Home समाचार मनीष सिसोदिया बने ‘आप’के दागी नंबर 35 – केजरीवाल के गैंग का...

मनीष सिसोदिया बने ‘आप’के दागी नंबर 35 – केजरीवाल के गैंग का पर्दाफाश

1143
SHARE

भ्रष्टाचार, झूठ, फरेब, सेक्स, षडयंत्र, धोखा, दंगा, मारपीट, आत्महत्या के लिए उकसाना, रंगदारी, वसूली, पत्नी से मारपीट…ऐसा कोई आरोप नहीं जो आम आदमी पार्टी के नेताओं पर नहीं लगे। देश से भ्रष्टाचार मिटाने का दंभ भरते हुए राजनीति में कूदे अरविन्द केजरीवाल के टीम जिस रफ्तार से अपराध के दल-दल में फंसती चली गयी, उसका उदाहरण नहीं मिलता। आप इकलौती ऐसी पार्टी है जिसके सबसे ज्यादा नेताओं ने इतने कम समय में जेल का मुंह देखा। आइये गुनाह के दलदल में फंसे केजरीवाल के दागी मंत्रियों, नेताओं का चेहरा आपको दिखाते हैं।

दागी नम्बर 1 – मनीष सिसोदिया

केजरीवाल सरकार में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई जांच चल रही है। आरोप है कि ‘टॉक टु एके’ नामक सोशल मीडिया कैंपेन में हुई अनियमितता में वे शामिल थे। सीबीआई ने सिसोदिया के खिलाफ प्रारंभिक रिपोर्ट दर्ज कर ली है। ये रिपोर्ट खुद दिल्ली सरकार की विजिलेंस की जांच और शिकायत के आधार दर्ज की गयी है।

क्या हैं डिप्टी सीएम पर आरोप?
‘टॉक टु एके’ कार्यक्रम में दिल्ली सरकार के फंड का दुरुपयोग किया।
गोवा और पंजाब में प्रचार के लिए इस राशि का उपयोग हुआ।
आपत्तियों को दरकिनार कर प्रतिष्ठित जनसंपर्क कंपनी के सलाहकार की सेवा ली।
कार्यक्रम के लिए तैयार डेढ़ करोड़ के प्रस्ताव पर अफसरों की आपत्ति की अनदेखी की।

दागी नम्बर 2 – सत्येंद्र जैन की बेटी सौम्या जैन

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन भी मुसीबत में हैं। उनकी बेटी सौम्या जैन के खिलाफ सीबीआई ने प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज की है। मोहल्ला क्लीनिक में नियुक्ति को लेकर ये प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज की गयी है। इस नियुक्ति की जांच के लिए उपराज्यपाल नजीब जंग कार्यालय की ओर से सीबीआई से अनुशंसा की गयी थी।

क्या हैं आरोप?

‘मोहल्ला क्लीनिक’ में सलाहकार का पद लिया
अफसरों की सलाह नजरअंदाज कर हुई थी नियुक्ति
पिता के स्वास्थ्यमंत्री रहते हुए हुई नियुक्ति
सलाहकार रहते अनियमितता की

सौम्या जैन को जुलाई में तब मोहल्ला क्लीनिक का सलाहकार पद तब छोड़ना पड़ा था जब बीजेपी ने ये मसला उठाया कि अपने ही विभाग में स्वास्थ्यमंत्री अपनी बेटी को मोटी सैलरी पर कैसे रख सकते हैं? तब सत्येन्द्र जैन ने सफाई दी थी कि उनकी बेटी बिना किसी सैलरी के वॉलन्टियर के तौर पर जुड़ी थी। जांच के बाद बीजेपी के आरोप की पुष्टि हुई है और सीबीआई ने सौम्या जैन के खिलाफ प्रारंभिक रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

दागी नम्बर 3 – अरविन्द केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर आपराधिक मानहानि का केस है। नवंबर 2016 को जी न्यूज़ के मालिक डॉ सुभाष चंद्रा ने पटियाला हाऊस कोर्ट में आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था। कालाधन मामले में सुभाष चंद्रा अपना नाम बार-बार लिए जाने से नाराज हुए और इससे अपनी छवि और कारोबार पर असर पड़ने का आरोप लगाया।

क्या हैं आरोप?
केजरीवाल पर आपराधिक मानहानि के मामले
कालाधन में नाम लेने पर सुभाष चंद्रा ने किया केस
डीडीसीए घोटाले में जेटली ने भी किया है केस

अरुण जेटली ने भी पटियाला हाऊस कोर्ट में अरविन्द केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करा रखा है। वे डीडीसीए घोटाले में अपना नाम घसीटे जाने से नाराज हैं। सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल की वो याचिका भी खारिज कर दी है जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ आपराधिक मुकदमा निचली अदालत में नहीं चलाने का अनुरोध किया था।

दागी नम्बर 4 – सत्येन्द्र जैन

सौम्या जैन के पिता और दिल्ली सरकार में स्वास्थ्यमंत्री सत्येन्द्र जैन खुद भी हवाला कारोबार के आरोप में फंसे हैं। उन पर हवाला के जरिए करोड़ों रुपए के हेर-फेर का आरोप लगा है। आयकर विभाग ने हवाला कारोबार में उनकी लिप्तता पकड़ी।

क्या है आरोप?
सत्येंद्र जैन ने 16.39 करोड़ रुपया हवाला के जरिए इधर से उधर किया
कोड वर्ड के साथ सत्येंद्र के करीबी ट्रेन से कोलकाता भेजा करते थे नकद
छद्म कंपनियों के नाम से जैन की कंपनी में शेयर खरीदने के बहाने भेजी जाती थी रकम
चेक या आरटीजीएस के माध्यम से होता था पैसों का लेन-देन

सत्येन्द्र जैन और उनकी पत्नी को आयकर विभाग ने पहले भी रुपयों के संदिग्ध लेन-देन के बारे में नोटिस भेजा था। बाद में जांच के बाद परत दर परत खुलने लगी।

दागी नम्बर 5 – असीम अहमद

केजरीवाल सरकार में खाद्य एवं पर्यावरण मंत्री रहे असीम अहमद खुलेआम बिल्डर से मांगते दिखे। मीडिया में खबर आने के बाद जब जवाब देना मुश्किल होने लगा, विरोधी दल सड़क पर उतर गये तो मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने असीम अहमद को बर्खास्त कर दिया।

क्या है आरोप?
बिल्डर से मांगी रिश्वत
5 लाख रिश्वत मांगने की बात ऑडियो में कैद
छापों के दौरान दिल्ली-गाजियाबाद से मिले दस्तावेज
सीबीआई ने दर्ज किया भ्रष्टाचार का केस

मटिया महल से विधायक मंत्री असीम खान पर इसके अलावा भी कई शिकायतें हैं। सीबीआई ने दिल्ली और गाजियाबाद में छापों के दौरान अहम सबूत हासिल होने के खिलाफ असीम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया।

दागी नम्बर 6 – जरनैल सिंह

विधायक जरनैल सिंह वो नेता हैं जो आरोप लगने पर आगे बढ़ते हैं। पार्टी के लोगों ने उन पर पैसे लेकर टिकट बांटने के आरोप लगाए, जिसे उन्होंने कबूल भी किया। जरनैल सिंह ने माना कि पार्टी फंड के लिए एक लाख रुपये स्वीकार किए थे। इसके बावजूद कार्रवाई तो दूर उन्हें पंजाब पार्टी में सह प्रभारी और प्रवक्ता बना दिया गया। उल्टे उन पर आरोप लगाने वाले 9 नेताओं को पार्टी से निकाल दिया गया।क्या हैं आरोप?
पंजाब में पैसे लेकर बांटा विधानसभा का टिकट
एक लाख रुपये लेने की बात कबूल की

लांबी में मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ आप उम्मीदवार जरनैल सिंह आम आदमी पार्टी में शामिल होने से पहले पत्रकार थे। सिख दंगा पीड़ितों के लिए न्याय मांगते हुए पी चिदंबरम की ओर प्रेस कान्फ्रेन्स में जूता उछालकर जरनैल चर्चा में आए थे।

दागी नम्बर 7 – संजय सिंह

केजरीवाल के विश्वस्त और नजदीकी नेताओं में एक हैं संजय सिंह, जिन पर पंजाब में पैसे लेकर टिकट बेचने के आरोप लगे। पंजाब में आप के पूर्व संयोजक हरदीप सिंह किंगरा ने एक ऑडियो जारी कर संजय सिंह व एक अन्य नेता पर ये आरोप लगाया था। इसके अलावा माघी फंड के 5 लाख रुपये रख लेने का आरोप भी संजय सिंह पर लगा। इसके बाद खूब हंगामा बरपा। मगर, संजय सिंह के खिलाफ किसी आंतरिक लोकपाल ने कोई जांच नहीं की। उल्टे मामला उठाने वाले नेताओं को पार्टी से निकाल दिया गया।

क्या हैं आरोप?
पंजाब में पार्टी टिकट बेचने का आरोप
5-5 लाख रुपये में टिकट बेचने के आरोप
बातचीत का ऑडियो जारी कर लगाया इल्जाम
माघी के कैश फंड से 5 लाख रख लेने का आरोप
पार्टी फंड के दुरुपयोग का आरोप

संजय सिंह पर रैलियों में मिले चंदे की भी हेराफेरी के आरोप लगे लेकिन उन आरोपों की पार्टी में सुनवाई तक नहीं हुई।

दागी नम्बर 8 – दुर्गेश पाठक

दुर्गेश पाठक का नाम तब चर्चा में आया जब संजय सिंह के साथ उन पर भी पैसे लेने के आरोप लगे। एक ऑडियो स्टिंग जारी कर आप के बागी नेता हरदीप सिंह किंगरा ने ये आरोप लगाए थे। स्टिंग में अमरीश त्रिखा और परमजीत ढिल्लो के बीच बातचीत दिखायी गयी जिसमें दुर्गेश से मुलाकात केलिए त्रिखा 5 से 10 लाख रुपये की मांग करते दिखे।

क्या है आरोप?
मुलाकात के बदले लाख-लाख रुपये वसूलने का आरोप
ऑडियो स्टिंग जारी कर आरोप लगाया
पंजाब के दौरे पर साथ रखते हुए ‘नेता बनाने’ का आरोप
‘नेता बनाने’ के एवज में मोटी रकम लेने के इल्जाम

दागी नम्बर 9 – भगवंत मान

संगरूर से आप सांसद भगवंत मान ने जुलाई में संसद भवन परिसर के सुरक्षा इंतजाम का वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया। देश के लिए खतरनाक इस कार्रवाईय की जांच के लिए संसदीय समिति बनी। समिति की सिफारिश पर सजा के तौर पर चेतावनी देते हुए स्पीकर ने भगवंत मान को एक दिन के लिए संसद से निलंबित कर दिया। इसके अलावा जांच होने तक लोकसभा की कार्यवाही से दूर रहने के स्पीकर के आदेश को भी सजा का हिस्सा माना गया। इसके अलावा भगवंत मान पर शराब पीकर संसद में आने उनके ही सहयोगी सांसद लगा चुके हैं।

क्या है आरोप?
संसद भवन परिसर में सुरक्षा का वीडियो वायरल किया
संसदीय समिति ने आरोप को गम्भीर माना
स्पीकर ने 1 दिन के लिए निलंबित किया
नशे की हालत में संसद जाने का भी है आरोप

दागी नम्बर 10 – संदीप कुमार

महिला बाल कल्याण मंत्री थे संदीप कुमार। उनका दावा था कि हर दिन सुबह अपनी पत्नी का पैर छूते थे। केजरीवाल मंत्रिपरिषद के इस चमकते चेहरे ने भ्रष्ट आचरण का ऐसा नमूना देश के सामने रखा कि कोई भी शर्मा जाए। लेकिन नहीं, आम आदमी पार्टी थोड़ी जुदा है। तभी तो राशन कार्ड बनाने आयी महिला पर दबाव डालकर तैयार इस सेक्स सीडी पर आप नेता आशुतोष ने इसे आपसी रजामंदी वाला संबंध बताकर पूछा था- इसमें गलत क्या है? जवाब उन्हीं की पार्टी ने दिया जब चेहरा छिपाने से बचने के लिए मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने संदीप कुमार को मंत्रिपरिषद से बर्खास्त कर दिया। ऐसा उन्होंने तब किया जब बार-बार टीवी पर सेक्स स्कैंडल आने से पार्टी और सरकार के लिए कोई दूसरा रास्ता नहीं रह गया था।

क्या है आरोप?
मंत्री पद के दुरुपयोग का आरोप
महिला से सेक्स संबंध बनाते सीडी वायरल
राशन कार्ड बनाने पहुंची थी महिला
लालच देकर सेक्स का आरोप

दागी नम्बर 11 – जितेन्द्र तोमर

आम आदमी पार्टी की सरकार भले ही ईमानदारी की सर्टिफिकेट बांटने का दम्भ भरती हो, लेकिन खुद उनके कानून मंत्री की डिग्री फर्जी निकली। जालसाजी कर उन्होंने डिग्री हासिल की थी। इस आरोप में दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। केजरीवाल भी लम्बे समय तक तोमर के साथ खड़े रहे। कहते रहे कि आरोप अभी साबित नहीं हुआ है। विवि ने तोमर की डिग्री को गलत बताया है। तोमर की डिग्री का पूरा मामला अब भी दिल्ली हाईकोर्ट में चल रहा है।

क्या है आरोप?
फर्जी कानून की डिग्री रखने का आरोप
धोखाधड़ी और जालसाजी के आरोप
आपराधिक षडयंत्र का भी केस दर्ज

दागी नम्बर 12 – सोमनाथ भारती

सोमनाथ भारती पर कानून मंत्री रहते अपनी पत्नी के साथ मारपीट करने, उन्हें कुत्ते से कटवाने के आरोप लगे। वहीं, आम आदमी पार्टी ने कभी एक महिला की आवाज़ नहीं सुनी। महिला आयोग के बुलाने पर सोमनाथ ने वहां पहुंचना जरूरी नहीं समझा। आखिरकार पत्नी ने केस दर्ज कराया।

क्या हैं आरोप?
पत्नी के साथ मारपीट, कुत्ते से कटवाने के आरोप
एम्स में जबरन घुसकर तोड़फोड़ का आरोप
खिड़की एक्सटेंशन में विदेशी महिलाओं के घर जबरन घुसने का आरोप

सोमनाथ भारती पर एम्स अस्पताल में घुसकर तोड़फोड़ करने का आरोप भी लगा, जिस बारे में एम्स के डॉक्टरों ने पुलिस को लिखित शिकायत दी। खिड़की एक्सटेंशन में विदेशी महिलाओं ने आरोप लगाए कि सोमनाथ भारती ने वहां पहुंच कर जबरन घर में घुसने की कोशिश की। सोमनाथ भारती की डिग्री को लेकर भी सवाल उठे।

दागी नम्बर 13 – राखी बिड़लान

अक्सर विवादों में रहीं राखी बिड़लान पर सबसे बड़ा दाग तब लगा जब उनके पिता भूपेन्द्र और आप नेता राम प्रताप गोयल के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज हुआ। दक्षिण दिल्ली के रोहिणी में ये मामला दर्ज कराया गया। इन पर निगम चुनाव में टिकट का झांसा देकर सामूहिक बलात्कार का आरोप है।क्या हैं आरोप?
स्ट्रीट लाइट में घोटाले का आरोप
आरटीआई के हवाले से आरोप
पिता और सहयोगी नेता पर गैंगरेप का आरोप

राखी बिड़लान भ्रष्टाचार के भी आरोप लगे। आरटीआई के हवाले से दावा करते हुए बीजेपी ने आरोप लगाया कि मंगोलपुरी में 15 हजार की सोलर स्ट्रीट लाइट को एक लाख रुपये और 10 हजार में लगने वाली सीसीटीवी कैमरे पर 6 लाख रुपये खर्च करने का आरोप लगाया था।

दागी नम्बर 14 – अमानतुल्ला

केजरीवाल सेना के सिपाही ओखला से विधायक अमानतुल्ला पर उनके साले की पूर्व पत्नी ने यौन शोषण का आरोप लगाया। पीड़ित महिला का आरोप है कि अमानतुल्ला शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डाला करता था। पुलिस ने इस मामले में विधायक से पहले पूछताछ की थी। बाद में गिरफ्तार कर लिया। महिला ने विधायक पर दहेज उत्पीड़न का भी आरोप लगाया। महिला का विधायक के साले से तलाक हो चुका है।

क्या है आरोप?
साले की पत्नी ने लगाया यौनशोषण का आरोप
‘शारीरिक संबंध के लिए डाला करता था दबाव’
महिला ने दहेज उत्पीड़न का भी लगाया आरोप

10 सितम्बर 2016 को जामिया नगर थाने में दर्ज करायी गयी प्राथमिकी के अनुसार विधायक शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डाल रहे थे। महिला ने विधायक पर हमले की कोशिश, शील हरण के लिए बल प्रयोग, आपराधिक धमकी देने, महिला को निर्दयतापूर्वक वश में करने समेत आपराधिक षडयंत्र रचने के आरोप लगाए हैं।

दागी नम्बर 15 – दिनेश मोहनिया

तीसरे कानून मंत्री हैं दिनेश मोहनिया जो कानून की जद में आ गये। महिला ने बदसलूकी का आरोप लगाया। दिल्ली पुलिस ने दिनेश मोहनिया के खिलाफ धारा 354 और धारा 354बी के तहत केस दर्ज किया। पानी की शिकायत लेकर नूर बानो विधायक के पास पहुंची थी, जब उनके साथ बदसलूकी की गयी। मोहनिया के खिलाफ एक बुजुर्ग को थप्पड़ मारने का भी आरोप लगा। उस मामले में भी एफआईआर दर्ज हुई।

क्या है आरोप?
महिला के साथ बदसलूकी का आरोप
पानी के लिए विधायक के पास गयी थी महिला
गैर जमानती धाराओं में केस दर्ज
बुजुर्ग को भी थप्पड़ मारने के आरोप लगे

दागी नम्बर 16 – धर्मेन्द्र कोली

दिल्ली के सीमापुरी से आम आदमी पार्टी विधायक धर्मेन्द्र कोली पर पूर्व कांग्रेस विधायक के घर में घुसकर छेड़छाड़ और दंगा करने के आरोप हैं। कोली के खिलाफ ये आरोप कांग्रेस नेता वीर सिंह धींघन ने लगाए हैं।

क्या हैं आरोप?
जीत के जश्न के दौरान हंगामे का आरोप
कांग्रेस नेता के घर घुसकर छेड़छाड़ का आरोप
घर के सामने बोतलें फोड़ने, पटाखे छोड़ने के इल्जाम
छेड़छाड़ का एक और आरोप है कोली पर

कांग्रेस नेता का कहना है कि विजय जुलूस के दौरान आप विधायक ने उनके घर के सामने शराब की बातलें फोड़ीं और घर में पटाखों की लड़ी लगा लीं। इस दौरान विधायक ने उनकी पत्नी के साथ छेड़छाड़ भी किया। हालांकि इन आरोपों को धर्मेन्द्र कोली और उनकी पार्टी ने कांग्रेस की साजिश करार दिया।

दागी नम्बर 17 – रमन स्वामी

आप विधायक रमन स्वामी पर संगीन इल्जाम लगा कि उन्होंने एक शादीशुदा महिला के साथ बलात्कार किया। महिला दोस्ती के बाद नौकरी दिलाने का झांसा देकर बलात्कार का आरोप लगाया।

क्या है आरोप?
महिला से बलात्कार का आरोप
नौकरी का झांसा देकर रेप का आरोप
किसी को नहीं बताने की दी थी धमकी

मेडिकल परीक्षण में पुष्टि के बाद पुलिस ने विधायक रमन स्वामी को गिरफ्तार कर लिया गया। दिल्ली पुलिस के सामने महिला ने आरोप लगाया कि दक्षिण दिल्ली के हरिकेश नगर में उसकी मुलाकात रमन स्वामी से हुई थी। जान पहचान के बाद रमन स्वामी ने नौकरी लगाने की सिफारिश की। जब मिलने पहुंची तो कार में बिठाकर वह उसे एक मकान में ले गये जहां छत पर ले जाकर बलात्कार किया।

दागी नम्बर 18 – राम विलास गोयल

स्पीकर राम विलास गोयल और उनके बेटे सुमित गोयल समेत 7 लोगों के खिलाफ पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। उन पर दंगा फैलाने और मारपीट के आरोप हैं। विधानसभा चुनाव से एक दिन पहले 6 फरवरी 2015 को ये घटना घटी थी।

क्या है आरोप?
दंगा फैलाने, मारपीट का आरोप
समर्थकों के साथ जबरन घर में घुसे
बीजेपी नेता के घर घुसकर मचाया हंगामा

आप नेता राम विलास गोयल और उनके बेटे समर्थकों के साथ विवेक विहार इलाके में बीजेपी नेता मनीष घई के घर पहुंच गये। उनका दावा था कि घर में बांटने के लिए शराब रखी गयी है। ये लोग दरलवाजा तोड़कर घर घुसे और घई के ड्राइवर के साथ मारपीट की। तब पुलिस ने सारा सामान जब्त कर रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेज दिया था लेकिन घर में शराब नहीं मिली थी।

दागी नम्बर 19 – अलका लांबा

नशीले पदार्थों के विरोध में चलाए गये अभियान के दौरान अलका जख्मी हो गयी थीं। उन्होंने कहा था कि उन पर हमला कराया गया। पर, अगले ही दिन विधायक अलका लांबा के खिलाफ ये शिकायत दर्ज करायी गयी कि वो खुद और उनके समर्थक चांदनी चौक इलाके में जबरन दुकानों में तोड़फोड़ कर रही थीं।

क्या है आरोप?
दुकान में घुसकर तोड़फोड़ का आरोप
वीडियो में कैद हुई घटना
समर्थक भी कर रहे थे हंगामा

इस दौरान शूट किया गया वीडियो भी सामने आया जिसमें दिख रहा था कि अलका एक दुकान के काउंटर की तरफ बढ़ रही हैं और बिलिंग मशीन को गिरा देती हैं। उनका एकसाथी मेज से हर चीज नीचे फेंकता दिख रहा था। दुकानदार की शिकायत पर कश्मीरी गेट पुलिस थाने में इसी वीडियो के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया। ऐसे में ये सवाल उठे कि अलका पर हमला हुआ या उस रात मारपीट की घटना हुई थी जिस दौरान उन्हें चोट लगी।

दागी नम्बर 20 – अखिलेश त्रिपाठी

2013 में दंगा भड़काने के मामले में अदालत ने आप विधायक अखिलेश त्रिपाठी को जेल भेज दिया। पेशी के लिए बार-बार बुलाए जाने के बावजूद अखिलेश एक बार भी कोर्ट पेश नहीं हुए थे। संत कबीर नगर में रहने वाले अखिलेश की गिरफ्तारी 2015 में तब हुई जब आप का स्थापना दिवस चल रहा था।

क्या है मामला?
2013 दंगा मामले में केस दर्ज
दर्ज हैं अलग-अलग कई मामले
बलवा करने का आरोप
फर्जी डिग्री मामले में भी फंस चुके हैं अखिलेश

अखिलेश त्रिपाठी के खिलाफ फर्जी डिग्री का मामला भी चल रहा है।

दागी नम्बर 21 – गुलाब सिंह

दिल्ली के मटियाला से विधायक सूरत सिंह को गुजरात से 16 अक्टूबर 2016 को गिरफ्तार किया गया। उन पर जबरन धन वसूली का आरोप है। एक बिल्डर ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी। इस मामले में संयुक्त जांच में सहयोग नहीं करने के बाद उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था।

क्या हैं आरोप?
जबरन धन वसूली का आरोप
संयुक्त जांच में सहयोग नहीं किया
एक बिल्डर ने लगाया था आरोप

गिरफ्तारी के बाद केजरीवाल ने इस मामले को राजनीतिक रंग देने की कोशिश की और ट्वीट किये। विधायक को गिरफ्तार तब किया गया जब वे केजरीवाल के साथ गुजरात दौरे पर थे।

दागी नम्बर 22 – संजीव झा

बुराड़ी से विधायक संजीव झा के साथ हजार से ज्यादा लोग इकट्ठा हो गये थे जिन्होने बुराड़ी थाना परिसर में हंगामा काटा। इस दौरान उनके समर्थकों ने पुलिस पर पथराव भी किया और जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज किया। घटना में 6 आप समर्थक और 9 पुलिसकर्मी घायल हुए थे। संजीव झा पर समर्थकों के साथ घुसकर थाने में दबंगई करने का आरोप है।

क्या है आरोप?
दंगा करने, भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने का आरोप
गैर कानूनी रूप से जमा होने , लोक सेवक के काम में बाधा डालने का आरोप भी लगा
इरादतन नुकसान पहुंचाने और धमकी देने संबंधी धाराएं भी दर्ज

दागी नम्बर 23 – मनोज कुमार

समाज और देश बदलने निकले आप विधायक से अपना घर ही नहीं सम्भल रहा। पत्नी दो साल से मायके में है लेकिन मसला सुलझाने तक की जरूरत विधायक मनोज कुमार ने कभी नहीं समझी। आखिरकार कोंडली से विधायक मनोज कुमार के खिलाफ उनकी पत्नी ने ही घरेलू हिंसा का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करायी। दिल्ली महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया। महिला का कहना है कि ससुरालवालों के अत्याचार से तंग आकर उसने घर छोड़ दिया था। दो साल से वह अपने मायके में रह रही है। जमीन की धोखाधड़ी के मामले में भी जेल जा चुके हैं मनोज कुमार।

क्या हैं आरोप?
घरेलू हिंसा के आरोप
जमीन की धोखाधड़ी का एक और मामला

दागी नम्बर 24 – शरद चौहान

आम आदमी पार्टी के विधायक शरद चौहान को इसलिए जेल जाना पड़ा क्योंकि उनकी ही पार्टी की कार्यकर्ता ने उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया था। मृत्युपूर्व अपने बयान में सोनी नाम की आप कार्यकर्ता ने ये आरोप लगाया। सोनी ने मरने से पहले विधायक के सहयोगी रमेश भारद्वाज को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया।

क्या है आरोप?
विधायक के करीबी ने किया यौन शोषण
अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप
मृत्युपूर्व बयान में लड़की ने मौत का जिम्मेदार बताया

रमेश पर उसने जून 2016 में यौन शोषण का भी आरोप लगाया था। जमानत पर रिहा हो जाने के बाद से सोनी डिप्रेशन में थी। एक वीडियो रिकॉर्डिंग में भारद्वाजड पर गंभीर आरोप लगाते हुए सोनी ने कहा कि भारद्वाज ने कहा था कि अगर वह पार्टी में उभरना चाहती है तो उसे समझौता करना होगा। सोनी विधायक शरद चौहान पर रमेश भारद्वाज को संरक्षण देने का आरोप लगाया।

दागी नम्बर 25 – नरेश यादव

आप विधायक नरेश यादव को दिल्ली के वसंत कुंज में 23 जुलाई 2016 को गिरफ्तार किया। उन्हें पंजाब के मालेरकोटला की अदालत में पेश किया गया जहां से उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। महरौली से विधायक नरेश पर अलग-अलग धाराओ में मामले दर्ज हैं।

क्या है आरोप?
धर्मग्रंथ के अपमान का आरोप
धार्मिक भावनाएं भड़काने की कोशिश
हिंसा भड़काने के आरोप

धर्मग्रंथ के अपमान मामले में गिरफ्तार आरोपी विजय कुमार ने दावा किया था कि आप विधायक के कहने पर उसने ऐसा किया था, जिसके बाद नरेश यादव पर मामला दर्ज किया गया। उन पर धर्मविशेष के लोगों की भावना भड़काने और पंजाब के मालेरकोटला में हिंसा भड़काने का आरोप है।

दागी नम्बर 26 – प्रकाश जारवाल

साउथ दिल्ली के देवली से आप विधायक प्रकाश जारवाल पर एक महिला ने बदसलूकी और छेड़खानी का आरोप लगाया। पीड़ित महिला ओम लता गिल ने कहा कि 2 जून 2016 को वह पानी के मसले को लेकर दिल्ली जलबोर्ड के दफ्तर गयी थी। वहीं विधायक के साथियों ने उससे बुरा बर्ताव किया और जान से मारने की धमकी दी। घटनास्थल पर मौजूद विधायक प्रकाश जारवाल ने उन्हें धक्का मारते हुए बाहर निकाला और दुर्व्यवहार किया। ग्रे

क्या है आरोप?
महिला से बदसलूकी और छेड़छाड़
समर्थकों से पिटवाने का आरोप
जलबोर्ड के दफ्तर में धक्का देकर बाहर निकाला

ग्रेटर कैलास पुलिस ने विधायक के खिलाफ 6 जुलाई 2016 को अलग-अलग धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। महिला ने विधायक के खिलाफ उपराज्यपाल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर से भी इंसाफ की फरियाद की।

दागी नम्बर 27 – राजेश ऋषि

आम आदमी पार्टी के विधायक राजेश ऋषि का नाम सुसाइड नोट में लिखकर एक महिला ने आत्महत्या की कोशिश की। घटना 15 जुलाई 2016 की है। महिला ने पुलिस के पास दर्ज शिकायत में भी विधायक का नाम लिया। उसने विधायक राजेश ऋषि और उनके एक साथी पर परेशान करने का आरोप लगाया। वहीं एक अन्य महिला ने सुसाइड करने वाली महिला के पति पर बलात्कार का आरोप लगाया।

क्या है आरोप?
सुसाइड नोट में विधायक का नाम
साथी के साथ मिलकर परेशान करने का आरोप

अदालत ने राजेश ऋषि की अग्रिम जमानत याचिका भी खारिज कर दी जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

दागी नम्बर 28 – करतार सिंह तंवर

छतरपुर से आप विधायक करतार सिंह तंवर के घर इनकम टैक्स ने रेड डाली। करतार सिंह के फतेहपुर बेरी स्थित फार्म हाउस पर भी छापा पड़ा। 26 जुलाई 2016 को ये छापेमारी हुई। उन पर आय से अधिक सम्पत्ति का आरोप है। आप विधायक पहले दिल्ली जल बोर्ड में इंजीनियर थे। वीआरएस लेकर राजनीति में आए और प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त में भी करोड़ों की कमाई की। लोकायुक्त के पास करतार सिंह के खिलाफ कई शिकायते हैं।

क्या हैं आरोप?
आय से अधिक संपत्ति के आरोप
प्रॉपर्टी डीलिंग से करोड़ों कमाए
लोकायुक्त में हैं कई शिकायतें

दागी नम्बर 29 – महेन्द्र यादव

दिल्ली के विकासपुरी से आम आदमी पार्टी के विधायक महेन्द्र यादव को उनके सहयोगी रोशन पंडित के साथ पुलिस ने गिरफ्तार किया। उन पर दंगा फसाद, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और सरकारी कर्मचारी के कामकाज में बाधा डालने के आरोप है।

सौजन्य- जी न्यूज़

क्या है आरोप?
भीड़ को उकसाने, दंगा फसाद का आरोप
सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप
सरकारी काम में बाधा, लोकसेवकों को चोट पहुंचाई

बच्ची से दुष्कर्म के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी होने के बावजूद भीड़ को आप विधायक भड़का रहे थे। पुलिस ने अलग-अलग धाराओं में उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। विधायक महेन्द्र को कोर्ट से जमानत मिल गयी और वे जेल से बाहर आ गये।

दागी नम्बर 30 – सुरिंदर सिंह

छावनी से आप विधायक सुरिंदर सिंह और उनके दो सहयोगियों ड्राइवर पंकज व असिस्टेंट प्रवीण को 30 हजार रुपये के निजी बॉन्ड भरने पड़े और उनती ही राशि का मुचलका। तब ये रिहा हो सके। इन पर रुतबे का दुरुपयोग करने और नयी दिल्ली नगरपालिका परिषद के बेलदार मुकेश के साथ मारपीट करने का आरोप है। इसदौरान जातिसूचक टिप्पणियां करने का भी आप नेता पर आरोप लगा। घटना 4 अगस्त 2015 की है जब तुगलकर रोड इलाके में एनडीएमसी कर्मचारी से मारपीट और दुर्व्यवहार का मामला दर्ज किया गया।क्या है आरोप?
एनडीएमसी कर्मचारी से मारपीट की
दुर्व्यवहार का आरोप लगाया
जातिसूचक टिप्पणियों का आरोप

दागी नम्बर 31 – जगदीप सिंह

आम आदमी पार्टी के विधायक जगदीप सिंह पर एक ठेकेदार से मारपीट का आरोप लगा। 30 मई 2016 को इस मामले में उन्हें जमानत लेनी पड़ी। पुलिस के पास दर्ज शिकायत में कहा गया है कि शराब पीकर विधायक ने ट्रक को बिना वजह रोका, ड्रक को डायवर्ट कराया, उनके साथ मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। 30 मई को हुई इस घटना की शुरुआती जांच के बाद हरिनगर पुलिस ने धारा 323, 341 और 506 के तहत विधायक जगदीप को गिरफ्तार कर लिया।

क्या है आरोप?
शराब पीकर हंगामा
ट्रक रोकने गाली-गलौच का आरोप
मारपीट व जान से मारने की धमकी दी

दागी नम्बर 32 – फतेह सिंह

गोकुलपुरी से आप विधायक चौधरी फतेह सिंह पर शपथ पत्र में झूठी जानकारी देने का आरोप है। 2008 और 2015 विधानसभा चुनावों में उन्होंने चुनाव आयोग को जानकारी दी उसमें उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता छिपाई।

क्या है आरोप?
हलफनामे में झूठ बोला
शैक्षणिक प्रमाण पत्र को चुनौती
2008 और 2015 चुनाव में दी गलत जानकारी

यूपी बोर्ड से 12वीं और चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से बीए पास करने की बात शपथ पत्र में विधायक ने बता रखी थी। जबकि याचिकाकर्ता ने दावा किया है कि उन्होंने वहां से शिक्षा नहीं प्राप्त की। इस बाबत जो भी दस्तावेज दिए गये हैं उसके फर्जी होने का दावा भी शिकायतकर्ताओं ने किया। अदालत ने इस मामले में पूरी रिपोर्ट पेश करने का निर्देश नंद नगरी पुलिस को दिया।

दागी नम्बर 33 – ऋतुराज गोविंद

किरारी से आम आदमी विधायक ऋतुराज गोविंद पर छठ घाट पर हंगामा करने का आरोप लगा। बिना इजाजत छठ पूजा समारोह करने पर विधायक अड़ गये जबकि इलाके में धारा 144 लागू थी। पुलिस के मुताबिक किराड़ी के निठारी गांव में एक तालाब है जहां छठ पूजा की इजाजत नहीं दी गयी थी। पर, विधायक और उनके समर्थक वहीं पूजा करने पर अड़ गये। पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन विधायक के समर्थक पुलिस से भी उलझ गये और हंगामा करने लगे। आखिरकार पुलिस ने आम आदमी पार्टी विधायक ऋतुराज को गिरफ्तार कर लिया।

क्या है आरोप?

बिना इजाजत छठ पूजा समारोह पर अड़े
धारा 144 का उल्लंघन किया
पुलिस को ड्यूटी में बाधा डाली
समर्थकों के साथ हंगामा किया

दागी नम्बर 34 – नरेश बाल्यान

आप विधायक नरेश बाल्यान को आरडब्लूयए प्रेसिडेन्ट पर हमला करने के आरोप में गिरफ्तार किया। 14 अक्टूबर 2015 को उन्हें पूछताछ के लिए पुलिस ने बुलाया और फिर गिरफ्तार कर लिया। बाद में उन्हें जमानत पर छोड़ दिया।

सौजन्य- इंडिया न्यूज़

क्या है आरोप?
RWA की बैठक में मारपीट का आरोप
समर्थकों के साथ हंगामा किया
गाली-गलौच और धमकी दी

विधायक पर आरोप है कि मोहन गार्डन क्षेत्र में सड़क और नाली के निर्माण कार्य का उदघाटन करने पहुंचे थे जहां उन्होंने दशहरा समारोह को लेकर चल रही आरडब्ल्यू की बैठक में हंगामा किया। इसदौरान थप्पड़ मारने और गाली गलौच करने का आरोप लगाया। हेनरी ने अपनी शिकायत में कहा कि विधायक ये पूछ रहे थे कि मेरे बुलाने के बाद भी तुम क्यों नहीं आए। इस दौरान उन्होंने आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल भी किया।

दागी नम्बर 35 – सहीराम पहलवान

तुगलकाबाद से आप विधायक सहीराम पहलवान के खिलाफ युवक की पिटाई करने पर मामला दर्ज किया गया। पीड़ित योगेश विधूड़ी ने दर्ज शिकायत में आरोप लगाया कि विधायक और उनके भाई व सहयोगी ललित और सुभाष ने मिलकर उन्हें पीटा है।

क्या है आरोप?
युवक की पिटाई का आरोप
समर्थकों के साथ पिटाई की
जान से मारने की धमकी दी

योगेश का कहना है कि उसका दोष यही था कि 3 महीने पहले टूटी गलियों को बनवाने के लिए उन्होंने विधायर सहीराम से कहा था। उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। फंड के बारे में पूछने पर उन्हें जान से मारने की धमकी दी।

LEAVE A REPLY