Home समाचार पहले लोग कहते थे- भारत बदल नहीं सकता, हमने इस सोच को...

पहले लोग कहते थे- भारत बदल नहीं सकता, हमने इस सोच को ही बदल डाला है-पीएम मोदी

346
SHARE

वाराणसी में आयोजित 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साढ़े चार साल में भारत में आए बदलाव की विस्तार से चर्चा की है। उन्होंने प्रवासी भारतीयों को भारत का ब्रांड एम्बेसडर मानने के साथ ही विदेशों में देश की विशेषताओं का प्रतिनिधि और प्रतीक भी बताया है। पीएम मोदी ने कहा है कि आज मॉरीशस, पुर्तगाल,त्रिनिदाद और टोबैगो एवं आयरलैंड जैसे अनेक देशों को सक्षम नेतृत्व मिला है, जिनकी जड़ें भारत में हैं। उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीय अपनी मिट्टी से जरूर दूर हैं, लेकिन न्यू इंडिया के निर्माण में उनकी भागीदारी और योगदान बहुत ही महत्वपूर्ण है।

हमने टेक्नोलॉजी से 85 प्रतिशत लूट को शत-प्रतिशत खत्म कर दिया है-पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि एक पूर्व पीएम खुलेआम कहते थे कि सरकारी योजनाओं का 15 प्रतिशत ही सही तरीके से खर्च होता है। लेकिन, इसे रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं हुआ। परन्तु, पिछले साढ़े चार वर्षों में 85 प्रतिशत की लूट को पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है। इसके कारण विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत 5 लाख 80 हजार करोड़ रुपये सीधे लोगों के खाते में पहुंचे हैं। अगर पहले की सरकार होती तो इनमें से 4 लाख 50 हजार करोड़ रुपये लूट लिए जाते। ऐसा इसलिए हुआ है कि पिछले साढ़े चार वर्षों में 7 करोड़ फर्जी लोगों को व्यवस्था से हटाया गया है, जो वास्तव में थे ही नहीं। यह संख्या ब्रिटेन, फ्रांस और इटली जैसे अनेक देशों की आबादी से भी ज्यादा थी। पीएम ने कहा कि पहले लोग कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता। उनकी सरकार ने इस सोच को ही बदल डाला है। दुनिया आज भारत की बात और सुझावों को पूरी गंभीरता से सुन भी रही है और समझ भी रही है।

हम दुनिया को वन वर्ल्ड, वन सन और वन ग्रिड की तरफ ले जाना चाहते हैं- पीएम मोदी
श्री मोदी ने कहा है कि आज कई मामलों में भारत दुनिया का अगुवाई करने की स्थिति में है। पर्यावरण की सुरक्षा और विश्व की प्रगति में भारत के योगदान को दुनिया स्वीकार कर रही है। संयुक्त राष्ट्र के सबसे बड़े पर्यावरण पुरस्कार ‘चैंपियंस ऑफ अर्थ’ और ‘सिओल पीस प्राइज’ मिलना इसी का परिणाम है। इंटरनेशनल सोलर एलायंस ऐसा ही मंच है, जिसके माध्यम से हम दुनिया को वन वर्ल्ड, वन सन और वन ग्रिड की तरफ ले जाना चाहते हैं। भारत उस लक्ष्य की ओर बढ़ना चाहता है, जिससे दूसरे देशों की मुश्किलों का भी हल निकल सके। सरकार लोकल सॉल्यूशन एवं ग्लोबल एप्लिकेशन के एप्रोच के साथ काम कर रही है। आज यह देश दुनिया की बड़ी इकोनॉमिक ताकत है, तो स्पोर्ट में भी आगे है। इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में भी मजबूती से आगे बढ़ रहा है और स्पेस में भी रिकॉर्ड बना रहा है। दुनिया का सबसे बड़ा स्टार्ट-अप इको सिस्टम भारत में है, तो सबसे बड़ी हेल्थकेयर स्कीम आयुष्मान भारत भी यहीं शुरू हुआ है। भारतीय युवा मेक इन इंडिया के तहत रिकॉर्ड फोन, कार, बस और ट्रेनें बना रहा है, तो भारत खेत में रिकॉर्ड अन्न उत्पादन भी कर रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में दुनियाभर में 2 लाख से ज्यादा भारतीयों को मदद पहुंचाई गई है। प्रवासी भारतीयों के लिए तमाम नियम और प्रक्रियाओं को आसान बनाया जा रहा है। सरकार ने प्रवासी भारतीयों के लिए नया कदम उठाते हुए एंबेसी और कॉन्सुलेट को पासपोर्ट सेवा प्रोजेक्ट से जोड़ा है। अब ई-पासपोर्ट जारी करने की दिशा में भी काम किया जा रहा है, साथ ही वीजा नियम भी आसान किया जा रहा है एवं ई-वीजा से परेशानियां कम की जा रही हैं। सरकार ने PIO कार्ड को OCI कार्ड में बदलने की प्रक्रिया को भी आसान बनाया है। उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीय रिसर्च एवं डेवलपमेंट, इनोवेशन में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। उनके लिए सरकार ‘प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना’ की भी शुरुआत कर रही है। पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीयों से कहा कि वे 5 गैर-भारतीय परिवारों को भारत आने के लिए प्रेरित करें। साथ ही गुरुनानक देव जी की 550वीं जयंती के लिए भी अपने-अपने देशों में कुछ प्रयास करें।

और तस्वीरें देखिए:

LEAVE A REPLY