Home समाचार मुजफ्फरनगर में किसानों की आड़ में राष्ट्रीय लोकदल के नेताओं की गुंडागर्दी,...

मुजफ्फरनगर में किसानों की आड़ में राष्ट्रीय लोकदल के नेताओं की गुंडागर्दी, साजिश के तहत केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान पर किया हमला

441
SHARE

मुजफ्फरनगर के सोरम गांव में हुए तथाकथित किसानों और बीजेपी के बीच टकराव ने अब राजनैतिक रूप ले लिया है। केंद्रीय राज्‍यमंत्री संजीव बालियान ने इस पूरे मामले को राष्ट्रीय लोकदल की साजिश बताया है। उन्‍होंने कहा कि पूरे सुनियोजित तरीके से उनके साथ बदसलूकी की गई। किसानों की आड़ में रालोद के पांच-छह नेता ही गुंडागर्दी कर रहे थे। इसमें से कोई खाप चौधरी या किसान नहीं थे। केंद्रीय राज्‍य मंत्री ने इस घटना की पूरी जानकारी ट्वीट कर दी है। 

केंद्रीय राज्यमंत्री बालियान ने राष्ट्रीय लोकदल पर किसानों की आड़ में भाईचारा खराब करने का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि लोकदल पार्टी जिस तरह से किसानों की आड़ में आपसी भाईचारा खराब करने का प्रयास किया वह निंदनीय है।

संजीव बालियान ने कहा कि घटना के 10 मिनट के अंदर चुनाव लड़ने वाले रालोद नेता, पूर्व विधायक और जिलाध्यक्ष गांवों में पहुंच गए। इससे साफ है कि घटना के पीछे साजिश रची गई थी। उन्होंने कहा कि चुनाव में अभी समय है और एक साल बाद चुनाव में फिर आमने-सामने होंगे। समाज को बांटने का प्रयास न किया जाए। संवाद से विरोध कीजिए।

संजीव बालिया ने आगे कहा कि दिल्ली में बैठे रालोद के बड़े नेता (जयंत चौधरी)ने घटना के चंद मिनटों में ट्वीट कर दिया। उन्होंने कहा कि विपक्षी मुजफ्फरनगर को आग में झोंकना चाहते हैं, लेकिन वह ऐसा नहीं होने देंगे। वर्ष 2003 में हुए दंगों में ये लोग कहां थे। ये आगे भी नहीं आएंगे। जनता की सुध नहीं ली और आगे भी नहीं लेंगे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सोरम में वह लोग भी मारपीट में मौजूद थे, जो बीते दिनों लाल किले पर लाइव चैट कर रहे थे। कवाल कांड का जिक्र करते हुए कहा कि पूर्व सांसद अमीर आलम ने आरोपियों को थाने से छुड़वाया था। अब वह फिर मंच पर दिखाई दे रहे हैं। जनता ऐसे लोगों को कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि चौधरी अजीत सिंह सोरम में आए हैं, दोपहर बाद वह भी सोरम जाएंगे।

गौरतलब है कि मुज़फ्फरनगर के थाना शाहपुर क्षेत्र के गांव सोरम में संजीव बालियान और उनका काफिला एक तेरहवीं में पहुंचा था। तभी तथाकथित किसान मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। नारेबाज़ी से नाराज़ बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विरोध किया तो दोनों के बीच झड़प हो गई, जिसमें कई लोग घायल हो गए। बालियान सोरम की ऐतिहासिक चौपाल पर खाप चौधरियों के साथ एक बैठक करने वाले थे। 

Leave a Reply