Home समाचार लव जिहाद में बेमेल शादी, एक और हिंदू बेटी की हत्या, बुर्का...

लव जिहाद में बेमेल शादी, एक और हिंदू बेटी की हत्या, बुर्का नहीं पहनने पर इकबाल ने रूपाली की गला काटकर हत्या कर दी

837
SHARE

लव जिहाद, जबरन धर्म परिवर्तन, आईएस के लिए आतंकी भेजने, अरब देशों से फंड जुटाने के मामलों को लेकर अब पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) पर प्रतिबंध लग चुका है और उसके देश विरोधी कारनामे पर लगाम लगाने की पूरी तैयारी कर ली गई है। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश जब विकास के क्षेत्र में नए झंडे गाड़ रहा है वहीं विदेशी ताकतें PFI के जरिये देश को कमजोर करने, नफरत का माहौल बनाने में जुटे हुए हैं। सबसे दुखद बात यह है कि देश को कमजोर करने की इस साजिश में कुछ राजनीतिक दलों के नेता और कुछ नागरिक भी शामिल हैं। PFI देश भर में लव जिहाद के जरिये अपनी रोटियां सेंक रहा था। एक तय रणनीति के तहत हिंदू लड़कियों को लव जिहाद में फंसाने के लिए मुस्लिम युवकों को पैसे, घर और अन्य प्रलोभन दिए जाते हैं और इसके जरिये इलाके की डेमोग्राफी चेंज करने की साजिश रची जा रही थी। लव जिहाद का ताजा मामला मुंबई का है जहां मुस्लिम युवक इकबाल ने अपनी हिंदू पत्नी की गला रेतकर हत्या कर दी। जांच में पता चला है कि पत्नी ने अपने ससुराल में मुस्लिम रीति-रिवाज मानने और बुर्का पहनने से मना कर दिया था।

इकबाल की दूसरी पत्नी थी रूपाली, बुर्का पहनने का बनाया दबाव 

मुंबई के तिलक नगर इलाके के रहने वाले इकबाल मोहम्मद शेख ने तीन साल पहले 23 साल की रूपाली नाम की हिन्दू लड़की से लव मैरिज की थी। दोनों का दो साल का बेटा भी है। शादी के बाद रूपाली पर ससुराल में मुस्लिम रीति-रिवाज को मानने और बुर्का पहनने का दबाव बनाया जा रहा था। इसे लेकर इकबाल और रूपाली में झगड़ा होने लगा था। दोनों पिछले कुछ महीने से अलग रह रहे थे। दोनों के बीच फोन पर ही बात होती थी। इस दौरान भी अक्सर झगड़ा ही होता था। पुलिस ने बताया कि घटना सोमवार की रात करीब 10 बजे की है, जब इकबाल रूठी पत्नी को मनाने गया था। इस दौरान दोनों के बीच मुस्लिम रीति-रिवाजों को लेकर फिर से झगड़ा होने लगा। गुस्से में रूपाली ने तलाक लेने की बात कह दी। पहले तो इकबाल बेटे का हवाला देते हुए उसे मनाने लगा, लेकिन जब रूपाली तलाक की बात पर अड़ी रही तो इकबाल रूपाली को गली में खींच कर ले गया। वहां चाकू से गला रेत दिया और फरार हो गया। रूपाली इकबाल की दूसरी पत्नी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रूपाली इकबाल की दूसरी पत्नी थी। इकबाल ने पहली पत्नी को तलाक दे दिया था, क्योंकि उसके बच्चे नहीं थे। इसके बाद इकबाल ने रूपाली से लव मैरिज की थी। तिलक नगर के इंस्पेक्टर विलास राठौड़ ने बताया कि सोमवार को आरोपी इकबाल शेख ने पत्नी की चाकू से गला रेतकर हत्या कर डाली। फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है।

ईरान में महिलाएं बुर्का जला रही हैं, मुंबई में बुर्का न पहनने पर हत्या

इन दिनों बुर्का दुनिया भर में चर्चा में है। एक तरफ ईरान की महिलाएं बुर्के के विरोध में प्रदर्शन कर रही हैं, वो बुर्का को सार्वजनिक जगहों पर जला रही हैं, वहीं दूसरी तरफ भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में बुर्का ना पहनने को लेकर पति ने पत्नी की हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार 36 वर्षीय एक टैक्सी चालक ने रूढ़िवादी मुस्लिम रीति-रिवाजों का पालन करने से इनकार करने पर चल रहे विवाद के बाद मुंबई में अपनी पत्नी की हत्या कर दी। ईरान में इन दिनों हिजाब को लेकर महिलाएं विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। कुछ महिलाओं ने तो इसके विरोध में अपने बाल तक काट दिए हैं। वहां महिलाएं बुर्का के विरोध में इसीलिए हैं क्योंकि वह इसमें सहज नहीं महसूस करती हैं, वहीं भारत में PFI अपने नफरती एजेंडे के लिए बुर्का पहनने के लिए महिलाओं को दकियानूसी सोच में ढकेल रहा है। भारत में इसकी बानगी हिजाब विवाद में भी देखी जा सकती है।

हिंदू युवतियों को धर्म परिवर्तन कराने की साजिश से रहना होगा सावधान

देश में लव जिहाद के जरिए धर्म परिवर्तन कराने की साजिश बड़े पैमाने पर की जा रही है। इसके तहत भोली-भाली हिंदू लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाकर मुस्लिम बना दिया जा रहा है। जब लड़कियां प्रेम जाल में नहीं फंसती हैं तो ये जिहादी मानसिकता के इस्लामी युवक उसे प्रताड़ित करने, हमला करने, धमकी देने और यहां तक कि हत्या करने से भी बाज नहीं आते। कुछ ही दिन पहले झारखंड में शाहरुख द्वारा अंकिता को जलाकर मार डालने का मामला सामने आया था। इसके बाद झारखंड की राजधानी रांची के बेड़ो प्रखंड में शहरूद्दीन अंसारी ने एक नाबालिग आदिवासी छात्रा के साथ रेप किया। देश की राजधानी दिल्ली में 16 साल की एक नाबालिग लड़की को स्कूल से लौटने के दौरान गोली मारकर हत्या करने की कोशिश की गई। इस तरह की घटनाएं लगातार हो रही हैं। कुछ मीडिया के जरिये सामने आती हैं और कुछ नहीं आ पाती। लेकिन यहां एक बात साफ हो जाती है कि हिंदू युवतियों को अब इन जिहादी मानसिकता के लोगों से सावधान रहने की जरूरत है।

यूपी के लखीमपुर खीरी में लव जिहाद : झांसा देकर दो दलित बहनों से रेप

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में 14 सितंबर, 2022 को दो नाबालिग दलित बहनों की लाश गन्ने के खेत में पेड़ से लटकती हुई मिली। यूपी पुलिस ने इस मामले में नाबालिग बहनों की मां की लिखित शिकायत के बाद FIR दर्ज की, जिसमें एक नामज़द और तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है, जिसमें पोक्सो एक्ट, रेप और हत्या जैसी गंभीर धाराएं लगाई गई। पुलिस ने तेजी से कार्रवाई करते हुए नामजद सहित सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों में छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन, आरिफ शामिल हैं।

महाराष्ट्र के अमरावती में बड़े पैमाने पर लव जिहाद

भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद अनिल बोंडे ने महाराष्ट्र के अमरावती जिले में बड़े पैमाने पर ‘लव जिहाद’ के मामले सामने आने का आरोप लगाया है। बोंडे ने कहा कि अमरावती में अब तक लव जिहाद के 20 मामले सामने आए हैं, जिनमें से कई लड़कियों का शादी के बाद अता पता नहीं चला है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अमरावती के धारनी में एक मुस्लिम युवक ने हिंदू लड़की से शादी करने का खुलासा आज ही किया। इस घटना का जिक्र करते हुए बोंडे ने कहा कि अमरावती जिल में इस तरह ‘लव जिहाद’ की घटनाएं ज्यादा हो रही हैं। बोंडे ने कहा कि कई मामलों में शादी के बाद लड़की का आज तक पता नहीं चला। उन्होंने कहा, ‘इसके पहले भी एक लड़की के साथ शादी की गयी थी जिसका पता अब तक पुलिस को नहीं लग पया है। लड़कियों को बहला-फुसला कर शादी कराई जाती है, उन्हें देह व्यापार के धंधे में उतारा जाता है।’ बीजेपी सांसद ने कहा मुस्लिम समुदाय के लोग अपने लड़कों की तरफ ध्यान दें। उन्होंने कहा कि अगर मुस्लिम समुदया के लड़के हिंदुओं की लड़कियों को इसी तरह गुमराह कर शादी करते रहे तो नतीजे अच्छे नहीं होंगे। बोंडे ने कहा, ‘अमरावती में अब तक लव जिहाद के 20 मामले सामने आए हैं। कई लड़कियों का शादी के बाद अता पता नहीं है। कुछ लड़कियों को तो वेश्या व्यवसाय में उतारा गया है। एक लड़की की शादी कुछ दिनों पहले हुई थी, उस लड़की को बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद की मदद से हमने छुड़ाया है। लड़की की शादी एक एम्बुलेंस ड्राइवर के साथ हुई थी, अब वह अपने परिवार के साथ है।’

अमानत अली ने दिल्ली में हिंदू लड़की पर गोली चलवाई

दक्षिणी दिल्ली के संगम विहार इलाके में एक 16 वर्षीय लड़की की हत्या के कथित प्रयास के सिलसिले में मुख्य आरोपी अमानत अली को पुलिस ने दिल्ली के त्रिलोकपुरी से गिरफ्तार किया गया है। वहीं इस मामले में उसके सहयोगी बॉबी और पवन पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है, जिन्होंने अपने दोस्त अमानत अली के कहने पर लड़की को गोली मारी थी। इस घटना में लड़की के कंधे पर गोली लगी थी और उसकी जान बच गई। संगम विहार में किराये के मकान में रहने वाला अरमान अली एरिये में कपड़े का काम करता था। उसने नाम बदलकर इस्टाग्राम पर लड़की नैना मिश्रा से दो साल पहले दोस्ती की थी। लड़की ने 5-6 महीने से उससे बातचीत बंद कर दिया और सोशल मीडिया पर ब्लॉक कर दिया। इसके बाद अमानत अली उसका स्कूल तक पीछा करके तंग करता था। एक बार लड़की के घर पर पत्थर चलवाया था। इसकी मौखिक रूप से शिकायत थाने में दी गई थी। शिकायत देने पर बीट कांस्टेबल ने भरोसा दिया था कि आरोपी दोबारा तंग नहीं करेगा। लेकिन उसके बाद उसने जान से मारने की कोशिश की। छात्रा ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया था ​कि वह 25 अगस्त को स्कूल से लौट रही थी। तभी उसे लगा कि कुछ लोग उसका पीछा कर रहे हैं। जब वह संगम विहार के बी-ब्लॉक पहुंची तो अरमान अली ने अपने दो अन्य दोस्तों के साथ उस पर गोली चला दी। गोली चलाने के बाद सभी फरार हो गए थे।

झारखंड में शाहरुख ने हिंदू लड़की को जलाकर मार डाला

झारखंड के दुमका में अंकिता ने बात करने से मना किया तो शाहरुख ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी। 12वीं में पढ़ने वाली लड़की पांच दिन तक अस्पताल में जिंदगी और मौत से जंग लड़ती रही और बाद में उसकी मौत हो गई। शाहरुख आते-जाते अंकिता (17) को छेड़ता और दोस्ती के लिए दबाव डालता था। अस्पताल में जिंदगी की जंग हारने से पहले अंकिता ने बताया कि घटना 23 अगस्त की सुबह पांच बजे के आसपास की है। मैं अपने कमरे में सो रही थी, अचानक कमरे की खिड़की के पास आग की लपटें देखकर मैं डर गई। जब मैंने खिड़की खोली तब देखा की मोहल्ले का आवारा लड़का शाहरुख हुसैन हाथ में पेट्रोल का कैन लिए मेरे घर की तरफ से भाग रहा था। तब तक आग मेरे शरीर में भी लग चुकी थी और मुझे काफी जलन सी महसूस हो रही थी। मैं सिर्फ यही देख पाई की ब्लू टीशर्ट पहने, हाथ में पेट्रोल की कैन लिए शाहरुख भाग रहा था। ये वही शाहरुख था जो पिछले दस पन्द्रह दिन से मुझे परेशान कर रहा था। मोहल्ले में उसकी छवि एक आवारा किस्म के लड़के की थी। जिसका काम सिर्फ लड़कियों को परेशान करना और उन्हें अपने झांसे में लेकर इधर-उधर घुमाना था। अंकिता ने मौत से पहले अपने दिए बयान में कहा कि पिछले दस-पंद्रह दिन से वह मेरे आगे पीछे घूम रहा था। जब भी मैं स्कूल या ट्यूशन के लिए जाती वह मेरा पीछा करता। हालांकि मैंने कभी उसकी हरकतों को सीरियसली नहीं लिया, लेकिन उसने कहीं से मेरे मोबाइल का नम्बर जुगाड़ कर लिया था। उसके बाद अक्सर मुझे फोन करके मुझसे दोस्ती करने का दबाव बनाने लगा। मैंने उसे स्पष्ट कर दिया था कि मुझे इन सबसे कोई लेना देना नहीं है।

झारखंड में शहरूद्दीन ने आदिवासी छात्रा के साथ किया दुष्कर्म

रांची जिले के बेड़ो प्रखंड के नारकोपी थाना क्षेत्र में आदिवासी नाबालिग छात्रा से 26 वर्षीय आरोपी शहरूद्दीन अंसारी ने 28 अगस्त को रेप किया। नाबालिग छात्रा दोपहर अपने घर के पास की कुएं पर नहाने के लिए गई थी। इसी दौरान बारिश होने लगी तो उसने बचने के लिए वहां पास के एक पेड़ के नीचे शरण ली। वहीं गांव के एक लड़के को पास आता देख नाबालिग छात्रा बारिश में भीगते हुए अपने घर की ओर भागने लगी इसी दौरान नाबालिग छात्रा का पीछा करते हुए शहरुद्दीन उसके घर तक पहुंच गया। घटना के वक्त घर के सभी लोग खेत में काम करने गए थे और छात्रा घर पर अकेली थी। घर पर अकेला देख नाबालिग छात्रा के साथ उसने रेप की वारदात को अंजाम दिया। छात्रा ने बताया कि ऐसे लोगों को इस समाज में रहने का कोई हक नहीं है। ऐसे लोगों को फांसी की सजा होनी चाहिए। वहीं पीड़िता के भाई ने कहा कि आज उसकी बहन ऐसे लोगों की शिकार हुई है कल कोई और ना हो इसलिए ऐसे लोगों पर प्रशासन कड़ी कार्रवाई करे क्योंकि ऐसे लोगों का प्रशासन से डर उठ चुका है। उन्होंने कहा कि आरोपी को या तो उम्र भर जेल में रखा जाए या तो उसे फांसी दे दी जाए।

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में दिलशाद ने हिंदू लड़की का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

उत्तर प्रदेश के जिले फतेहपुर में धर्मांतरण का मामला सामने आया है। शहर के उन्नाव के बांगरमऊ गांव के रहने वाले दिलशाद नाम के मुस्लिम युवक ने नाबालिग हिंदू लड़की को अगवाकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया। इतना ही नहीं आरोपी युवक लड़की को हरियाणा ले जाकर धर्म परिवर्तन करवा कर उससे निकाह कर लिया। इसकी जानकारी तब हुई जब लड़की ने मौका पाकर अपने भाई को फोन कर पूरी दास्तान बताई। उसके बाद भाई ने थाने पहुंचकर पुलिस को पूरी कहानी बताई। जिसके बाद पुलिस हरियाणा के लिए रवाना हो गई। हरियाणा पुलिस की मदद से फतेहपुर पुलिस ने आरोपी दिलशाद के चंगुल से नाबालिग को छुड़ावाया और उसे गिरफ्तार कर लिया है। लड़की के भाई ने बताया कि उसकी 17 वर्षीय बहन हाईस्कूल की छात्रा है। वह 17 अगस्त को स्कूल के लिए घर से निकली पर वापस घर लौटकर नहीं आई। उसकी काफी खोजबीन की गई लेकिन कुछ पता नहीं चला तो थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। उसके बाद 21 अगस्त को उसकी बहन ने अपने भाई को फोन करके बताया कि उसे उन्नाव के बांगरमऊ का रहने वाला दिलशाद नाम के मुस्लिम युवक ने किडनैप कर लिया है। इतना ही नहीं वह उसको हरियाणा ले आया है और उसका जबरन धर्मांतरण कर निकाह भी कर लिया है। बहन ने अपने भाई से कहा कि मैं यहां दिलशाद की कैद में हूं, भाई प्लीज मुझे यहां से जल्दी से ले जाओ नहीं तो ये मुझे जान से मार देगा।

मध्य प्रदेश के खजुराहो से लापता हिंदू लड़की आगरा में मिली

मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के खजुराहो से करीब एक सप्ताह पहले युवती गायब हुई थी। परिजनों ने वहां के राजनगर थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने युवती के मोबाइल की लोकेशन चेक की तो वह आगरा के एसएन मेडिकल कालेज के पास पता चली। वहां की पुलिस ने इसकी जानकारी आगरा एमएम गेट थाने की पुलिस को दी। उसे युवती की फोटो और लोकेशन भेजी। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि उक्त हुलिए की एक युवती इमरजेंसी में दिखाने आई थी। उसके दोनों पैर की हड्डी टूटी हैं। बुधवार को युवती को एसएन इमरजेंसी से ई-रिक्शा में बैठ कर जाते पकड़ लिया। इंस्पेक्टर एमएम गेट अवधेश गौतम ने बताया, युवती को आशा ज्योति केंद्र में रखा गया है। युवती ने पुलिस को बताया कि वह शनिवार को आगरा आई थी और गिरने के चलते दोनों पैरों में फ्रैक्चर हो गया। जानकारी होने पर राष्ट्रीय हिंदू परिषद भारत के अध्यक्ष गोविंद पाराशर समेत अन्य पदाधिकारी भी पहुंच गए। गोविंद पाराशर ने बताया कि मामला लव जिहाद का है। युवती को मुस्लिम युवक अपने जाल में फंसाकर ले आया था। खजुराहो से कुछ लोगों द्वारा दोनों के फोटो भेज उनके आगरा में होने की जानकारी दी गई थी। जिसके चलते संगठन के लोग अपने स्तर से युवती की तलाश में जुटे थे।

गुजरात के बनासकांठा में लव जिहाद, युवती के परिवार का किया धर्मांतरण

उत्तर गुजरात के बनासकांठा में मुस्लिम युवक के प्रेम में फंसी लड़की तथा उसके भाई व मां के धर्म परिवर्तन कराने का मामला सामने आया है। पीडि़त पिता हरेश सोलंकी ने परिवार के सदस्यों का जबर्दस्ती धर्म परिवर्तन से दुखी होकर आत्महत्या का प्रयास किया। पुलिस ने इस मामले में 2 आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बनासकांठा जिले की डीसा तहसील के मालगढ गांव निवासी हरेश सोलंकी के भाई राजेश ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया है कि गांव के ही शेख परिवार के सदस्यों ने उसकी भतीजी का ब्रेनवॉश किया तथा एजाज ने उसे प्रेमजाल में फंसा लिया। संयुक्त परिवार के लोगों ने जब इसका विरोध किया तो लड़की का भाई व मां भी उसके पक्ष में हो गये तथा धर्म परिवर्तन कर घर में नमाज भी पढ़ने लगे। परिवार के सदस्यों ने विरोध किया तो शेख परिवार की मदद से वे अलग होकर दूसरे मकान में चले गये। हरेश ने इससे दुखी होकर आत्महत्या का प्रयास किया, उसका पालनपुर के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। पुलिस ने सोहेल व उसके परिवार के 4 सदस्यों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इससे पहले जब हरेश ने अपने परिवार से मिलने की इच्छा जताई तो शेख परिवार ने उससे 25 लाख रुपये की मांग की।

नोएडा में आरिफ खान ने खुद को आरिकान राणा बताकर दुष्कर्म के बाद कराया गर्भपात

हरियाणा के गुरुग्राम निवासी पीड़िता ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि आरिफ खान नाम के एक युवक ने अपना नाम आरिकान राणा बताकर उसके साथ प्रेम संबंध बनाए। आरिफ ने शादी का झांसा देकर सेक्टर-51 स्थित एक होटल में उसकी मर्जी के खिलाफ शारीरिक संबंध बनाए। आरिफ ने शादी करने का वादा करके कई महीने तक उसके साथ दुष्कर्म किया। जिससे वह गर्भवती हो गई। उसके बाद आरिफ ने अपने पिता और अन्य लोगों से मुलाकात करवाई। सभी ने शादी का भरोसा देकर उसका गर्भपात करवा दिया। इस दौरान पीड़िता को उसके मुस्लिम होने का पता चला। विरोध करने पर आरिफ मारपीट और गाली-गलौज की। कुछ दिन बाद उसने मोबाइल बंद करके फरार हो गया। कोतवाली प्रभारी यशपाल धामा का कहना है कि इस संबंध में गुरुग्राम के सेक्टर-5 थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। मुकदमा अब वहां से ट्रांसफर होकर नोएडा आ गया है। रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि युवती की कुछ वर्ष पहले फेसबुक पर आरिफ से दोस्ती हुई थी। दोस्ती बाद में प्यार में बदल गई। दोनों साथ रहने लगे। युवती का आरोपित के परिवार में आना जाना होने लगा। सभी पहलुओं से मामले की जांच की जा रही है।

सुमित बनकर 8 साल तक महिला के साथ लिवइन में रहा शहनवाज, शादी का दबाव बनाने पर खुली पोल

गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम क्षेत्र में एक मुस्लिम युवक आठ साल तक हिन्दू नाम सुमित रखकर सिख महिला के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहा और जब महिला ने उससे शादी के लिए कहा तो वो उसे अपने गांव बिहार ले गया। जहां उसे सारी सच्चाई पता चली। जिसके बाद उसने महिला पर धर्म बदलने का दबाव बनाया। इन दोनों का एक बेटा भी है। पीड़िता ने बताया कि बिहार में उसके गांव जाने पर उसे पता चला कि जिस सुमित के साथ वो आठ साल से लिव इन में रह रही ती वो दरअसल एक मुसलमान है और उसका नाम शहनवाज है। महिला ने कहा कि वो अपना नाम सुमित यादव बताता था। गांव ले जाने के बाद उसने धर्म बदलने की बात कही। इसके साथ ही मेरे बेटे का खतना करने को भी कहा। पीड़िता के सामने जब आरोपी की सच्चाई सामने आई तो वो एक समाजसेवी के पास गई। समाजसेवी ने बताया कि सिख धर्म की महिला मेरे पास आई थी, जिससे आरोपी ने अपना नाम बदलकर शादी की थी। इसके बाद उस पर जिस्मफरोशी का भी दबाव बनाया। शाहनवाज आलम ने पहले भी हिंदू धर्म की महिला से शादी की थी और वो इनसे जिस्मफरोशी का धंधा कराना चाहता था। महिला ने इसका विरोध किया, जिसके बाद उसने पुलिस में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

लव जिहाद में विफल रहने पर मोहम्मद तौफीक ने निकिता को गोलियों से भूना

हरियाणा के बल्लभगढ़ में वर्ष 2020 में हिंदू लड़की निकिता तोमर की मोहम्मद तौफीक ने गोली मार कर हत्या कर दी। इस्लामिक जिहादी मोहम्मद तौफीक ने निकिता को अपने प्रेमजाल में फंसाने की हरसंभव कोशिश की। बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा निकिता शाम चार बजे अग्रवाल कॉलेज से परीक्षा देकर निकल ही रही थी कि तौफीक ने कार से अपहरण करने की कोशिश की। कार में खींचने की कोशिश में विफल रहने पर तौफीक ने निकिता को गोली मार दी। तौफीक 12वीं तक निकिता के साथ ही पढ़ता था। तौफीक ने निकिता को कई बार अपने प्रेमजाल में फंसाकर धर्मांतरण कराने को कोशिश की। दोस्ती और जबरन निकाह से इनकार किए जाने के कारण तौफीक ने एक बार पहले भी साल 2018 में निकिता का अपहरण किया था। उस समय बदनामी और लोकलाज के कारण परिजनों ने मामले को रफा-दफा कर दिया था। तौफीक उसके बाद भी निकिता पर दोस्ती के लिए दबाव बनाता रहा और वो इनकार करती रही। इसके बाद तौफीक ने फिर अपहरण करने की कोशिश की। दूसरी बार अपहरण करके निकिता को बुर्का पहनाने और धर्मांतरण में फेल रहने पर तौकीफ ने सरेआम दिन-दहाड़े गोली मार दी।

लव जिहाद की शिकार अंजना तिवारी उर्फ आएशा ने कर लिया आत्मदाह

उत्तर प्रदेश की अंजना तिवारी ने लव जिहाद का शिकार हो जाने के बाद आत्मदाह कर लिया था। कभी हिंदू-मुस्लिम वाली बातों को सांप्रदायिक बताने वाली महाराजगंज की अंजना तिवारी ने परिवार और समाज के खिलाफ जाकर मुस्लिम लड़के आसिफ से निकाह कर लिया था। निकाह के बाद इस्लाम भी कबूल कर लिया, अंजना तिवारी से आएशा बन गई लेकिन शादी से पहले प्रेमजाल में फंसाने वाला आसिफ निकाह के बाद एकदम से बदल गया। आसिफ नौकरी के नाम पर सउदी अरब चला गया, जिसके बाद परिवार ने परेशान करना शुरू कर दिया। आसिफ के परिवार के उत्पीड़न से तंग अंजना तिवारी उर्फ आएशा ने 13 अक्तूबर 2020 को उत्तर प्रदेश विधानसभा के सामने आत्मदाह करने की कोशिश की। 85 प्रतिशत जल चुकी अंजना उर्फ आएशा की बाद में मौत हो गई।

हिंदू लड़की को दो बच्चों की मां बनाकर विदेश भाग गया दानिश

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक मुस्लिम युवक दानिश ने हिंदू युवती को हिंदू नाम सोनू से पहले प्रेमजाल में फंसाया। शादी के बाद महिला को पता चला कि सोनू का असली नाम दानिश है और उसने अपना धर्म छिपाकर शादी की है। इसके बावजूद उसने सोनू को ही अपना जीवनसाथी मानकर पूरी तरह उसे अपना लिया। इस दौरान दंपती के दो बच्चे भी हुए। इसके बाद दानिश ने उसका जयपुर का एक मकान और गहने बिकवा दिए। दानिश काफी समय तक महिला के पैसों से ही मौज-मस्ती करता रहा। पैसा खर्च होने के बाद दानिश उसे छोड़कर विदेश भाग गया।

शालिनी यादव को बना डाला फिजा फातिमा

उत्तर प्रदेश के कानपुर में कुछ वर्ष पहले शालिनी यादव नाम की हिंदू लड़की पहले भागकर मुसलमान फैजल से शादी करती है फिर धर्म बदल कर अपना नाम शालिनी यादव से फिजा फातिमा बन जाती है। शालिनी यादव के भाई विकास यादव का कहना है कि फैसल, लव जिहाद गैंग का सरगना है और यही कारण है कि उसने शालिनी को इस्लाम कबूल करा फिजा फातिमा बना डाला। सवाल ये है कि धर्म बदलने की क्या जरूरत? धर्म शालिनी यादव ने ही क्यूं बदला? फ़ैसल ने क्यूं नहीं? तभी तो कहते हैं, ये लव नहीं, ये लव जिहाद है। अगर इस पर लगाम नहीं लगाया गया तो यह लव जिहाद कई हिंदू बहन-बेटियों की जिंदगी बर्बाद कर देगा।

असम में लव जिहाद के कई मामले सामने आए

असम में हाल के वर्षों में लव जिहाद के कई मामले सामने आए हैं। यहां हिंदू लड़की को मुस्लिम युवकों ने हिंदू नाम बताकर प्रेमजाल में फंसा लिया। इन लड़कियों का धर्मांतरण करके निकाह किया गया। असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने साफ कहा कि जो मुस्लिम लड़के फर्जी नाम रख कर हिंदू लड़कियों से निकाह करते हैं, वह शादी नहीं बल्कि विश्वासघात है। कई मुस्लिम लड़के हिंदू नाम से फेसबुक अकाउंट बनाते हैं और मंदिरों में खुद की तस्वीरें पोस्ट करते हैं। एक बार जब एक लड़की की शादी एक ऐसे लड़के से हो जाती है, तो उसे पता चलता है कि वह उसी धर्म से नहीं है। यह एक विवाह बंधन नहीं बल्कि विश्वास का उल्लंघन है।

भारत को मुस्लिम देश बनाने के लिए लव जिहाद पर जोर

लव जिहाद या रोमियो जिहाद एक षड्यंत्र है जिसके तहत युवा मुस्लिम लड़के गैर-मुस्लिम लड़कियों के साथ प्यार का ढोंग करके उनका धर्म-परिवर्तन करते हैं। भारत के संदर्भ में यह अधिकतर हिंदु युवतियों के साथ किया जाता है। अब यह साफ हो गया है कि यह एक अंतरराष्ट्रीय साजिश है और पूरी दुनिया को इस्लाम में बदल देने के आह्वान से जुड़ा हुआ है।

अरब देशों से होती है ‘धर्मांतरण और लव जिहाद’ की फंडिंग

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ यानी PFI और ‘सथ्य सरानी’ जैसे संगठन पूरी तरह से एक व्यवस्थित मशीनरी इस तरह के काम में लगी हुई है। युवा लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराना और उन्हें कट्टरपंथ की ओर धकेलने में इन संगठनों की अहम भूमिका है। इसके लिए अरब देशों से बजाप्ता फंडिंग भी होती है। India today के स्टिंग ऑपरेशन में भी इस बात का खुलासा हो चुका है जिसमें PFI के संस्थापक सदस्य और इसके मुखपत्र ‘गल्फ थेजास’ के प्रबंध संपादक अहमद शरीफ ने इस बात को स्वीकार भी किया है कि इसकी फंडिंग अरब देशों से की जाती है और वह हवाला के जरिये रुपये मंगवाता है।

लव जिहाद करने वालों को मदद देता PFI

स्टिंग ऑपरेशन में अहमद शरीफ ने साफ स्वीकार किया कि वह भारत में इस्लामिक स्टेट की स्थापना के छुपे मकसद के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में इस्लामी साम्राज्य की स्थापना उनका मकसद है और इसके लिए वह हर मदद करता है। उन्होंने यह भी स्वीकार किया है कि धर्मांतरण करने वाले या लव जिहाद करने वाले युवकों को उनकी संस्था मदद करती है। कुछ साल पहले केरल सहित पूरे देश में ‘किस ऑफ लव’ कैंपेन हुआ था, इसके आयोजन के पीछे भी PFI का हाथ था। इस कैंपेन में हिस्सा लेने वाले 90 प्रतिशत युवतियां हिंदू थीं और युवक मुस्लिम। पीएफआई अपने सदस्यों को खुला ऑफर देता है कि जो भी सदस्य हिंदू युवतियों के धर्म परिवर्तन करा कर उनसे शादी करेगा उसे घर और दुकान के साथ- साथ नकदी भी दी जाएगी। वहीं, पीएफआई ऐसे सदस्यों को खुलेआम नकद रुपये देते हैं।

हिंदू लड़कियों को प्यार के झांसे में लाकर धर्मांतरण होता है लव जिहाद

जानकारों को अनुसार हिन्दू लड़की या गैर मुस्लिम लड़कियों को अपने नकली प्यार मे फंसा कर धर्मांतरित करना ही इस जिहाद का मूल उद्देश्य है। इस षडयंत्र के माध्यम से हिंदू महिलाओं को मुस्लिमों की आबादी बढ़ाने के उपयोग के लिए मजबूर किया जाता है। दरअसल यह इस्लामिस्ट कट्टरपंथी जमात भारत को दारुल हरब यानि काफिरों का देश मानता है और इसे दारुल इस्लाम यानि मुसलमानों के देश में परिवर्तित करने की योजना पर काम कर रहा है जिसका एक बड़ा हथियार लव जिहाद भी है। पीएफआई ने लव-जिहाद को सबसे बड़ा हथियार बना रखा है। इसके लिए अपने सदस्यों को विशेष प्रशिक्षण देने के लिए केरल भेजते हैं। वहां पर उनको  धर्मांतरण व अपनी हकीकत छिपाकर हिन्दू युवतियों को अपने जाल में फंसाने का तरीका बताया जाता है। जिसके बाद पीएफआई के सदस्यें हिंदु युवतियों को प्यार में फंसा कर उनसे शादी करते है और उनका धर्म परिवर्तन कराते है।

ऐसे किया जाता है लव जिहाद

ये भी आरोप कई संगठनों की तरफ से लगाए गए कि हाथ में कलावा और सिर पर तिलक लगाकर लव जिहादी दूसरे धर्म का होने का छलावा करते हैं। इन्हें बाइक और पैसा दिया जाता है ताकि ये लड़कियों को अपने जाल में फंसा सके। ये स्कूल-कॉलेज के इर्द-गिर्द मंडराते हैं और इन्हें इसके लिए पैसा भी दिया जाता है। बीते साल कोझीकोड लॉ कॉलेज से जहांगीर रजाक नाम के एक लव जिहादी ने 42 लड़कियों की अकेले ही फंसा लिया और उन सब को मिलाकर एक सेक्स रैकेट चलाने लगा। ऐसी ही एक लड़की थी गीता। दिल्ली की रहने वाली इस लड़की को जैसे ही पता चला कि उसका ब्वॉयफ्रेंड विशाल दरअसल मोहम्मद एजाज है, तो उसने मौत को गले लगा लिया।

Leave a Reply