Home समाचार राजस्थान में कांग्रेस सेवादल के नेताओं पर भड़का अजमेर का हलवाई, आत्महत्या...

राजस्थान में कांग्रेस सेवादल के नेताओं पर भड़का अजमेर का हलवाई, आत्महत्या की दी चेतावनी, कहा- मोदी पर आरोप लगाते हैं, लेकिन दो साल से खाने के 36 लाख रुपये नहीं दे रहे कांग्रेसी

954
SHARE

बॉलीवुड फिल्म का एक गाना ‘बड़े मियां तो बड़े मियां,छोटे मियां सुभान अल्लाह’ बड़ा मशहूर है। यह गाना कांग्रेस और उसके नेताओं पर सटीक बैठता है। जहां पार्टी के आलाकमान और बड़े नेता बड़ा घोटाला कर जनता के पैसे पर डाका डालते थे, वहीं उनके नक्शेकदम पर चलते हुए राज्य स्तर के नेता आम लोगों को लूट रहे हैं। ऐसा ही मामला राजस्थान में सामने आया है, जहां गुरुवार (14 अक्टूबर, 2021) को सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई के कार्यक्रम में उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब एक व्यक्ति ने लालजी देसाई से सेवादल के राष्ट्रीय अधिवेशन के बकाया 36 लाख रुपये मांगना शुरू कर दिया। इस अवसर उसने खाना खाकर पैसे नहीं देने का आरोप लगाया और खूब हंगामा किया। इसके बाद सेवादल के कार्यकर्ताओं ने धक्के मारकर उसे बाहर निकाल दिया।

दरअसल हंगामा करने वाले व्यक्ति का नाम मिलिंद खंडेलवाल है, जो खंडेलवाल केटरिंग का संचालक है। मिलिंद ने मीडिया को बताया कि 10 से 14 फरवरी, 2019 को सेवादल का राष्ट्रीय अधिवेशन कायड़ विश्राम स्थली में आयोजित हुआ था। इसमें देशभर के कार्यकर्ता शामिल हुए थे। अधिवेशन का उद्धाटन राहुल गांधी ने किया था। इस कार्यक्रम का खाने का ठेका उसे 71 लाख रुपये में दिया गया था। इसमें से कुल 35 लाख रुपये उसे दिए गए जबकि 36 लाख रुपये बकाया चल रहे हैं। इतनी बड़ी रकम नहीं मिलने से उसे आर्थिक संकट का समाना करना पड़ रहा है। मिलिंद ने कहा कि कांग्रेस के लोग प्रधानमंत्री मोदी पर आरोप लगाते हैं, लेकिन ये लोग खाना खाकर पैसे भी खा गए। 

मिलिंद ने आरोप लगाया कि वह रकम ब्याज पर उधार लेकर 2.5 लाख कांग्रेस कार्यकर्ताओं को खाना खिलाया था। बार-बार मांगने पर भी उसे भुगतान नहीं किया जा रहा है। बकाया रुपयों को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से गुहार लगाई। लेकिन कोई भी उसका बकाया राशि देने को तैयार नहीं है। सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। जिससे वह आत्महत्या करने को मजबूर है। हलवाई ने इस अवसर पर रुपये नहीं मिलने पर आत्महत्या की चेतावनी भी दी। साथ ही कहा कि ऐसा होता है तो इसके जिम्मेदार डॉ. रघु शर्मा और अन्य नेता होंगे। 

इस हंगामे के बाद सेवादल और राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित अन्य नेताओं की खासी फजीहत हुई है। लेकिन कांग्रेस के नेता उल्टे केटरिंग के संचालक को ही सत्ता का धौंस दिखाने लगे हैं। सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष हेम सिंह ने कैटरिंग के मालिक मिलन खंडेलवान को हिस्ट्रीशीटर बताते हुए कहा कि उसके खिलाफ अजमेर के पुलिस थानों में धोखाधड़ी के कई मामले दर्ज हैं। मिलन को तय रकम का भुगतान कर दिया गया, लेकिन वह ब्लैकमेल कर ज्यादा पैसा लेना चाहता है। हेम सिंह ने कहा कि अब हम उसके खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराएंगे।

Leave a Reply