Home समाचार सोशल मीडिया पर वायरल बजट चालीसा

सोशल मीडिया पर वायरल बजट चालीसा

518
SHARE

वित्तमंत्री अरुण जेटली के बजट पेश करने के बाद सोशल मीडिया में एक बजट चालीसा वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे इस मैसेज में वैसे इस चालीसा के लिखने वाले का नाम नहीं है। आप भी इस बजट चालीसा का आनंद लीजिए।

अर्थ जगत के आकड़े, और सकल व्यापार
आया मोदी का बजट, पढ़ें यहां पर सार
भाषण के सब आकड़े, और तथ्य का ज्ञान
बजट चालीसा में सभी, पढ़ें लगाकर ध्यान

चौपाई

वित्तमंतरी बजट बनावा, मोदी को यह अति मन भावा
कहा बजट है जन हितकारी, सुख पाएगी जनता सारी
जबै जेटली सदन में आए, विपक्षी सब शोर मचाए
अरुण सबै अनसुना कीन्हा, बजट तुरत सुरू कर दीन्हा
अब निवेश की डेढ़ लाख सीमा, जिन मा आवत हैं कई बीमा
पांच लाख तक टैक्स घटावा, घट कै पांच प्रतिशत तक आवा
तीन लाख अधिक कैश न दीजै, केवल डिजिटल पेमेंट कीजै
राजनीति दल विचलित हुइहैं, अब केवल दुई हजार तक पइहैं
अधिक देन पर नाम बताना, यह प्रवधान जरूरी जाना
कीन्ह चंदा पर सर्जिकल स्ट्राइक, आम लोग सब कीन्हैं लाइक
राजनीति दल आयकर भरिहैं, जेउ न भरिहैं, वे न तरिहैं
रेल बजट भी अति लघु कीन्हा, पांच मिनट में सब पढ़ दीन्हा
छोट उद्यमी को कर राहत, बना स्टेंडअप इंडिया माहत
और अधिक प्रवधान बनावा, मनरेगा का मान बढ़ावा
अस भीम ऐप बढ़ावा जाइ, अब भुगतान हियै से आई
अर्थ अपराधी बच न पइहैं, कठिन नियम से पकड़ा जइहैं
चैक बाउंस का संकट चीन्हा, इह पर नियम कठिन कर दीन्हा
ले करि सबसे कई सुझाव, दीन्हा कैशबैक प्रस्ताव
हरसित भए सकल ब्यौपारी, ऐसी नींव बजट में डारी
20 लाख मशीन लग जइहैं, आधार कार्ड से पेमेंट पइहैं
डिजिटल लेनदेन बल चीन्हा, ढाई हज़ार करोड़ लक्ष्य लीन्हा
देखि मैट्रो की अति उन्नति, बनिहै अब मैट्रो रेल नीति
ऑटो क्षेत्र में एफडीआई, अब 90 प्रतिशत हुइ जाई
न लगिहै निवेश की लाइन, विदेशी निवेश करिहैं ऑनलाइन
पीपीपी पर चलिहैं एयरपोर्ट, डाकघरन मा बनिहैं पासपोर्ट
जनहित जानि बढ़ाइन रेल, चलिहैं धर्म, पर्यटन मेल
64 हजार करोड़ दइ दीन्हा, अउर बढ़ाय राजमार्ग दीन्हा
एक लाख करोड़ धन आवा, रेल सुरक्षा तुरत बढ़ावा
टीबी मुक्त बनइहैं भारत, चेचक से जन पइहैं राहत
और बढ़ा व्यावसायिक उपक्रम, 350 ऑनलाइन पाठ्यक्रम
मोदी एक करोड़ घर दइहैं, गृह विहीन जन राहत पइहैं
कर के त्वरित बिजली संचार, सकल गांव मिटिहैं अंधकार
बढ़िहै अब गरीबी की रेखा, एक करोड़ जन हित विशेषा
अब बढ़ाय कर राहत सीमा, 40 प्रतिशत है फसल बीमा
कठिन नियम की करि तैयारी, करिहैं बंद काला बाजारी
कृषि क्षेत्र को ऊंचा दरजा, अब 10लाख करोड़ का करजा
एक बजट से सब हित होई, रहें दुखी न मानुष कोई
संसद में सब जन हरसाए, मोदी को भी अति मन भाए
प्रधानमंत्री करत बखाना, आम लोग अरु अति बिद्वाना
विस्तृत विवरण जे नर चहिहैं, हमसे तत्पर समर्पक करिहैं

LEAVE A REPLY