Home समाचार बरखा, स्वाति, सागरिका, राजदीप जैसे प्रोपेगेंडा पक्षकारों ने राष्ट्रपति को भी नहीं...

बरखा, स्वाति, सागरिका, राजदीप जैसे प्रोपेगेंडा पक्षकारों ने राष्ट्रपति को भी नहीं छोड़ा…

1060
SHARE

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर राष्ट्रपति भवन में उनकी एक तस्वीर का अनावरण किया। तस्वीर का अनावरण होने के बाद राजदीप सरदेसाई, सागरिका घोष, बरखा दत्त, स्वाति चतुर्वेदी जैसे प्रोपेगेंडा पक्षकारों ने यह फैलाना शुरू कर दिया कि जिस तस्वीर का अनावरण किया गया है वह सुभाष चंद्र बोस की नहीं बल्कि एक्टर प्रसनजीत चटर्जी की है। राजदीप सरदेसाई की पत्नी सागरिका घोष ने तो तस्वीर हटाने की बात करते हुए लिखा कि माननीय राष्ट्रपति सर, कृपया इस तस्वीर को रिप्लेस करें। हम राष्ट्रपति भवन की पवित्र दीवारों पर फर्जी नेताजी नहीं देख सकते हैं।

सोशल मीडिया पर प्रोपेगेंडा पक्षकारों के इस तरह के दावे से लोग सकते में आ गए। इस पर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर तीन फोटो शेयर करते हुए लिखा कि बरखा दत्त और उनकी गैंग का शर्मनाक फर्जी प्रोपेगेंडा। पहली तस्वीर नेताजी की असली तस्वीर है। दूसरा उनका राष्ट्रपति भवन में स्केच है। तीसरी तस्वीर प्रसनजीत चटर्जी की है। कपिल मिश्रा ने लिखा कि बरखा दत्त कहती हैं कि दूसरी तस्वीर तीसरी जैसी है लेकिन पहली जैसी नहीं है।

इस अभियान से आहत नेताजी के पोते चंद्र कुमार बोस ने ट्विटर पर अपने दादाजी की तस्वीर शेयर कर प्रोपेगेंडा पक्षकारों को तगड़ी लताड़ लगाई। उन्होंने साफ कहा कि अनावरण किए गए तस्वीर को पद्मश्री से सम्मानित परेश मैती ने नेताजी की असली तस्वीर को देखकर बनाई है। नए पोर्ट्रेट पर परेश मैती के हस्ताक्षर भी हैं।

फिर क्या था… सोशल मीडिया पर यूजर्स इन पक्षकारों को ट्रोल करने लगे…जिसके बाद ज्यादातर पक्षकारों ने अपने ट्वीट हटा दिए हैं…

Leave a Reply