Home समाचार न्यू इंडिया के लिए बनारस का नवनिर्माण, जिसकी आत्मा तो पुरातन होगी...

न्यू इंडिया के लिए बनारस का नवनिर्माण, जिसकी आत्मा तो पुरातन होगी और काया नवीनतम : प्रधानमंत्री

1606
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने करीब 1000 करोड़ रुपये की योजानाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। ये सभी योजनाएं बिजली, पानी और कनेक्टिविटी से जुड़ी हैं। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा, ”काशी को 21वीं सदी के हिसाब से विकसित करने का प्रयास जारी है। प्रयास ऐसा होगा, जिसकी आत्मा पुरातन होगी और काया नवीनतम होगी।” प्रधानमंत्री ने यह जानकारी भी दी कि 20 से 23 जनवरी तक बनारस में प्रवासी भारतीय सम्मेलन भी होने जा रहा है जिसमें दुनिया भर के मेहमान बनारस आने वाले हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि बदलते हुए बनारस की तस्वीर अब चारों तरफ दिखने लगी है। सिर पर लटकते हुए बिजली के तार अब गायब हो गए हैं। सड़कें रोशनी से नहा रही हैं। बीते चार साल में बनारस में 10 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा का निवेश हो चुका है। पीएम ने कहा कि यह सिलसिला यहीं रुकने वाला नहीं है।


उन्होंने कहा कि बनारस में जो बदलाव आ रहा है, उसका लाभ आसपास के गांवों को भी मिल रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि कार्गो सेंटर के शिलान्यास के बाद इसके लोकार्पण का मौका भी मुझे मिल रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ट्रांसपोर्टेशन से ट्रांसफोर्मेशन यानि परिवहन से परिवर्तन के विजन के साथ हमारी सरकार आगे बढ़ रही है। थोड़ी देर पहले हुए पूर्वांचल एक्सप्रेस का शिलान्यास भी इसी विजन का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में जाना माना बीएचयू अब चिकित्सा में भी आगे बढ़ रहा है। वाराणसी को इलाहाबाद और छपरा से जोड़ने वाले ट्रैक को डबल करने का काम हो रहा है। वाराणसी से बलिया तक विद्युतीकरण का काम हो रहा है।

पीएम मोदी ने कहा, ”हमें चार साल पुराना वक्त भी नहीं भूलना चाहिए, जब गंदगी और खराब सड़कों से लोगों को परेशानी होती थी। बिजली के तार लटके रहते थे। सीवेज का पानी सड़कों पर बहता था। पूरे शहर की गंदगी गंगाजी में जा रही थी।”

उन्होंने कहा, ”गंगा जी को स्वच्छ करने का अभियान तेज गति से आगे बढ़ रहा है। गंगोत्री से गंगा सागर तक एक साथ प्रयास हो रहा है। शहरों की गंदगी गंगा में न जाए इसका प्रबंध भी किया जा रहा है। इसके लिए 21 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं को मंजूरी दी जा चुकी है।”

पीएम मोदी ने कहा कि इन सब कार्यों से बनारस को स्मार्ट सिटी बनाया जाएगा। इसका फायदा न सिर्फ बनारस को बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश को होगा। उन्होंने बताया कि बीते सोमवार को नोएडा में सैमसंग की दुनिया की सबसे बड़ी फैक्ट्री का लोकार्पण करने का मौका मुझे मिला। इससे प्रदेश के लोगों को रोजगार मिलेगा।

पीएम मोदी ने कहा रोड हो या रेल आज अनेक सुविधाएं काशी को मिल रही हैं। कैंट रेलवे स्टेशन को नया रंग रूप देने का काम चल रहा है। वाराणसी से बलिया तक विद्युतीकरण का काम भी पूरा हो चुका है। पीएम मोदी ने कहा, ”आज से इस सेक्शन पर मेमो ट्रेन भी चल पड़ी है। अब सुबह इस ट्रेन से बलिया और गाजीपुर के लोग यहां आ पाएंगे और अपना काम करके शाम को इसी ट्रेन से वापस भी जा पाएंगे।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी में भक्तों को, श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं देने का कार्य भी जारी है। लोगों को आने जाने में असुविधाएं न हो इसका भी खयाल रखा जा रहा है। पंचकोशी मार्ग का चौड़ीकरण का काम शुरू हो चुका है। काशी में इंटरनेशल कन्वेंसन सेंटर रुद्राक्ष का शिलान्यास किया गया। यह जापान का उपहार है। यह डेढ़ दो साल में पूरा किया जाना है।

पीएम मोदी ने कहा, ”जब भी मैं जापान के पीएम से मिलता हूं तो वे काशी के अनुभव के बारे में उन्हें बताते हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति भी यहां हुए अपने स्वागत का जिक्र करते हैं। यह काशी की परंपरा है।”

अपने संबोधन के शुरुआत में ही पीएम मोदी ने विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास को बधाई दी और प्रशंसा करते हुए उन्हें भारत का गौरव बताया। पीएम मोदी ने कहा, ”जब असम की इस बेटी को मेडल मिल रहा था, और देश का राष्ट्रगान गाया जा रहा था, उस समय उसकी आंख में आंसू थे। असम की इस बेटी ने देश का नाम रोशन किया है।”

Leave a Reply