Home समाचार बर्थ डे स्पेशल : राष्ट्र सेवा और गरीब कल्याण की मिसाल बना...

बर्थ डे स्पेशल : राष्ट्र सेवा और गरीब कल्याण की मिसाल बना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जीवन

456
SHARE

भारत के राष्ट्रऋषि और न्यू इंडिया के ‘विश्वकर्मा’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज, 17 सितंबर को 71वां जन्मदिन है। भारत के इस पावन धरती पर अनेक महान विभूतियों ने जन्म लिया और अपने खून पसीने और कर्मठता से देश को महान बनाने में योगदान दिया। लेकिन राष्ट्र को नई ऊंचाईयों पर ले जाने में पीएम मोदी का योगदान अप्रतिम है। एक गरीब घर में पैदा होने के बावजूद उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और राष्ट्र को आगे बढ़ाने में अपने जीवन के एक एक पल को न्यौछावर कर दिया। आज पीएम मोदी के कारण पूरे विश्व में भारत का नाम सम्मान से लिया जाता है। गरीबी, आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन, महिलाओं का सम्मान समेत तमाम वैश्विक समस्याओं के समाधान के लिए आज पूरा विश्व पीएम मोदी की तरफ देख रहा है और यही कारण है कि अमेरिका, रूस, सऊदी अरब, साउथ कोरिया, अफगानिस्तान समेत विश्व के कई देश अपने सर्वोच्च सम्मान से पीएम मोदी को सम्मानित कर चुके हैं। अगर ये कहें कि पीएम मोदी मिट्टी को सोने में बदल देने वाले शख्सियत हैं तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।

पीएम मोदी के जीवन की कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • पीएम नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वडनगर में दामोदार दास मोदी व हीराबेन के यहां हुआ था।
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पिता दोमादार दास मोद की वडननगर रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी।
  • 1965 में भारत-पाक युद्ध के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी स्टेशन से गुजर रहे सैनिकों को चाय पिलाई थी।
  • पीएम नरेन्द्र मोदी बचपन में स्कूल में एक्टिंग व वाद-विवाद भाग लेते थे और एनसीसी के सदस्य थे।
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बचपन में साधु-संतों से प्रभावित हुए। वे बचपन से ही संन्यासी बनना चाहते थे।
  • 1958 में दीपावली के दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाल स्वयंसेवक के रूप में शपथ ली थी।
  • प्रचारक के दौरान मोदी को स्कूटर चलाना नहीं आता था। शंकरसिंह वाघेला उन्हें स्कूटर पर घुमाया करते थे।
  • नरेन्द्र मोदी संघ में कुर्ते की बांह छोटी करवा लीं, ताकि वह ज्यादा खराब न हो, जो अब मोदी ब्रांड बन गया।
  • नरेन्द्र मोदी 1975 में इमरजेंसी के दौरान सरदार का रूप धरकर ढाई सालों तक पुलिस को छकाते रहे।
  • पीएम नरेन्द्र मोदी ने अमेरिका में मैनेजमेंट और पब्लिक रिलेशन से संबंधित तीन महीने का कोर्स किया है।
  • पीएम नरेन्द्र मोदी समय के बड़े पाबंद हैं और सिर्फ चार घंटे की नींद लेते हैं और सुबह जल्द उठ जाते हैं।
  • 1990 के दशक में पीएम मोदी ने आडवाणी की सोमनाथ से अयोध्या रथ यात्रा में बड़ी भूमिका निभाई थी।

जानिए, 2014 से 2020 तक अपने जन्मदिन के मौके पर पीएम मोदी ने क्या किया?

2020
-कोरोना महामारी की वजह से अपना जन्मदिन बड़ी सादगी से मनाया
-प्रधानमंत्री आवास में ही रहकर लोगों की शुभकामनाएं स्वीकार की
-लोगों ने उनसे पूछा कि उन्हें अपने जन्मदिन पर क्या चाहिए ?
-पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोगों से मास्क पहनते रहने की अपील की
-सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करने, दो गज की दूरी रखने की सलाह दी
-महालया और विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं

2019
-जन्मदिन के मौके पर अपनी मां का आशीर्वाद लेने गांधीनगर पहुंचे
-गुजरात के केवडिया में ‘नमामि नर्मदा’ समारोह में शामिल हुए
-गुजरात के गरुदेश्वर स्थित दत्त मंदिर में पूजा अर्चना की
-केवड़िया स्थित रिवर राफ्टिंग खेल सुविधा और जंगल सफारी में चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया
-गुजरात के केवड़िया में कैक्टस गार्डन का मुआयना किया और जनसभा को संबोधित किया

2018
-अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा किया
-काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की
-नरुर गांव के प्राथमिक विद्यालय के बच्चों से मुलाकात की
-डीएलडब्ल्यू परिसर में काशी विद्यापीठ के छात्रों से मुलाकात की

2017
-जन्मदिन पर मां हीराबेन से आशीर्वाद लेने गांधीनगर पहुंचे
-सरदार सरोवर बांध का उद्घाटन किया
-सरदार पटेल की मूर्ति के निर्माण स्थल का दौरा
-गुजरात के अमरेली में सहकार सम्मेलन को संबोधित किया

2016
-जन्मदिन पर गांधीनगर पहुंचकर मां हीराबेन से आशीर्वाद लिया
-गुजरात के नवसारी में विभिन्न योजनाओं का शुभारंभ करने के बाद और लोगों को संबोधित किया। 
-नवसारी में पीएम मोदी को 67 फीट लंबी फूलों की माला भेंट दी गई

2015
-नई दिल्ली में राजपथ पर 1965 के युद्ध की स्मृति में आयोजित प्रदर्शनी ‘शौर्यांजलि’ में भाग लिया, शौर्यांजलि प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
-मैल्कम टर्नबुल को ऑस्ट्रेलिया का प्रधानमंत्री बनने पर टेलीफोन कर बधाई दी

2014
– जन्मदिन पर अपनी मां हीराबेन से आशीर्वाद लेने गांधीनगर पहुंचे
-चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की मौजूदगी में अहमदाबाद में तीन एमओयू पर हस्‍ताक्षर हुए
-चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के साथ साबरमती आश्रम देखने गए
-चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग और उनकी पत्नी पेंग लियुआन के साथ साबरमती रिवरफ्रंट देखने गए
-गुजरात सरकार की नवीन गरीब हितकारी पहल-स्वावलंबन अभियान का शुभारंभ किया 

 

Leave a Reply