Home समाचार वुहान बनने की राह पर दिल्ली!, हर घंटे 14 लोग हो रहे...

वुहान बनने की राह पर दिल्ली!, हर घंटे 14 लोग हो रहे हैं कोरोना से संक्रमित

1920
SHARE

दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होने से चिंताएं बढ़ने लगी है। 6 मई तक के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में कुल कोरोना मरीजों की संख्या 5,532 पहुंच गई है जबकि 65 लोगों की जान जा चुकी है। दिल्ली में बुधवार को कोरोना (Covid-19) के 428 नए मामले सामने आए। दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होने से ये आशंका जाहिर की जाने लगी है कि दिल्ली वुहान बनने की राह पर अग्रसर है। इसके पीछे तर्क ये हैं कि पिछले एक सप्ताह के दौरान मरीजों की संख्य़ा में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

दिल्ली में कोरोना की रफ्तार तेज गति से बढ़ी है। सिर्फ छह दिनों में ही दिल्ली में कोरोना के 2016 नए केस सामने आए हैं, जो कुल मामलों के लगभग 40 पर्सेंट के करीब है।

01 मई- 223 केस
02 मई -384 केस
03 मई – 427 केस
04 मई -349 केस
05 मई-206 केस
06 मई–428 केस

इसका मतलब ये है कि पिछले 6 दिनों के दौरान दिल्ली में प्रतिदिन 336 लोग कोरोना से संक्रमित हुए, यानि दिल्ली में प्रति घंटे 14 लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं।

तबलीगियों को छोड़ने का आदेश

लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल न कर अरविंद केजरीवाल तुष्टिकरण की नीति पर चल रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली सरकार ने 4 हजार तबलीगी जमात सदस्यों को छुट्टी देने का आदेश दिया जो राजधानी के विभिन्न केंद्रों में क्वारेंटाइन किए गए हैं। इनमें से करीब 900 दिल्ली के ही हैं और बाकी अन्य राज्यों से हैं तथा उन्हें उनके गृह राज्यों में भेजा जाएगा। इनमें से अधिकतर तमिलनाडु और तेलंगाना के हैं। 

केजरीवाल लगातार कर रहे हैं झूठे दावे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार झूठे दावे कर रहे हैं।केरजरीवाल ने पहले झूठ बोला कि प्लाज्मा थेरेपी से लोग ठीक हो रहे हैं लेकिन ICMR ने उनकी बातों का खंडन किया। इसके बाद अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में राशन वितरण को लेकर झूठ बोलकर कर दावा किया कि दिल्ली की आधी आबादी को फ्री में राशन दे रहे हैं, लेकिन केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने उनके दावों की पोल खोलते हुए कहा कि अप्रैल महीने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अनाज योजना के तहत दिल्ली को 36,367 टन अनाज आवंटित किए गए लेकिन केजरीवाल सरकार 1 फीसदी से भी कम, 12,600 लाभार्थियों को 63 टन अनाज का वितरण किया है।

 

 

Leave a Reply