहे हैं, इसी हफ्ते सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान अल सऊद भारत के दौरे पर आने वाले हैं, प्रधानमंत्री मोदी के साथ भी उनकी मुलाकात हो सकती है। सऊदी अरब तालिबान के साथ, दुनिया भर के जिहादी संगठनों के संबंधों को लेकर टेंशन में है।

4 जून को प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत और ऑस्ट्रेलिया की बीच वर्चुअल शिखर सम्मेलन का आयोजन हुआ था, जिसमें दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को बढ़ाने पर फैसला हुआ था, इसी कड़ी में पिछले हफ्ते भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2+2 वार्ता का आयोजन हुआ, इसके लिए ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री पीटर ड्यूटन और विदेश मंत्री मैरीसे पायने ने भारत का दौरा किया। दोनों देशों के नेताओं ने पीएम मोदी से मुलाकात कर आतंक सहित आपसी हितों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की।

तालिबान और आतंक के मसले पर प्रधानमंत्री मोदी की सटीक रणनीति ने अमेरिका और रूस को भी एक जमीन पर ला खड़ा किया, तालिबान पर नकेल कसने के लिए अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA के प्रमुख विलियम बर्न्स और रूसी सुरक्षा परिषद के प्रमुख निकोलाई पत्रूशेव को एक साथ नई दिल्ली बुला लिया गया, इससे तालिबान के मददगार देशों चीन और पाकिस्तान में खलबली मच गई।

टाइम मैगजीन ने भी अपनी सलाना लिस्ट में प्रधानमंत्री मोदी को भारत के तीन प्रमुख नेताओं में से एक बताया है। टाइम मैगजीन ने पीएम मोदी के कार्यकाल में देश में किए गए कामों की दिल खोल कर तारीफ करते हुए लिखा है कि जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी और मोदी। नरेन्द्र मोदी तीसरे नेता हैं जो देश की राजनीति में प्रभावी हैं। टाइम मैगजीन अब तक पांच बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में शामिल कर चुका है, इसके पहले प्रधान मंत्री मोदी साल 2020, 2017, 2015 और 2014 में भी लिस्ट में जगह बना चुके हैं।

Leave a Reply