Home समाचार त्योहारी मौसम में बम-बम रियल स्टेट बाजार: मोदी सरकार के सफल वैक्सीनेशन...

त्योहारी मौसम में बम-बम रियल स्टेट बाजार: मोदी सरकार के सफल वैक्सीनेशन कार्यक्रम से बढ़ी घरों की खरीददारी

312
SHARE

मोदी सरकार की कोशिशों से रियल स्टेट सेक्टर में लौटी जान

देश का रियल स्टेट बाजार तेजी से पटरी पर लौट रहा है। कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उठाए गए कदमों से देश मं नौकरियों के मौके बढ़े हैं साथ ही कारोबार जगत भी तेजी से पटरी पर लौट रहा है। यही वजह है कि त्योहारी सीजन में मेट्रो शहरों खास कर मुंबई, कोलकाता और दिल्ली-NCR में घरों की मांग तेजी से बढ़ी है।

• अक्तूबर के पहले हफ्ते में मुंबई में हर रोज 4052 घर बिके
• मुंबई में नवरात्र के 9 दिनों में हर रोज 400 घर बिके हैं
• जुलाई से सितंबर में कोलकाता में 15 हजार घर बिके
• त्योहारी सीजन में NCR में 16 हजार घर बिकने की उम्मीद

मुंबई के प्रॉपर्टी बाजार में भी जोरदार तेजी

नवरात्रों के दौरान मुंबई का प्रॉपर्टी बाजार बूम पर रहा, इस दौरान लोगों ने धड़ाधड़ घरों की खरीददारी की। त्योहारी मौसम में बिल्डरों ने जो आकर्षक प्लान बाजार में उतारे थे। उसका लोगों ने पूरा फायदा उठाया। होम लोन की कम ब्याज दरों का भी लोगों ने भरपूर फायदा लिया। इसका असर मुंबई के प्रॉपर्टी बाजार पर तेजी के तौर पर देखने को मिला। अगस्त और सितंबर में मुंबई में रोजाना रजिस्ट्रेशन की दर 219 और 260 घरों की थी।

इंडस्ट्री रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 5 साल से त्योहारी मौसम में प्रॉपर्टी बाजार सुस्त था, लेकिन इस बार लोगों में खुद का आशियाना खरीदने को लेकर जोरदार उत्साह दिखा है। ऐसे में जानकारों का मानना है कि आने वाले दिनों में प्रॉपर्टी बाजार और तेज हो सकता है। दरअसल घर खरीददार सस्ती प्रॉपर्टी का भरपूर फायदा उठा रहे हैं।

• अक्टूबर में अगस्त के मुकाबले ज्यादा रजिस्ट्रेशन
• हर रोज 17 फीसदी अधिक रजिस्ट्रेशन
• अक्टूबर के पहले दो हफ्ते में मुंबई में कुल 4,052 प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन
• कोलकाता और दिल्ली-NCR में भी रियल इस्टेट के बाजार में तेजी
• 2021 के पहले 9 महीने में कोलकाता में 35,149 घर बिके
• 2020 की इसी अवधि में बिके घरों की तुलना में यह 102% ज्यादा

जानकारों का दिसंबर तक रियल स्टेट में तेजी का अनुमान

इंडस्ट्री रिपोर्ट के अनुसार, NCR में त्योहारी सीजन के तीन महीने में 16 हजार नए घरों की बिक्री होगी। यह 2020 की तुलना में 50% ज्यादा रहेगा। बताया जा रहा है कि कोमर्सियल के मुकाबले रेसीडेंसियल प्रॉपर्टी की मांग देश में जोर पकड़ रही है और बाजार पर उपलब्ध सस्ते घरों की ओर लोगों का रूझान तेजी से बढ़ रहा है। दरअसल त्योहारों के मौसम में घर खरीदना जीवन में सौभाग्य और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है, इसलिए, लोग साल के इस समय की प्रतीक्षा करते हैं। नवरात्रों और त्योहारों के मौसम में हमेशा घरों की खरीददारी में तेजी आती है। लेकिन इस साल बीते वर्षों के मुकाबले हालात काफी अच्छे हैं ।

इंडस्ट्री रिपोर्ट के अनुसार एनसीआर बाजार में 2021 में 50 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की उम्मीद है । घरो की खरीद को लेकर तेजी से बढ़ते रूझान के लिए मोदी सरकार के सफल वैक्सीनेशन कार्यक्रम को भी बड़ी वजह बताया जा रहा है ।

7 शहरों में मकानों की बिक्री में 113 फीसदी का इजाफा

कई जानकारों का अनुमान है कि दीवाली से पहले रियल स्टेट सेक्टर में बूम आ सकता है, 7 शहरों में मकानों की बिक्री में आए113 फीसदी के इजाफे से साफ संकेत मिल रहे हैं, घरों की खरीद के लिए लोगों का रूझान तेजी से बढ़ रहा है। और आने वाले वक्त में घरों की बिक्री की रफ्तार और तेज पकड़ सकती है।

7 शहरों में घरों की बिक्री पर एनारॉक की रिपोर्ट 

• साल 2020 की तीसरी तिमाही में घरों की बिक्री 29,520 यूनिट्स
• साल 2021 की तीसरी तिमाही में घरों की बिक्री 62,800 यूनिट्स
• घरों की बिक्री में साल दर साल 113 फीसदी का इजाफा

देश में फेस्टिवल सीजन में रियल एस्टेट सेक्टर नई ऊंचाइयां छू रहा है। इस सेक्टर के कई दिग्गजों का अनुमान है कि अक्टूबर से लेकर दिसंबर तक का समय उनके लिए बेहद अहम है, सबसे बड़ी राहत की बात कोरोना के मोर्चे पर भी है। बिल्डर और डेवलपर्स को उम्मीद है कि इससे घरों की खरीद को लेकर लोगों में रूची बढ़ेगी।

प्रॉपर्टी कंसल्टेंट एनारॉक की रिपोर्ट से साफ हुआ है कि दिल्ली और मुंबई में घरों की खरीद में तेज इजाफा हुआ है।

दिल्ली-मुंबई जैसे बड़े शहरों में तेज हुई घरों की बिक्री

देश के सात शहरों में घरों की मांग ही नहीं बढ़ रही, उनकी कीमतों में भी हल्का इजाफा हुआ है, इनपुट कॉस्ट में तेजी की वजह से घरों की कीमतें बढ़ी हैं। देश के टॉप 7 शहरों में घरों की कीमतों में 3 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है। लेकिन बैंकों ने होम लोन के नियम आसान किए हैं। लोगों को कम ब्याज दरों पर बैंकों से लोन मिल रहा है, इससे युवा घरों की खरीददारी के लिए आगे आ रहे हैं।

आईटी सहित कई सेक्टरों में नौकरियों के ज्यादा मौकों की वजह से ही घरों की मांग तेजी से बढ़ी है। घरों के डिमांड में इजाफे से बिल्डरों का भी कोरोबार पर भरोसा लौट रहा है, इससे धड़ाधड़ नए प्रोजेक्ट्स लॉच हो रहे हैं। देश के ट़ॉप 7 शहरों में नए आवासीय प्रोजेक्‍ट की लांचिंग में भी पिछले साल के मुकाबले तेजी आई है।

देश भर में तेज हुई नए प्रोजेक्टस की लांचिंग

• 2021 की पहली तिमाही में 2020 के मुकाबले 98 फीसदी उछाल
• पिछले साल की तीसरी त‍िमाही में 32,530 यूनिट्स बाजार में आए
• इस साल ही तीसरी त‍िमाही में ये बढ़कर 64,560 यूनिट्स हो गए
• मुंबई में सबसे अधिक संख्या में करीब 16,510 यूनिट्स लॉच हुए
• हैदराबाद में नए लॉच यूनिट्स की संख्‍या 14,690 रही

देश भर में घरों की बिक्री के आंकड़े अनुमान से भी बेहतर रहे हैं। इससे साफ पता चलता है कि लोगों में खुद के आशियाने को लेकर दिलचस्पी बढ़ी है। 

2021 में घरों की बिक्री में अनुमान से बेहतर नतीजे

• एनारॉक ने 7 शहरों में सालाना 30 फीसदी उछाल का अनुमान लगाया था
• देश भर में 1,79,527 घरों की बिक्री का अनुमान लगाया था।
• पिछले साल 2020 में 1,38,344 घरों की बिक्री हुई थी।
• कोरोना से पहले वर्ष 2019 में 7 प्रमुख शहरों में 2,61,358 घर बिके थे।

2020 की तीसरी तिमाही के मुकाबले, इस साल की तीसरी तिमाही में जिन शहरों में घरों की बिक्री तेज हुई उनमें हैदराबाद, मुंबई, पुणे, चेन्नई और कोलकाता शामिल हैं।

शहर    यूनिट्स    इजाफा (%)
हैदराबाद  6,735  300
मुंबई (MMR) 20,965 128
 पुणे 9,705    100
 NCR    10,220  97
बेंगलुरू  8,550 58
कोलकाता      3,220  100

 

देश में रियल स्टेट सेक्टर में आने वाले वक्बत में बड़े निवेश का दावा किया जा रहा है। मोदी सरकार की कोशिशों से रियल स्टेट सेक्टर में बड़ा निवेश आने की उम्मीद है।  नाइट फ्रैंक ने दावा किया है कि भारत में वर्ष 2022 में रियल एस्टेट में 2.5 अरब डॉलर निवेश आएगा। अमेरिका, यूके, जर्मनी, फ्रांस, नीदरलैंड्स जैसे देशों से सबसे ज्यादा निवेश आने का अनुमान है ।

Leave a Reply