Home समाचार पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता फिरोज कमाल गाजी की गाड़ी पर टीएमसी...

पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता फिरोज कमाल गाजी की गाड़ी पर टीएमसी के गुंडों ने बमों से किया हमला, गंभीर रूप से घायल

544
SHARE

पश्चिम बंगाल में विधानसभा का चुनाव करीब आने के साथ ही हिंसा भी बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हिंसा और आतंक के जरिए सत्ता में बने रहना चाहती है। बीजेपी से मिल रही कड़ी चुनौती से डरी ममता बनर्जी अब बीजेपी नेताओं पर हमले करवा कर ही है। शनिवार को पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में बीजेपी नेता फिरोज कमाल गाजी उर्फ बाबू मास्टर की कार पर बमों से हमला किया गया। इसके बाद टीएमसी के 10-12 गुंडों ने गाड़ी को घेरकर गोलीबारी की। इस हमले में बाबू मास्टर बुरी तरह घायल हो गए। गंभीर हालत में उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया।

बाबू मास्टर पर उस समय हमला किया गया, जब उत्तर 24 परगना में जिला पार्टी कार्यालय में एक बैठक में भाग लेने के बाद कोलकाता लौटते रहे थे। इस हमले में बाबू मास्टर और उनका कार ड्राइवर घायल हो गया, जिन्हें कोलकाता के निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। डॉक्टरों के मुताबिक, बाबू मास्टर खतरे से बाहर हैं, लेकिन उन्हें निगरानी में रखा गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। उधर इस घटना के बाद से ही इलाके में दहशत का माहौल है।

घटना के बाद बीजेपी के आईटी सेल हेड अमित मालवीय ने एक वीडियो शेयर करते हुए दावा किया कि बाबू मास्टर के काफिले पर टीएमसी के गुंडो ने हमला किया और उनके काफिले पर बम भी फेंके गए और गोलियां चलाई गईं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा टीएमसी का पर्याय बन गई है। लेकिन ममता बनर्जी जो कि बंगाल की गृह मंत्री भी हैं, हर बार की तरह इस बार भी घटना पर चुप्पी साध रखी है।

बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने अस्पताल पहुंचकर बाबू मास्टर का हालचाल लिया। शुभेंदु ने तृणमूल कांग्रेस के अपराधी तत्वों पर हमला करने का आरोप लगाया है। बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया है कि बीजेपी में शामिल होने के बाद से ही तृणमूल कांग्रेस बाबू मास्टर पर हमले की साजिश कर रही थी। ज्योतिप्रिय मल्लिक ने कई बार बाबू मास्टर को धमकी भी दी थी। इस घटना में राज्य के खाद्यमंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक का हाथ है। 

गाजी पर हमले के खिलाफ बीजेपी ने रविवार को जगह-जगह प्रदर्शन किया। थाना का घेराव भी किया और आरोपियों के अविलंब गिरफ्तारी की मांग की। इलाके के प्रभावशाली नेता बाबू मास्टर पिछले साल दिसंबर में तृणमूल कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे।

गौरतलब है कि बीजेपी नेता पर हमले की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले पिछले साल दिसंबर में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमला हुआ था। जबकि उससे पहले बंगाल में बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय की गाड़ी पर पत्थरों से हमले किए गए थे। उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए गए थे।

Leave a Reply