Home विचार बॉलीवुड में ड्रग्स के समर्थन में खान मार्केट गैंग उतरा

बॉलीवुड में ड्रग्स के समर्थन में खान मार्केट गैंग उतरा

1426
SHARE

सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने बॉलीबुड में फैले ड्रग्स के मकड़ जाल को खोल कर सामने ला दिया है और इसमें फंसे फिल्मी सितारों के नाम सामने आने पर खान मार्केट गैंग इन सितारों के बचाव में खड़ा हो गया है। वैसे तो, खान मार्केट गैंग कभी नहीं चाहता था कि सुशांत की मौत के मामले में रिया चक्रवर्ती से किसी भी तरह की पूछताछ हो।

रिया चक्रवर्ती को बचाने के लिए दिग्गज पत्रकार राजदीप सरदेसाई भी सामने आ गए थे, उन्होंने  28 अगस्त को रिया का तब इन्टरव्यू लिया था जब सीबीआई उससे एक दिन बाद पूछताछ करने वाली थी।
आज जब एनसीबी दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, रकुल प्रीत सिंह जैसे 25 से भी अधिक बॉलीबुड सितारों से ड्रग्स के गोरखधंधे के बारे में पूछताछ करने वाली है तो खान मार्केट गैंग के पत्रकार सदमें में हैं, उन्हें बचाने के लिए कुतर्क रच रहे हैं। देश में ही प्रकाशित होने वाली इंडिया टुडे पत्रिका ने  ताजा अंक में किसी विदेशी पत्रिका के विचार के समान लिखा है कि जब देश में ड्रग्स लेने का फैशन बढ़ रहा है और बॉलीबुड में ड्रग्स लेने वाले सितारों की संख्या बढ़ रही है तो क्यों नहीं ड्रग्स के सेवन को अपराध मुक्त बना दिया जाए?-

इंडिया टुडे ग्रुप के कंसल्टिंग-एडिटर राजदीप सरदेसाई ने NCB की पूरी छानबीन को राजनीति से प्रेरित घोषित कर दिया है, वह ठीक वैसा ही तर्क दे रहे हैं जैसा कि वह आधार संख्या, चीन के मामले, आयुष्मान भारत, स्वच्छता अभियान आदि के मामले में दिया करते रहे हैं कि यह सब राजनीति के लिए किया जा रहा है इससे देश को कोई फायदा नहीं होगा। ड्रग्स के मामले  भी ठीक वैसा ही तर्क देते हुए लिखा- कि सरकार को बचाने के लिए एनसीबी ने दीपिका पादुकोण को 25 सितंबर सम्मन भेजा है और उस दिन ही विपक्ष ने भारत बंद कर रखा है।

खान मार्केट गैंग की एक और पत्रकार हैं तवलीन सिंह, जिन्होंने पूरे मामले को ही निजता की सीमा का अतिक्रमण बना दिया है औऱ बॉलीबुड में ड्रग्स  छानबीन को महज एक सर्कस कह कर मजाक उड़ाया-इंडिया टुडे के एक और पत्रकार संजीव पालीवाल ने NCB की पूछताछ को स्त्री बनाम पुरुष का रंग दे दिया, और इसे पाखंड कह डाला-इंडिया टुडे में काम कर चुके और आजकल Youtube चैनल चलाने वाले अजीत अंजुम, खान मार्केट गैंग के अभी अभी नए सिपाही बन गए हैं, इन्होंने भी एनसीबी की पूरी छानबीन को मोदी समर्थक बनाम मोदी विरोधी बना दिया है-खान मार्केट गैंग के एक पुराने हैं- चावल विनोद कापड़ी, वह भी इस मामले में कैसे पीछे रहें? इस मामले को उन्होंने बदले की राजनीति का रंग देते हुए लिखा कि दीपिका पादुकोण जेएनयू गई थी इसलिए उनको ड्रग्स के मामले में फंसाया गया है
बरखा दत्त जो कभी एनडीटीवी में रहकर खान मार्केट गैंग के एजेंडे को बढ़ाती थीं, आजकल यही काम अपने Youtube चैनल के जरिए कर रही हैं। मुबंई के पूर्व पुलिस अधिकारी के साथ बातचीत करके बरखा ने यह तर्क पेश किया कि NCB ड्रग्स की जांच गंभीरता से नहीं कर रही है-इस पूरे मामले में बची हुई सारी कसर, खान मार्केट गैंग के एक और किरदार The Print ने जातिवाद का रंग देकर पूरा कर दिया। The Print ने लेख में लिखा कि सुशांत सिंह राजपूत औऱ कंगना रनौत राजपूत हैं और क्षत्रिय आधुनिकता को अपना नहीं सके हैं इसलिए वे राजनीति में और  बॉलीवुड में अपने वर्चस्व को स्थापित करने के लिए आक्रामक हो गए हैं।खान मार्केट गैंग, देश में हर मुद्दे पर जिस तरह से अपने कुतर्कों को गढ़कर सच्चाई पर पर्दा डालने का काम करता चला आ रहा है, वह पैटर्न जनता को समझ में आ चुका है। 

Leave a Reply