Home समाचार देश के छोटे शहरों के लिए पीएम मोदी की बड़ी योजना

देश के छोटे शहरों के लिए पीएम मोदी की बड़ी योजना

191
SHARE

नरेंद्र मोदी देश के ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो बड़े शहरों के साथ छोटे शहरों के विकास पर पूरा ध्यान देते हैं। तभी तो उन्होंने देश के 50 छोटे शहरों के लिए बड़ी योजना बनाई है। केंद्र सरकार ने कम भीड़ वाले देश के 50 शहरों में ‘मेट्रोलाइट’ ट्रेन चलाने की योजना बनाई है। पीएम मोदी चुनावी वादे को भूलने में नहीं बल्कि उसे पूरा करने में विश्वास करते हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने अपने संकल्प पत्र में 50 शहरों में मेट्रो के विस्तार का वादा किया था। अपने इसी वादे को पूरा करने के लिए केंद्रीय शहरी एवं आवास मंत्रालय ने ‘मेट्रोलाइट’ प्रणाली से संबंधित सारे मानक भी जारी कर दिए हैं। किसी भी क्षेत्र के विकास की धुरी वहां के यातायात पर टिकी होती है। 50 शहरों में मेट्रो ट्रेन की योजना से वहां के विकास में गति आएगी। देश का समग्र विकास ही पीएम मोदी का सबसे बड़ा उद्देश्य है।
खास बात है कि देश में इस समय चल रही मेट्रो ट्रेन की तुलना में इसकी लागत कम होगी। इसके अलावा यह मेट्रोलाइट ट्रेन फीडर प्रणाली के रूप में भी काम करेगी। वैसे तो यह योजना राज्य यातायात पर आधारित है इसलिए इसकी जिम्मेदारी राज्य सरकारों को लेनी चाहिए, लेकिन मोदी सरकार ने अपनी इस योजना के लिए भी राज्यों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने का फैसला किया है।

‘मेट्रोलाइट’ का रूट सड़क से अलग होगा
50 शहरों में मेट्रोलाइट ट्रेन चलाने की योजना सड़क यातायात को किसी भी रूप में प्रभावित नहीं करेगी। क्योंकि इसका रूट सड़क यातायात से बिल्कुल अलग होगा। मेट्रोलाइट की गति सड़क यातायात से भी प्रभावित नहीं होगी। वैसे तो इसे जमीन और खंभों दोनों पर चलाने की योजना है लेकिन खंभों पर चलाने की अनुमति तभी दी जाएगी जब जमीन पर चलाना मुश्किल हो।

एक बार में 300 यात्री कर सकेंगे सफर
इस मेट्रोलाइट ट्रेन में एक बार में 300 यात्रियों तक सफर कर सकेंगें। इस ट्रेन में तीन कोच होंगे जो स्टेनलेस स्टील या फिर एल्यूमिनियम के बने होंगे। इस ट्रेन के एक कोच की लंबाई 33 मीटर होगी। कहने का मतलब इस ट्रेन की टोटल लंबाई 99 मीटर होगी।

‘मेट्रोलाइट’ ट्रेन

  • यह ट्रेन देश के उन छोटे शहरों में चलाई जाएगी जहां यात्रियों की संख्या कम है
  • 3 कोच वाली इस ट्रेन की गति सीमा 25 किलोमीटर प्रति घंटा से ज्यादा नहीं होगी
  • सड़क यातायात को प्रभावित किए बगैर यह ट्रेन जमीन और खंभों पर चलाई जाएगी
  • एक-दूसरे से जुड़े तीन कोच वाली इस ट्रेन में 300 यात्री तक सफर कर सकेंगे
  • मेट्रो ट्रेन में होगी टिकट की व्यवस्था, बगैर टिकट यात्रा करने वालों पर लगेगा भारी जुर्माना

Leave a Reply