Home समाचार हम तो कागज दिखाएंगे लेकिन दूसरों को भड़काएंगे

हम तो कागज दिखाएंगे लेकिन दूसरों को भड़काएंगे

470
SHARE

नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर सरकार कई बार अपनी बात स्पष्ट कर चुकी है कि सीएए और एनआरसी का आपसे में कोई संबंध नहीं है और देश में एनआरसी को लागू किए जाने को लेकर कोई चर्चा भी नहीं हुई है। लेकिन एक बड़ा वर्ग केवल पब्लिसिटी बटोरने के लिहाज से इस कानून को लेकर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहा है।

पब्लिसिटी के लिए झूठा विरोध 

नागरिकता संशोधन कानून पर विरोधियों का दोहरा चरित्र लोगों के सामने आ रहा है और लोग समझ पा रहे हैं कि कैसे थोड़ी सी पब्लिसिटी के लिए लोग इसका झूठा विरोध कर रहे हैं।

अब आप यहां पर शेयर किए गए इस ट्वीट की ही बात ले लीजिए। जिसमें आप देख सकते हैं कि पत्रकार फे डिसूजा ने 29 मार्च 2019 को एक फोटो शेयर करते हुए बताया था कि वो अपने वोट को रजिस्टर कराने आई हैं और वो लोगों से निवेदन भी कर रही हैं कि आप भी इसमें हिस्सा लें जिसके लिए आपको पासपोर्ट, बिजली का बिल, पैन या आधार कार्ड की जरूरत पड़ेगी।

वरुण ग्रोवर खुद अपने गिरेबान में क्यों नहीं झांकते

कॉमेडियन वरुण ग्रोवर ने भी नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर एनआरसी का मुद्दा उठाया और वाहवाही लूटने की कोशिश की। सीएए के विरोध में वरुण ग्रोवर ने तो कविता तक लिख डाली, जिसे मोदी विरोधी गैंग सोशल मीडिया पर वायरल करने में जुटा है।

इन सब बातों से इतर वरुण एक तरफ जहां ‘कागज़ नहीं दिखाएँगे’ का झंडा बुलंद कर रहे हैं वहीं वो खुद अपने शो में आने के लिए लोगों से उनकी आईडी की मांग कर रहे हैं। ऐसा ना करने पर बाउंसर आपको धक्के देकर वहां से निकाल देगा।

अब तो दिखाने ही पड़ेंगे कागज

इसके बाद 16 जनवरी 2020 को वरुण ग्रोवर ने एक ट्वीट करते हुए जानकारी दी कि वो मई-जून 2020 में स्टैंडअप कॉमेडी के लिए मशहूर ‘ऐसी-तैसी डेमोक्रेसी’ के साथ मिलकर अमेरिका में एक टूर करने जा रहे हैं। वरुण ने ट्वीट में लिखा है कि टिकट बुकिंग की जानकारी वो बाद में देंगे लेकिन अभी यह पोस्टर शेयर किया जाना ज्यादा जरुरी था। 

वरुण ग्रोवर के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने उनसे सवाल किया है कि क्या वो अमेरिका में कागज दिखाएँगे या नहीं? इसके साथ ही लोगों ने ट्विटर पर उनका मजाक बनाना भी शुरू कर दिया। 

विदेश में चोरी और देश में विरोध

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में एक नया नाम जुड़ा है। ये नाम है बंगाली कलाकार स्वास्तिका मुखर्जी का, जिन्होंने ‘कागज़ नहीं दिखाएँगे’ गैंग से खुद को जोड़ लिया है।

आपको बता दें कि बंगाली एक्ट्रेस स्वस्तिका मुखर्जी वर्ष 2014 में सिंगापुर में दुकान से झुमका चुराते हुए पकड़ी गई थीं, CCTV कैमरा की नजर में आने के बाद अभिनेत्री पर शोरूम मालिक ने कम्प्लेन दर्ज कराई थी। इस पूरे मामले पर अपनी सफाई देते हुए स्वस्तिका ने कहा था कि उन्हें पता नहीं था कि ये झमके उनके बैग में कैसे आ गए।

 

Leave a Reply