Home समाचार राजस्थान में एक ही परिवार की चार महिलाओं के साथ दरिंदगी, क्या...

राजस्थान में एक ही परिवार की चार महिलाओं के साथ दरिंदगी, क्या पीड़िताओं से मिलने दौसा जाएंगे राहुल और प्रियंका ?

222
SHARE

कांग्रेस शासित राजस्थान, पंजाब और महाराष्ट्र में कानून-व्यवस्था की क्या हालत है, वो किसी से छिपा हुआ नहीं है। राजस्थान के दौसा में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी है। एक ही परिवार की चार गरीब महिलाओं के साथ दरिंदगी की वारदात को अंजाम दिया गया है। ऐसे में कांग्रेस शासित राज्यों में महिला सुरक्षा को लेकर गंभीर सवाल उठ रहे हैं। 

दरअसल दौसा में एक दरिंदे पर चार महिलाओं के साथ रेप करने के मामले दर्ज हुए हैं। आरोपी ने महिलाओं की गरीबी का फायदा उठाकर हैवानियत का डाका डाला और एक के बाद एक चार महिलाओं को अपने जाल में फंसा कर दुष्कर्म किया। ये चारों महिलाएं एक ही परिवार से ताल्लुक रखती हैं। इनमें तीन सगी बहनें और एक बेटी शामिल हैं। 

आरोपी विष्णु गुर्जर थाना मेबंद क्षेत्र में एक ढाबा चलाता है, इसी ढाबे पर महिलाएं काम करती थीं। एक महिला के साथ पिछले एक साल से दुष्कर्म के घिनौने कृत्य को अंजाम दे रहा था, लेकिन जब महिला को पता चला कि आरोपी अब उसकी छोटी बहनों और बेटी पर भी गलत नजर डाल रहा है तो उसने दौसा महिला थाने में केस दर्ज करा दिया। 22 जनवरी को महिला द्वारा मुकदमा दर्ज कराने के बाद उसकी दो छोटी बहन ने और बेटी ने भी अपनी दबी हुई आवाज खोली और दुष्कर्म की बात को बयान कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस पूछताछ के दौरान पीड़ित महिलाओं ने बताया कि पहले उन्हें एक-दूसरे के बारे में जानकारी नहीं थी। जब पहली महिला ने केस दर्ज कराया तो सबको उसके बारे में पता चला। ऐसे में बाकी पीड़िताओं ने भी हिम्मत दिखाई और अपने साथ हुए अत्याचार की दास्तां सुना दी। अब इस रेप सीरीज के मामले में महिला थाने में चार मुकदमा दर्ज हो चुके हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अब सवाल उठता है कि क्या कांग्रेस राज में इन गरीब महिलाओं को इंसाफ मिलेगा ? कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को विदेशों के दौरे से फुर्सत नहीं है, वहीं कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ट्विटरबाजी में व्यस्त है। ऐसे में महिलाओं का दुख-दर्द जानने और उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी इन पीड़िताओं से मुलाकात करेंगे ? उन्हें भी हाथरस की तरह आर्थिक सहायता देंगे ?

Leave a Reply