Home समाचार कोरोना संकट काल में गरीब-मजदूरों का किस तरह ख्याल रख रहे हैं...

कोरोना संकट काल में गरीब-मजदूरों का किस तरह ख्याल रख रहे हैं केजरीवाल! आप खुद देख लीजिए

1927
SHARE

कोरोना संकट के दौरान भी दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार राजनीति से बाज नहीं आ रही है। दिल्ली के विवादास्पद मुख्यमंत्री केजरीवाल रोज टीवी पर आकर भले ही आमलोगों को राहत के लिए काम का लाख दावा कर रहे हैं, लेकिन जमीन पर स्थिति काफी भयावह है। कोरोना संकट के समय में रोज लाखों लोगों के खाने और रहने की व्यवस्था करने की बात करते हैं, मगर सरकार की ओर से कोई इंतजाम ना देख लोक लॉकडाइन में भी पलायन करने को मजबूर हो आनंद विहार और दूसरी जगहों पर जमा हो गए। अब खाने-पीने और रहने की व्यवस्था ना होने के कारण ये प्रवासी मजदूर यमुना नदीं के किनारे रहने को मजबूर हैं। पत्रकार अरविंद गुनासेकर ने 15 अप्रैल को ट्विटर पर दिल दहला देने वाली तस्वीर शेयर की। अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को टैग करते हुए उन्होंने लिखा कि प्रवासी और दिहाड़ी मजदूरों की हालात। सैकड़ों कामगार यमुना किनारे एक पुल के नीचे रहने को मजबूर हैं। करीब एक हफ्ते से दयनीय हालत में गुजारा कर रहे हैं। पास के गुरुद्वारे से एक वक्त की रोटी मिल जाती है।

दिल्ली में प्रवासी मजदूरों की हालत देख लोगों ने केजरीवाल सरकार को लताड़ लगानी शुरू कर दी।

इस तस्वीरों को देखकर आप समझ सकते हैं कि अगर दिल्ली सरकार इन प्रवासी मजदूरों के लिए कोई व्यवस्था करती तो ये लोग घर लौटने के लिए इतने बेताब नहीं होते।

 

Leave a Reply