Home चुनावी हलचल अच्छा हुआ बोल दिया, नहीं बोलते तो भूकंप आ जाता

अच्छा हुआ बोल दिया, नहीं बोलते तो भूकंप आ जाता

665
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को वाराणसी में राहुल गांधी के आरोपों का करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि वे आजकल भाषण सीख रहे हैं। जब से उन्होंने बोलना सीखा है मेरी खुशी का ठिकाना नहीं है। पहले पता ही नहीं चलता था कि इस पैकेट के अंदर क्या है। अब पता चल रहा है। मोदी ने कहा कि अच्छा हुआ उन्होंने बोल दिया, नहीं बोलते तो भूकंप आ जाता।

कांग्रेस और विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मुझे अंदाजा नहीं था कि कुछ नेता और राजनीतिक दल हिम्मत के साथ बेईमानों के साथ खड़े हो जाएंगे। पाकिस्तान को घुसपैठियों को भेजना होता है तो फायरिंग शुरू कर देती है। हमारी सेना बिजी हो जाती है, और घुसपैठियों को कवर मिल जाता है। जैसे पाक आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए फायरिंग करता है उसी प्रकार संसद मैं तू-तू मैं-मैं की जा रही है ताकि बेईमान अपना काम कर सके।

भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ चलाए जा रहे नोटबंदी अभियान पर समर्थन के लिए उन्होंने लोगों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें पता है कि इससे जनता को कष्ट हो रहा है। जितना सोचा नहीं, उससे ज्यादा कष्ट झेलना पड़ रहा है। जब देश ईमानदारी के रास्ते पर चलता है तो तकलीफ झेलनी पड़ती है। इस कष्ट के लिए देशवासियों का जितना नमन करें, उतना ही कम है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस गरीबी, अशिक्षा, बिजली की कमी के लिए मुझे दोषी बता रही है, लेकिन कांग्रेस अपना ही 60 साल का रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने रख रही है।

मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि वे कहते हैं कि जिस देश में 50 फीसदी लोग गरीब हों, वहां टेक्नोलॉजी कैसे लागू होगा। लेकिन उन्हें नहीं मालूम की मुझ पर आरोप लगाकर वे अपना रिपोर्ट कार्ड दे रहे हैं। देश में 50 प्रतिशत लोग गरीब है उसके लिए जिम्मेदार कौन है? हमने तो उन्हें गरीब नहीं बना दिया।

उन्होंने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका कहना है कि देश के 50 फीसदी गांवों में अब भी बिजली नहीं है, तो कैशलेस कैसे करोगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या मैंने उन गांवों से बिजली के पोल उखाड़ लिए? उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसी बहाने अपना रिपोर्ट कार्ड लोगों के सामने रख रही है।

राहुल पर उन्होंने कहा कि ये युवा नेता कहते हैं कि जिस देश में 60 फीसदी लोग अनपढ़ हो, वहां मोदी ऑन लाइन बैंकिंग की बात कैसे कर सकता है। लेकिन क्या मैने उन्हें जादू-टोना कर अनपढ़ बना दिया? मोदी ने कहा कि इसी बहाने किसी का काला धन खुल रहा है तो किसी का काला मन खुल रहा है।

उन्होंने युवाओं से कैशलेस अभियान से जुड़ने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मुझे पढ़े-लिखे लोगों की मदद चाहिए, ऑनलाइन बैंकिंग को आगे बढ़ाना है। आप लोगों को इसके बारे में बताइए, उन्हें शिक्षित कीजिए।

प्रधानमंत्री ने परोक्ष रूप से केजरीवाल पर भी निशाना साधते हुए कहा कि सेना के जवान मौत को मुट्ठी में लेकर पाकिस्तान जाते हैं अपना जीवन दांव पर लगाते हैं, लोग इस पर भी सवाल उठाते हैं।

LEAVE A REPLY