Home चुनावी हलचल SCAM पर ‘अखाड़े’ में भी पप्पू साबित हुए राहुल

SCAM पर ‘अखाड़े’ में भी पप्पू साबित हुए राहुल

692
SHARE

SCAM पर स्कैम हो रहा है। मतलब? मतलब ये कि जैसे ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेरठ की चुनावी रैली में यूपी के संदर्भ में SCAM का मतलब समझाया, जवाब में राहुल गांधी, अखिलेश यादव भी SCAM के नये-नये मतलब लेकर सामने आने लगे। इनका मकसद SCAM के असली मतलब में घालमेल कर यानी घोटाला कर पीएम मोदी के SCAM अटैक के असर को कम करने की कोशिश करना था। पर दांव एक बार फिर उल्टा पड़ गया। SCAM में स्कैम यानी घोटाला खुद उनके ही खिलाफ जाता दिख रहा है।

पीएम मोदी ने SCAM का मतलब बतलाया था- समाजवादी, कांग्रेस, अखिलेश और मायावती। ऐसा कहकर पीएम मोदी ने एक संदेश दे दिया कि भ्रष्टाचार की गंगा इन्हीं से होकर बहती आयी है।

अखिलेश और राहुल बेचैन हो गये। अखिलेश ने कहा कि SCAM मतलब सेव कंट्री फ्रॉम अमित शाह एंड मोदी। एब्रिविएशन तो सही है पर इस वार में धार नहीं है क्योंकि संदेश ही गायब है। यूपी चुनाव में अमित शाह और मोदी से छुटकारा दिलाने के संदेश से उन्हें कोई फायदा होने वाला नही है।

बात राहुल की करें, तो उन्होंने तो SCAM के बहाने पूरा प्रवचन ही दे डाला। ऐसा प्रवचन जिसका पालन करते न कभी वे खुद दिखे, न उनकी पार्टी। ऐसे में दांव उल्टा पड़ गया है। राहुल ने SCAM का मतलब बताया है- Service गरीबों की, Courage सच बोलने का, Ability वादा पूरा करने की, Modesty ये मानने की कि कमी सबमें होती है

क्या बात है राहुलजी। जिस कांग्रेस ने यूपी और देश में सबसे ज्यादा शासन किया हो, वो देश की गरीबी पर बात करेगी, तो जवाब भी उसी को देना होगा। राहुलजी ने ऐसा करके ये मौका दिया है अपने विरोधियों को कि वो पूछे-

वाह री Service गरीबों की !

1. यूपी में 8 करोड़ से ज्यादा गरीब हैं। देश से तुलना करें तो हर चौथा गरीब यूपी में है। कैसी Service दी है कांग्रेस और सपा ने यूपी के गरीबों की कि उनकी तादाद बढ़ती ही चली जा रही है।

2. आपके राज में गरीबों का राशन भी डकार लिया जाता रहा। बिहार में आबादी से ज्यादा राशनकार्ड की बात न भी करें तो अकेले 2006 से लेकर 2009 के बीच 1 करोड़ फर्जी राशनकार्ड सामने आए। इस तरह से की है आपकी सरकार ने गरीबों की सेवा।

3. राहुलजी आप तो कहते हैं कि गरीबी मानसिक अवस्था है। पर आप तो खुद फटा कुर्ता दिखला रहे हैं, खुद को गरीब बता रहे हैं। इस मानसिक अवस्था के साथ आप गरीबों की सेवा कैसे कर पाएंगे?

4. बुंदेलखंड ड्राफ्ट इम्पैक्ट एसेसमेंट सर्वे 2015 की रिपोर्ट देखें तो बुंदेलखंड में 108 गांवों के 53 फीसदी गरीब परिवारों ने 8 महीने तक दाल देखा तक नहीं, 69 फीसदी गरीबों ने दूध तक नहीं पीया। कहां थे राहुलजी, अखिलेशजी! तब कहां थे? क्या किया आपने इन गरीबों के लिए?

सोशल मीडिया पर उठ रहे सवाल भी आपसे यही पूूछ रहे हैं-


राहुलजी, अब नहीं रही Ability वादा पूरा करने की

वादा पूरा करने की एबिलिटी तो अब आपकी रही नहीं। जब थी तब कौन सा वादा पूरा कर दिखलाया? रोजगार दिए कि महंगाई कम कर दी? उल्टे आपकी सरकार के पीएम ने कहा था कि महंगाई बढ़ती है मतलब अर्थव्यवस्था मजबूत होती।

क्या बात करेंगे राहुलजी, Modesty पर

राहुलजी, विनम्रता की बात तो आप ना ही करें तो बेहतर है। आपने अपने ही पीएम के अध्यादेश के चीथड़े उड़ा दिए थे। ये देश के लोगों ने देखा है। इसलिए Modesty की बात आपको शोभा नहीं देती।

राजनीति के अखाड़े में राहुल फिर पप्पू साबित हुए हैं। उस बच्चे की तरह होली खेलती टोली में फंस गये हैं जो अपने ही रंग से दूसरों के हाथों रंगा जाता है।

LEAVE A REPLY