Home समाचार कोरोना के खिलाफ जंग में विश्व के 87 प्रधानमंत्रियों पर भारी पड़े...

कोरोना के खिलाफ जंग में विश्व के 87 प्रधानमंत्रियों पर भारी पड़े पीएम मोदी

1105
SHARE

जब अपने घर में संकट हो तो फिर हर तरफ मुश्किल ही मुश्किल नजर आती है, लेकिन जब हम दूसरों की स्थिति पर नजर डालते हैं तो पता चलता है कि हम कहां पर खड़े हैं। आज भारत एक वैश्विक महामारी का सामना कर रहा है। ऐसा कोई घर नहीं, जिसके अपने या परिचित या फिर रिश्तेदार बीमार न हों। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधना आसान है। लेकिन जब हम पूरी दुनिया से भारत की तुलना करें तो पता चलेगा कि हमारा देश कहां खड़ा है। हम अपने परिवार की चिंता में प्रधानमंत्री मोदी को कोसने लगते हैं, लेकिन जरा सोचिए जो इंसान अपना परिवार छोड़कर देश के 130 करोड़ लोगों को परिवार मानकर काम कर रहा हो, उसकी स्थिति क्या होगी। जाहिर है कोरोना के खिलाफ जंग में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने असाधारण साहस और नेतृत्व क्षमता का परिचय दिया है।

पीएम मोदी ने भारत को लैब्स, वेंटिलेटर्स, मास्क, पीपीई किट के निर्माण में आत्मनिर्भर बनाया। पीएम मोदी ने दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू कर विश्व को अचंभित कर दिया। अबतक 17.35 करोड़ से अधिक लोगों को टीका लगाया जा चुका है। वहीं दूसरे देशों को दवाइयां और वैक्सीन भेजकर मानवता की रक्षा में दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की। आज पूरा विश्व भारत की इसी सहृदया की वजह से आगे बढ़कर भारत का साथ दे रहा है। हमने आपके लिए एक रिसर्च किया है, इससे पता चलता है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जितना काम पीएम मोदी ने किया है, उतना उत्तरी अमेरिका और यूरोप के 87 देशों के प्रधानमंत्रियों और राष्ट्राध्यक्षों ने मिलकर नहीं किया है। इसका नतीजा है कि आज भारत तुलनात्मक दृष्टि से बेहतर स्थिति में है।

 

Leave a Reply