Home समाचार देश के औद्योगिक उत्पादन में 29.3 प्रतिशत की जोरदार उछाल, खुदरा महंगाई...

देश के औद्योगिक उत्पादन में 29.3 प्रतिशत की जोरदार उछाल, खुदरा महंगाई दर में गिरावट से लोगों को मिली राहत

287
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश की अर्थव्यवस्था मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है। मोदी सरकार की नीतियों और प्रोत्साहन की वजह से कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बावजूद मई महीने में औद्योगिक सेक्टर ने बेहतर प्रदर्शन किया। सोमवार यानि 12 जुलाई, 2021 को जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक मई में देश के ओद्यौगिक उत्पादन (IIP) में 29.3 प्रतिशत बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसका मुख्य कारण निम्न तुलनात्मक आधार और विनिर्माण, खनन और बिजली क्षेत्रों का बेहतर प्रदर्शन है। राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (NSO) द्वारा जारी इंडैक्स ऑफ इंडस्ट्रीयल प्रोडक्शन (IIP) डेटा के मुताबिक, मई 2021 में विनिर्माण क्षेत्र के उत्पादन में 34.5 प्रतिशत, खनन के उत्पादन में 23.3 प्रतिशत और बिजली उत्पादन में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। गौरतलब है कि औद्योगिक उत्पादन में पिछले साल मार्च में 18.7 प्रतिशत की गिरावट आयी थी और अगस्त 2020 तक नकारात्मक दायरे में रहा था।

महंगाई के मोर्चे पर राहत

करीब डेढ़ साल के ज्यादा वक्त से कोरोना से जंग लड़ रही देश की जनता को महंगाई से थोड़ी राहत मिली है। खुदरा महंगाई दर में गिरावट देखने को मिली है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) द्वारा मापी गई खुदरा मुद्रास्फीति मई में 6.30 प्रतिशत पर थी, जो जून में घटकर 6.26 प्रतिशत हो गई। अंतरराष्ट्रीय बाजार में जून के दूसरे पखवाड़े से खाद्य तेल के दाम में नरमी आनी शुरू हुई है। मोदी सरकार ने भी शुल्क कम किया है और अगले कुछ महीनों के लिए कुछ खाद्य तेलों के आयात पर प्रतिबंध हटा दिया है। जिसका नतीजा है कि जून के मध्य से थोक और खुदरा दोनों बाजारों में खाद्य तेलों की कीमतों में नरमी आई है। सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक को 2 प्रतिशत की कमी-इजाफे के साथ खुदरा मुद्रास्फीति 4 प्रतिशत पर रखने की जिम्मेदारी दी हुई है।

 

Leave a Reply