Home नरेंद्र मोदी विशेष पीएम मोदी की मर्जी से होगा तेल उत्पादन में कटौती का फैसला,...

पीएम मोदी की मर्जी से होगा तेल उत्पादन में कटौती का फैसला, सऊदी अरब का बड़ा ऐलान

189
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता है और उनकी शख्सियत की धमक विदेशी देशों के फैसलों में साफ नजर आती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सक्रिय विदेश नीति के चलते कच्चे तेल पर भारत के लिए खुशखबरी आ रही है। भारत को कच्चे तेल के सबसे बड़े आपूर्तिकर्ता सऊदी अरब ने साफ कहा है कि कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती का फैसला करते वक्त वो भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की राय पर विचार करेगा। कच्चे तेल के उत्पादक देशों की मीटिंग उत्पादन घटाने पर विचार कर रही है। दिलचस्प बात ये है कि सऊदी अरब के मंत्री से अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप के सुझावों को लेकर सवाल किया गया था लेकिन उन्होंने सीधे पीएम मोदी का नाम लिया।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल फालिह ने कहा “भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी की बातों पर भी गौर किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी अपने विचारों को पूरी मजबूती से रखते हैं और उन्हें भारतीय उपभोक्ताओं की चिंता है। “

फालिह ने पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री मोदी और सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की मुलाकात का जिक्र किया। सऊदी के आधिकारिक मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों नेता जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में सलमान के आवास पर मिले थे। 

सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक इस मुलाकात के दौरान, राजनीतिक, सुरक्षा, आर्थिक, निवेश, कृषि, ऊर्जा, संस्कृति और प्रौद्योगिकी सहित विभिन्न द्वपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की गई। निवेश के क्षेत्र में को लेकर दोनों नेताओं ने बुनियादी ढांचा सेक्टर में सार्वजनिक निवेश के जरिये इन्वेस्टमेंट फंड पर चर्चा की। साथ ही इस विषय में भी चर्चा हुई कि कृषि उत्पादों को लेकर अवसरों को कैसे भुनाया जाए। सऊदी के प्रिंस क्राउन मोहम्मन बिन सलमान और पीएम मोदी बहुत अच्छे मित्र हैं।

दरअसल पीएम कच्चे तेल के भाव में उछाल से भारतीय हितों को बचाने में लगे हुए हैं। भारत ने यूएई की अबूधाबी नेशनल ऑयल कंपनी को कर्नाटक अंडरग्राउंड स्ट्रैटेजिक ऑयल स्टोरेज का एक हिस्सा लीज पर देने का समझौता किया है। इसमें सऊदी अरब अपना कच्चा तेल जमा कराएगा। इस तेल पर ना केवल भारत का पहला हक होगा बल्कि इससे देश को सालाना 10 हजार करोड़ रुपये की बचत भी होगी। इसी तरह का समझौता एक और कंपनी से पहले ही हो चुका है।

इससे पहले विदेशी अर्थशास्त्रियों और विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्षों की नजर में प्रधानमंत्री मोदी 

ब्रिटेन के पूर्व पीएम कैमरन ने की तारीफ: कहा- भारत भाग्यशाली है, क्योंकि उसके पास मोदी हैं
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कार्य करने की शैली ही ऐसी है कि हर कोई उनकी तारीफ करता है। हाल ही में ब्रिटेन के पूर्व पीएम डेविड कैमरन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि भारत भाग्यशाली है कि उसके पास स्पष्ट दृष्टि वाला नेतृत्व है। इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स की वार्षिक आम बैठक में एक सवाल के जवाब में कैमरन ने कहा कि, भारत भाग्यशाली है कि उसके पास स्पष्ट दृष्टि वाला नेतृत्व है। जब मैं प्रधानमंत्री मोदी से मिला तो मैंने देखा कि उनके पास दीर्घकालिक समस्याओं को लेकर गहरी सोच है। प्रधानमंत्री कैमरन ने यह भी कहा कि भारत सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है और इसे अपने आकार की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था कहा जाता है।

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने की तारीफ
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन ने भी हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की है। राष्ट्रपति मून ने नई दिल्ली से रवाना होने के बाद ट्वीट करके कहा कि, ‘भारत से रवाना हो रहा हूं, मैंने भारत में उसके दयालु और उदार लोगों के बीच चार दिन गुजारे। भारतीय लोगों की आंखों में ईश्वर वास करते हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसे व्यक्ति है जिन्होंने अपने पूरे जीवन में सद्भावना के महत्व को जाना है, जिस तरह भारत के पूरे इतिहास में है।’

अमेरिकी प्रोफेसर ने की PM मोदी की तारीफ, कहा पहली बार भारत में ईमानदार और जनता को समर्पित सरकार
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कार्य करने की शैली ही ऐसी है कि हर कोई उनकी तारीफ करता है। अमेरिका के एक प्रोफेसर ने प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार की तारीफ के पुल बांधे हैं। इस प्रोफेसर का कहना है कि पहली भारत में कोई ऐसी सरकार बनी है, जो भ्रष्टाचार में लिप्त नहीं हैं और गंभीरता के साथ देश के लोगों की भलाई के लिए कार्य कर रही है।

अमेरिका के एकाउंट्स के प्रोफेसर ने यूएस के सीएफए एसोसिएशन में प्रधानमंत्री मोदी के बारे में बोलते हुए कहा, “भारत में पहली बार ईमानदार, भ्रष्टाचार विरोधी और जनता के लिए गंभीरता से काम करने वाली सरकार बनी है।” प्रोफेसर ने आगे कहा, “भारत काफी वर्षों से एक नेतृत्व के लिए संघर्ष कर रहा था, और पीएम मोदी के रूप में देश को एक मेहनती, ईमानदार नेता मिला है। उनकी पार्टी और सरकार वास्तव में जनता के लिए काम कर रही है।” इस प्रोफेसर ने ये भी कहा है कि तमाम तरह के राजनीतिक विरोध के बाद भी पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही है और एशिया की एक प्रमुख इकोनॉमी बन गई है।

फ्रांसीसी राष्ट्रपति भी हुए प्रधानमंत्री मोदी के मुरीद
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर प्रशंसा की है। प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा करते हुए राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा कि, ‘वह प्रधानमंत्री मोदी के विजन, विशेष रूप से जलवायु परिवर्तन के प्रति उनकी प्रतिबद्धता से प्रभावित हैं।’ राष्ट्रपति ने कहा कि, ‘हम इस एजेंडे में भारत के साथ हैं, विशेष रूप से अंतर्राष्ट्रीय सोलर एलायंस को लेकर।’ इंडिया टुडे पत्रिका के साथ इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि, ‘मेरे विचार में आजादी और व्यक्तिगत दर्शन के साथ पीएम मोदी बहुत बुद्धिमान व्यक्ति हैं। वह भारत की संप्रभुता के साथ बहुत घनिष्ठ हैं, जैसा मैं अपने देश की संप्रभुता के साथ हूं।’

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने भी की प्रशंसा
इसके पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने प्रशंसा करते हुए कहा था कि, ”मैं प्रधानमंत्री मोदी के दृढ़निश्चय और कूटनीतिक सूझबूझ का कायल हूं। पीएम नरेंद्र मोदी ने क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस में अहम भूमिका निभाई और दुनिया को नई राह दिखाई।”

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की पीएम मोदी की तारीफ
निक्की हेली से पहले दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्र अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी कई मौकों पर प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ कर चुके हैं। पिछले वर्ष जून में प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद यात्रा की थी। इस दौरान दोनों नेताओं में मुलाकात हुई और फिर दोनों ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी का अपना सच्चा मित्र बताते हुए कहा कि आतंकवाद को खत्म करने के लिए दोनों देश साथ मिलकर काम करेंगे। उन्होंने अफगानिस्तान में भारत के सहयोग के लिए धन्यवाद भी दिया।

पिछले वर्ष नवंबर में भी अमेरिकी राष्ट्रपपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने विदेश दौरे के दौरान कहा कि पीएम मोदी ने लोगों को एक साथ लाने की दिशा में काम किया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ने शानदार ग्रोथ हासिल की है, और वो देश की प्रगति के लिए बहुत ही सफलतापूर्वक काम कर रहे हैं। ट्रंप ने यह भी कहा कि भारत ने खुली अर्थव्यवस्था को आत्मसात किया है तब से इसने शानदार ग्रोथ प्राप्त की है और नए- नए अवसर पैदा किए हैं।

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा भी मान चुके हैं पीएम मोदी का लोहा
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ पीएम मोदी के मजबूत संबंध जगजाहिर हैं। 2015 में गणतंत्र दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया था। भारत आने से पहले ओबामा ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की थी, उन्होंने चाय बेचने से लेकर प्रधानमंत्री तक के सफर का जिक्र करते हुए कहा था कि यह भारतीयों की इच्छाशक्ति को दर्शाता है। श्री ओबामा ने कहा था कि पीएम मोदी का विजन एकदम साफ है और उनकी ऊर्जा प्रभावित करने वाली है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी विकास के रास्ते में रोड़े अटकाने वाले मुद्दों को फौरन हटाने को तैयार हो जाते हैं। पिछले साल दिसंबर में जब पूर्व अमेरिका राष्ट्रपति ओबामा ने भारत का दौर किया था, तभी उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए, उन्हें कड़े फैसले लेने वाला नेता बताया था। बराक ओबामा ने कहा कि मोदी के पास देश के लिए विजन है।

प्रधानमंत्री मोदी महान देशभक्त हैं: नेतन्याहू
हाल ही में भारत के 6 दिवसीय दौरे पर आए इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच और कार्यशैली के कायल हो गए। नेतन्याहू ने कहा कि पीएम मोदी पूरी तरह से भारत के विकास के लिए समर्पित हैं। उन्होंने पीएम मोदी को महान देशभक्त बताया और कहा कि पीएम मोदी वही करते हैं, जो भारत के लिए अच्छा होता है। इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने पीएम मोदी को क्रांतिकारी नेता बताया और कहा कि उनका विजन बहुत स्पष्ट है। प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए नेतन्याहू ने कहा कि पीएम मोदी के इजरायल दौरे से हमारी दोस्ती शुरू हुई थी, हमारी दोस्ती दोनों देशों में शांति लाएगी, मेरी यह यात्रा शांति, समृद्धि और विकास के लिए है, शांति और खुशहाली के लिए यह साझेदारी अहम है।

जापानी पीएम शिंजो आबे ने की पीएम मोदी की प्रशंसा
जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे पीएम मोदी के अच्छे दोस्तों में शामिल हैं। पीएम शिंजो आबे भी कई मौके पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा कर चुके हैं। पिछले वर्ष सितंबर में शिंजो आबे ने जब भारत का दौरा किया था, तब अहमदाबाद में पीएम मोदी ने उनके साथ रोड शो किया था। इस मौके पर दोनों नेताओं ने अहमदाबाद-मुंबई के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी। इस अवसर पर उन्होंने पीएम मोदी की प्रगतिशील सोच की तारीफ करते हुए है कि अब दोनों देशों का सहयोग सिर्फ द्विपक्षीय नहीं रहा है, बल्कि यह सामरिक और वैश्विक साझेदारी में विकसित हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत और जापान स्वतंत्रता, लोकतंत्र, मानव अधिकार और कानून का नियम जैसे बुनियादी मूल्यों को साझा करते हैं। उस वक्त आबे ने अपने भाषण में जय इंडिया, जय जापान का नारा भी दिया।

भारत को तरक्की के रास्ते पर ले जा रहे हैं पीएम मोदी: ऑस्ट्रेलियाई पीएम
ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना कर चुके हैं। पिछले वर्ष अप्रैल में जब टर्नबुल भारत के चार दिवसीय दौरे पर आए थे, तब उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत तरक्की और विकास के असाधारण रास्ते पर बढ़ रहा है। ऑस्ट्रेलियाई पीएम मैल्कम टर्नबुल ने कहा कि हमारा भारत के साथ मजबूत रिश्ता है और इसे और मजबूत करना है। हम इतिहास और मूल्यों के द्वारा एक-दूसरे से जुड़े हैं। उन्होंने कहा था कि दोनों देश तरक्की और विकास के रास्ते की यात्रा पर आगे चल रहे हैं। आज पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत की उपलब्ध‍ियों की पूरी दुनिया में सराहना हो रही है, ऐसे में हम भारत के साथ रिश्तों को और गहरा करना चाहते हैं।

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने आतंकवाद से लड़ने में मोदी की तारीफ की
पिछले वर्ष मई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जर्मनी की यात्रा की थी। इस मौके पर दोनों देशों के बीच तमाम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। जर्मनी की चांसलर एंजला मर्केल ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में बताया की उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से आतंकवाद और जलवायु के मुद्दे पर चर्चा की, और इन अहम मुद्दों पर पीएम मोदी के विचारों से काफी प्रभावित हुईं हैं। दुनिया के सामने आतंकवाद समेत कई चुनौतियां हैं, इनका सामना करने के लिए मानवतावादी शक्तियों को एकजुट होना होगा। इस अवसर पर पीएम मोदी ने भी कहा कि भारत और जर्मनी एक-दूसरे के लिए बने हैं। जर्मनी की चांसलर ने पीएम मोदी के सम्मान में निजी भोज भी दिया, ब्रैंडनबर्ग जिले में स्थित 18वीं सदी के पैलेस शलॉस मीजेबर्ग के बाग में भोज से पहले दोनों नेता एक साथ टहले और कई मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया।

चीनी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी की तारीफ में पढ़े कसीदे
चीन हमारा पड़ोसी है, और कुछ मुद्दों पर दोनों के बीच विवाद भी है, लेकिन चीन और उसके नेता प्रधानमंत्री मोदी की ताकत से अच्छी तरह वाकिफ हैं। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी कई मौके पर पीएम मोदी की प्रशंसा कर चुके हैं और देश ही नहीं बल्कि वैश्विक मसलों पर उनके विचारों से सहमति जता चुके हैं। पीएम मोदी ने 2014 में जब देश की बागडोर संभाली थी, उसी वर्ष सितंबर में चीनी राष्ट्रपति का भारत दौरा हुआ था। उस दौरे में पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति के स्वागत में अहमदाबाद में साबरमती के तट पर स्वागत के विशेष इंतजाम किए थे। पिछले वर्ष जुलाई में जर्मनी के हैमबर्ग में जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर ब्रिक्स देशों की बैठक में चीनी राष्ट्रपति ने आतंकवाद के खिलाफ भारत के मजबूत संकल्प को सराहनीय बताया। उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ भारत के कड़े रुख और ब्रिक्स देशों के बीच सामंजस्य स्थापित करने में प्रधानमंत्री मोदी की भूमिका की सराहना भी की।

फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री भी हुए मुरीद
हाल ही में फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री डॉ. रामी हमदल्लाह ने कहा कि ”प्रधानमंत्री मोदी वैश्विक नेता हैं, वे पश्चिम एशिया के नेताओं के बीच अपने अच्छे रसूख के बल पर इजरायल के साथ हमारा विवाद खत्म करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं।”

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री ने की प्रशंसा
नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट ने प्रशंसा करते हुए कहा कि, ”प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत ग्लोबल इकोनॉमिक पॉवर बन चुका है, हम भारत के साथ कई क्षेत्रों में सहयोग के लिए उत्सुक हैं।”

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने की सराहना
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पीएम मोदी की सराहना करते हुए कहा कि, ”प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक अच्छे वक्ता और कुशल राजनैतिक व्यक्ति हैं। उनके अफगानिस्तान दौरे के बाद दोनों देशों के बीच रिश्ते और मजबूत हुए हैं। भारत और अफगानिस्तान स्वाभाविक मित्र हैं अफगानिस्तान के विकास के लिए भारत ने अहम योगदान दिया है।”

भूटान के प्रधानमंत्री ने की पीएम मोदी की प्रशंसा
भूटान के प्रधानमंत्री श्री श्रिंग टॉग्बे ने प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि, ”प्रधानमंत्री मोदी बहुत ही स्नेहशील व्यक्ति हैं और उनको काफी ज्ञान है और वे भूटान के हितैषी हैं। वे हमारे नरेशों को बहुत आदर की नज़र से देखते हैं। वे भारत-भूटान संबंधों के विवरणों को अच्छी तरह जानते हैं और इसीलिए उद्देश्य एवं आशा की भावना जागती है।”

निक्की हेली ने की पीएम मोदी की तारीफ
संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने प्रधानमंत्री मोदी के आर्थिक और प्रशासनिक सुधार कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा कि ट्रंप प्रशासन भी इसी तरह के सुधारवादी कदम अमेरिका में उठा रहा है। इस तरह के कदमों से दोनों लोकतांत्रिक देशों को समान मूल्यों के आधार पर मिलकर काम करने में सुविधा होगी। निक्की हेली ने कहा कि अमेरिका और भारत के संबंधों के विकास के लिए खुले आकाश जैसी संभावनाएं हैं, जिसकी कोई सीमा नहीं होती। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चाहते हैं कि दोनों देश और ज्यादा सहयोग के साथ कार्य करें। दोनों नेताओं के बीच बेहतर तालमेल भी है। राष्ट्रपति ट्रंप भारत के साथ संबंधों के विकास की व्यापक संभावनाएं देख रहे हैं और भारत के साथ मिलकर ज्यादा कार्य करना चाहते हैं।

1 COMMENT

  1. Modi and his core Cabinet has got a big responsibility to run this country in spite of so much adversity and repulsive atmosphere.
    Indians get influenced easily due to low education standards in masses but a person having good education and using common sense can easily understand difference between Right and Wrong. Hope more and more people can understand this and help modi to remain in power and make India Sone ki Chidiya

LEAVE A REPLY