Home कोरोना वायरस आत्मनिर्भर भारत अभियान का आह्वान: देखिए प्रधानमंत्री मोदी ने कब-कब किया देश...

आत्मनिर्भर भारत अभियान का आह्वान: देखिए प्रधानमंत्री मोदी ने कब-कब किया देश को संबोधित

256
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना संकट के बीच 12 मई को पांचवीं बार देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है- “आत्मनिर्भर भारत”। देश के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि ये आर्थिक पैकेज ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा। उन्होंने कहा कि यह पैकेज ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाने के लक्ष्‍य को प्राप्त करने की दिशा में काफी सहायक साबित होगा। देश में इनके योगदान पर प्रकाश डालते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह पैकेज संगठित और असंगठित दोनों ही क्षेत्रों के गरीबों, मजदूरों, प्रवासियों इत्‍यादि को सशक्त बनाने पर भी फोकस करेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोविड-19 के कारण जो संकट उभर कर सामने आया है, वह अप्रत्‍याशित है, लेकिन इस लड़ाई में हमें न केवल अपनी रक्षा करने की जरूरत है, बल्कि निरंतर आगे भी बढ़ते रहना होगा। कोविड काल से पहले और बाद की दुनिया का उल्‍लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 21वीं सदी को भारत की सदी बनाने के सपने को पूरा करने के लिए यह सुनिश्चित करते हुए आगे बढ़ना है कि देश आत्मनिर्भर हो जाए।

देश के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कई विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों का मानना है कि वायरस लंबे समय तक हमारे जीवन का हिस्सा बनने वाला है। हालांकि, इसके साथ यह सुनिश्चित करना भी आवश्‍यक है कि हमारा जीवन केवल इसके इर्द-गिर्द ही न घूमता रहे। उन्होंने मास्क पहनने और ‘दो गज की दूरी’ बनाए रखने जैसी सावधानियां बरतते हुए लोगों को अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए निरंतर काम करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि संकट ने हमें लोकल (स्‍थानीय या स्‍वदेशी) विनिर्माण, लोकल बाजार और लोकल आपूर्ति श्रृंखलाओं के विशेष महत्व को सिखा दिया है। संकट के दौरान हमारी सभी जरूरतें ‘स्थानीय स्तर पर’ यानी देश में ही पूरी हुईं। उन्होंने कहा कि अब लोकल उत्पादों का गर्व से प्रचार करने और इन लोकल उत्पादों को वैश्विक बनाने में मदद करने का समय आ गया है।

अब तक कोरोना पर पांच बार राष्ट्र के नाम संबोधन
प्रधानमंत्री मोदी ने 24 मार्च को 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी। कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री अभी तक पांच बार देश को संबोधित कर चुके हैं।

पहला संबोधन- 19 मार्च:
प्रधानमंत्री मोदी ने इस दिन 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की बात कही थी। 22 मार्च को देशभर में सबकुछ बंद रहा और शाम में लोगों ने ताली और थाली बजाकर डॉक्टरों, नर्सों और पुलिस के साथ कोरोना वॉरियर्स को आभार जताया था।

दूसरा संबोधन- 24 मार्च:
प्रधानमंत्री मोदी ने देश के नाम संबोधन में 25 मार्च से 14 अप्रैल तक 21 दिन के लॉकडाउन का एलान किया था। इसमें उन्होंने घर में रहकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा था।

तीसरा संबोधन- 3 अप्रैल:
प्रधानमंत्री मोदी ने 3 अप्रैल को एक वीडियो संदेश जारी कर लोगों से 5 अप्रैल की रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घरों की लाइट बंद कर घरों में दीये, मोमबत्ती और मोबाइल की लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने की अपील की थी।

चौथा संबोधन- 14 अप्रैल:
प्रधानमंत्री मोदी ने 14 अप्रैल, 2020 को देश को संबोधित किया। उन्होंने राष्ट्रव्यापी बंद लॉकडाउन को 19 दिन बढ़ाने की घोषणा की।

पांचवां संबोधन- 12 मई:
प्रधानमंत्री मोदी ने 12 मई, 2020 को देश को संबोधित किया। इसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज के साथ आत्मनिर्भर भारत अभियान की घोषणा की।

इसके पहले भी प्रधानमंत्री मोदी कई मुद्दों पर राष्ट्र के नाम संबधोन कर चुके हैं। आइए जानते हैं प्रधानमंत्री  कब-कब और किन-किनों मुद्दों पर राष्ट्र को पहले संबोधित कर चुके हैं।

8 नवम्बर 2016
राष्ट्र के नाम संबोधन में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने की ऐतिहासिक घोषणा। 

27 मार्च 2019
उपग्रह रोधी प्रक्षेपास्त्र’ (एएसएटी) के सफल परीक्षण पर राष्ट्र के नाम संबोधन।

8 अगस्त 2019
जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने के मुद्दे पर राष्ट्र के नाम संबोधन।

 10 नवंबर 2019 
राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राष्ट्र के नाम संबोधन।

 

2 COMMENTS

  1. Wow wonderful Modi g aap he is doobte hue India ko in chor congresiyo se bacha sakte hai modi g you can do it desh ki janta aapke saath hai jai hind jai bharat vandye matram

Leave a Reply to Ashok kohli Cancel reply