Home समाचार किसान आंदोलन का देश विरोधी एजेंडा: कृषि कानून रद्द होने के बाद...

किसान आंदोलन का देश विरोधी एजेंडा: कृषि कानून रद्द होने के बाद टिकैत ने की थी खालिस्तान समर्थकों के साथ जूम मीटिंग

4635
SHARE

किसान आंदोलन का एक और देश विरोधी एजेंडा सामने आया है। सोशल मीडिया पर वायरल खबर के मुताबिक कृषि कानून रद्द होने के बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने 22 नवंबर को खालिस्तान समर्थकों के साथ जूम मीटिंग की थी। सोशल मीडिया पर वायरल फोटो में राकेश टिकैत के साथ खालिस्तान समर्थक धालीवाल, पीटर फ्रैडरिक, डॉ अयाश खान, दलजीत कोर सोनी नजर आ रहे हैं। धालीवाल और पीटर फ्रैडरिक का नाम टूलकिट विवाद में भी प्रमुख रूप से सामने आया था। किसान आंदोलन पर शुरू से खालिस्तान समर्थन और देश विरोधी लोगों के शामिल होने का आरोप लगा था, ऐसे में जूम मीटिंग में खालिस्तान समर्थकों के साथ राकेश टिकैत की बैठक ने मामले को सुर्खियों में ला दिया है। सोशल मीडिया पर लोग इसी पर चर्चा कर रहे हैं।

Leave a Reply