Home समाचार पीएम मोदी ने दी गुरुपर्व की बधाई, कहा- आज गुरु महाराज के...

पीएम मोदी ने दी गुरुपर्व की बधाई, कहा- आज गुरु महाराज के सपने को पूरा करने के लिए खुद को समर्पित करने का दिन

150
SHARE

सिख धर्म के प्रथम गुरु श्री गुरुनानक देव जी महाराज के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों को बधाई दी है। पीएम मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि आज गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर मैं सभी देशवासियों को बधाई देता हूं। आज का दिन गुरु महाराज के न्यायापूर्ण, समावेशी और सामंजस्यपूर्ण समाज के सपने को पूरा करने के लिए खुद को समर्पित करने का दिन है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है।

पीएम मोदी ने इस ट्वीट के अलावा एक पंजाबी भाषा में भी ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी को प्रणाम करते हुए कहा है कि हम एक बार फिर से बाबा नानक के मार्ग, शिक्षाओं और सिद्धांतों का पालन करने का संकल्प लें।

इससे पहले 9 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया था और श्रद्धालुओं के जत्थे को पंजाब के गुरदासपुर जिला स्थित ऐतिहासिक नगर डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान में मौजूद तीर्थ स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए रवाना किया। श्रद्धालुओं के इस दल में शामिल पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी से भी पीएम मोदी ने मुलाकात की। इससे पहले, मोदी पंजाब के सुल्तानपुर लोधी शहर पहुंचकर बेर साहिब गुरुद्वारे में मत्था टेका और पाकिस्तान की सीमा से लगे डेरा बाबा नानक गुरुवारे में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए।

इस मौके पर पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा, ”गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश-उत्सव से पहले, इंटीग्रेटेड चेकपोस्ट, करतारपुर साहिब कॉरिडोर का खुलना, हम सभी के लिए दोहरी खुशी लेकर आया है। गुरु नानक देव जी, सिर्फ सिख पंथ की, भारत की ही धरोहर नहीं, बल्कि पूरी मानवता के लिए प्रेरणा पुंज हैं। मैं आप सभी को, देश और दुनिया में बसे सभी सिख भाई-बहनों को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के अवसर पर हार्दिक बधाई देता हूं।” उन्होंने आगे कहा, इस कॉरिडोर के बनने के बाद अब गुरुद्वारा दरबार साहब के दर्शन आसान हो जाएंगे। मैं पंजाब सरकार का, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का इस कॉरिडोर को तय समय में बनाने वाले हर श्रमिक साथी का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं।

बता दें कि गुरु नानक देव की जी जयंती को प्रकाश पर्व के तौर पर मनाया जाता है जो कि इस वर्ष 12 नवंबर को मनाया जा रहा है। गुरु नानक का जन्म कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा 1526 ई में हुआ था। यही वजह है प्रति वर्ष कार्तिक मास की पूर्णिमा को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। गुरु नानक देव जी केवल एक संत नहीं बल्कि, दार्शनिक, समाज सुधारक, चिंतक, कवि और देश प्रेमी भी थे।

कहा जाता है कि बचपन से ही नानक साहिब का दिल संसारिक कामों में नहीं लगता था। आठ वर्ष की आयु में ही उनका स्कूल भी छूट गया था। एक बालक के रूप में भगवान की तरफ अधिक लगाव होने से लोग इन्हें दिव्य पुरुष के रूप में मानने लगे थे। गुरु नानक देव जी के जन्मोत्सव, प्रकाश पर्व को मनाने वाले श्रद्धालु इस अवसर पर गुरुद्वारों समेत जगह -जगह लंगर का आयोजन करते हैं।

Leave a Reply