Home समाचार ट्वीटर पर मिहिर झा ने आखिर रवीश कुमार से क्यों पूछा, इतना...

ट्वीटर पर मिहिर झा ने आखिर रवीश कुमार से क्यों पूछा, इतना दोगलापन कहां से लाते हो बे?

675
SHARE

नए कृषि कानून को लेकर पंजाब- हरियाणा के कुछ किसान दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। इन किसानों को भड़काने का काम कुछ राजनीतिक दल के साथ पक्षकार भी कर रहे हैं। कांग्रेस के करीबी पक्षकार भी आंदोलनकारी किसानों को हर तरह से बरगला रहे हैं। एनडीटीवी के पक्षकार रवीश कुमार भी उन्हीं में शामिल है। जो रविश कुमार साल 2015 में किसानों के लिए नए कृषि कानून बनाए जाने का वकालत करते थे, साल 2020 में कानून आने पर उसका विरोध करने लगे।

रवीश कुमार ने 29 अप्रैल, 2015 को अपने एक ब्लॉग ‘आढ़ती और बैंक के बीच फंसा हुआ है किसान, मंडी में बनाए जाते हैं ग़ुलाम’ में किसानों की परेशानियों का जिक्र किया था। लेकिन अब कांग्रेस के करीबी रवीश कुमार आंदोलन का समर्थन कर किसानों को भड़का रहे हैं। मोदी सरकार के पिछले छह साल में किसानों के कल्याण के लिए जितने काम किए हैं उतने पिछले 60 साल में नहीं हुए। लेकिन पांच साल पहले किसानों के लिए कानून की जरूरत बताने वाले रवीश कुमार अब कहते हैं कि ‘किसानों के सवाल बड़े हैं या 2000 रुपये का सम्मान बड़ा है’ इतना ही नहीं एक अन्य ब्लॉग में रवीश कहते हैं कि ‘किसान प्रतिज्ञा : यहीं डटे रहेंगे, यहीं बोएंगे, यहीं का खाएंगे…’ रवीश यह भी कहते हैं कि ‘सरकार के प्रस्ताव को ठुकराने वाले किसान क्या अंबानी-अडानी से लड़ पाएँगे ?’

एनडीटीवी के पक्षकार के इस दोहरे रवैये पर ट्वीटर पर मिहिर झा ने आखिर रवीश कुमार से क्यों पूछा, इतना दोगलापन कहां से लाते हो बे?

Leave a Reply