Home समाचार इंदौर में बच्चे ने कहा,“हम मोदी को मारेंगे”, कौन भर रहा है...

इंदौर में बच्चे ने कहा,“हम मोदी को मारेंगे”, कौन भर रहा है मासूमों के मन में जहर ?

1099
SHARE

छह साल की उम्र में बच्चों का मन काफी निर्मल होता है। ऐसी अवस्था में उनके विकास के लिए घर में अच्छा माहौल बेहद जरूरी होता है, क्योंकि स्वस्थ पारिवारिक माहौल में ही बच्चों में अच्छी आदतें और अच्छे संस्कारों की नींव पड़ती है। लेकिन जब पारिवारिक माहौल ही गड़बड़ हो तो अच्छी नींव की उम्मीद नहीं की जा सकती। ऐसा ही मध्य प्रदेश के इंदौर में देखने को मिला है। जहां छह साल का एक बच्चा, जिसे दुनियादारी की समझ नहीं है, वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मारने की बातें करता हैं।

बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने एक वीडियो शेयर किया है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो इंदौर के इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के अस्पताल और कोरोना से जंग जीतकर लौटे रहे लोगों का है। इस वीडियो में एक बच्चा चिल्लाता है कि हम मोदी (प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी) को मारेंगे।

इस वीडियो में स्पष्ट तौर पर एक बच्चे की आवाज सुनी जा सकती है, जो कह रहा है, “हम मोदी को मारेंगे”। वीडियो देखकर हैरानी होती है, जब बच्चा प्रधानमंत्री मोदी को मारने की बातें करता है, उस समय एक महिला के हंसने की आवाज आती है। यह आवाज शायद उसकी मां की है। लेकिन वीडियो देखकर आप बच्चा के पारिवारिक सदस्यों के बारे में अंदाजा लगा सकते हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर आने के बाद लोगों ने इस पर तीखी प्रतिक्रयाएं दी हैं और कई सवाल खड़े किए, जो काफी गंभीर है।

बच्चे की यह आवाज सुनकर हैरानी होती है कि मासूम बच्चों में उस व्यक्ति के खिलाफ नफरत की भावना भरी जा रही है, जो कोरोना से उनकी जान बचाने के लिए रात-दिन एक किया हुआ है। उन्हें हर तरह की सुविधाएं मुहैया करा रहा है। अस्पताल से निकलते समय उसे धन्यवाद देने की जगह उसे मारने की बातें हो रही हैं। यह कैसी इंसानियत है, जो जान बचाने वाले की जान लेने की बात करती है ?

यह पहला मौका नहीं है, जब किसी एक बच्चे ने प्रधानमंत्री मोदी को मारने की बात की हो। इससे पहले भी सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो वायरल हो चुके हैं, जिसमें बच्चे प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जहर उगलते नजर आ रहे हैं। 

वीडियो में दिखाई देने वाले बच्चे तो मासूम हैं। इनसे इस तरह की बातों की उम्मीद नहीं की जा सकती। इसके लिए सबसे बड़े गुनहगार वे लोग हैं, जो बच्चों के मन में इस तरह की नफरत, घृणा और बदले की भावना भरते हैं। ऐसे बच्चों से कैसे भाईचारा की उम्मीद की जा सकती है ? समाज में बढ़ रही नफरत की यह भावना उन तथाकथित बुद्धिजीवियों को नजर नहीं आ रही है, जो देश में भाईचारा की बातें करते रहते हैं। 

गौरतलब है कि इंदौर में ही सबसे पहले कोरोना वॉरियर पर हमले की खबर आई थी। यहां तबलीगी जमात के लोगों की जांच के लिए पहुंची मेडिकल टीम पर हमला किया गया था। इस हमले में दो चिकित्सक बुरी तरह घायल हो गए थे।

मध्य प्रदेश का इंदौर शहर कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, अबतक कुल 2299 पॉजिटिव हो चुके हैं। वहीं, 98 लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार संक्रमितों के सामने आने के बीच राहत देने वाली बात यह है कि अब तक 1098 लोग ठीक होकर अपने घर लौट चुके हैं।

 

Leave a Reply