Home समाचार कांग्रेसी सांसद का दावा, किसान आंदोलन को खालिस्तानियों ने किया हाइजैक, खालिस्तानी...

कांग्रेसी सांसद का दावा, किसान आंदोलन को खालिस्तानियों ने किया हाइजैक, खालिस्तानी झंडा फहराने के लिए 1.8 करोड़ रुपये का ऑफर

969
SHARE

मोदी सरकार और मीडिया पर किसान आंदोलन को बदनाम करने का आरोप लगाने वालों को पंजाब के लुधियाना से कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू की बात सुननी चाहिए। बिट्टू ने दावा किया है कि किसान आंदोलन में खालिस्तानी झंडों के साथ उपद्रवी तत्व मौजूद हैं और उनका आंदोलन पर कब्जा हो चुका है। किसान आंदोलन स्थल पर खालिस्तानी झंडा लहराने के लिए करोड़ों रुपये ऑफर किए गए हैं।

सांसद बिट्टू ने कहा, ‘हम किसान नेताओं की बैठक में भाग लेने गए थे। पहुंचने पर हम पर घात लगाए बैठे हुए लोगों ने हमला कर दिया। वे लाठी और अन्य हथियारों से लैस थे। हम अब कोई कदम नहीं उठाने जा रहे हैं क्योंकि किसानों का आंदोलन अभी भी जारी हैं। मैं पहले से कह रहा हूं। वहां शरारती तत्व खालिस्तानी झंडे ले जाने वाले लोग हैं। लेकिन किसान नेता इतनी संख्या में लोगों की पहचान कैसे कर सकते हैं। झंडे लहराने के लिए ऐसे तत्वों को 1 करोड़ 80 लाख रुपये दिए गए हैं और मैं वैसे भी टारगेट में हूं।’

बिट्टू ने कहा, ‘आप झंडे उठाकर खालिस्तान के नारे लगाओ, फिर भी हम भागने वाले नहीं है। पहले भी शहादत दी है, हम पर बड़ी प्लानिंग के तहत हमला किया गया है, मारने की प्लानिंग थी। हम लोगों पर कातिलाना हमला किया गया है, हमारी पगड़ी पर हमला किया गया।’

कांग्रेस सांसद बिट्टू को उस समय मुश्किलों का सामना करना पड़ा जब वो किसान आंदोलन में अपना समर्थन देने के लिए सिंघू बॉर्डर पहुंचे। उन पर एक कार्यक्रम के दौरान हमला किया गया। उनके साथ धक्का-मुक्की की गई और उनकी पगड़ी खींची गई। उन्होंने आरोप लगाया कि शरारती तत्वों ने यह जानलेवा हमला किया है।

लेकिन हैरानी की बात है कि जब यही बात सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कही थी, तो कांग्रेस पार्टी ने दावा किया था कि सरकार किसानों का अपमान कर रही है। जब उसके सांसद ने ही दावा किया है, तो कांग्रेस खुद को किनारा करती नजर आ रही है। किसान नाराज नहीं हो, इस लिए कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि किसान अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। ये लोग हमारे अपने हैं। हम अपने किसानों के साथ मजबूती से खड़े हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले सांसद बिट्टू ने हिंसा की धमकी देकर एक बड़ा विवाद खड़ा कर दिया था। उन्होंने कहा था, ”वे (सरकार) सोचते हैं कि हम कुछ समय बाद थक जाएंगे और अपने धरने को छोड़ देंगे। लेकिन नहीं! हम लाशों को ढेर लगा देंगे। हम अपना खून भी देंगे। हम इसके लिए कहीं भी, किसी भी हद तक जा सकते हैं।” बिट्टू पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते हैं।

 

Leave a Reply