Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी के बारे में ममता बनर्जी की बदजुबानी के 8 सबूत

प्रधानमंत्री मोदी के बारे में ममता बनर्जी की बदजुबानी के 8 सबूत

297
SHARE

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपनी सियासी आक्रामकता के लिए जानी जाती है। लेकिन अपने आक्रामक व्यवहार के कारण वो राजनीतिक मर्यादा को भी तार-तार कर देती है। ममता बनर्जी ने कोई मौकों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर बदजुबानी की है और सारी सीमाएं लांघ गई हैं। आप ऐसे छह सबूत देख सकते हैं, जिनमें ममता बनर्जी ने मुख्यमंत्री जैसे महत्वपूर्ण पद की गरिमा को ध्यान में नहीं रखा और देश के निर्वाचित और सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री को नीचा दिखाने की कोशिश की है। 

सबूत नंबर-1 : बेशर्म और झूठे 

लोकसभा चुनाव-2019 के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मथुरापुर में एक सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला करते हुए बेशर्म और झूठा तक कह डाला। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बेशर्म और झूठे और इन्हें उठक-बैठक कर बंगाल की जनता से माफी मांगनी होगी।

सबूत नंबर-2 : थप्पड़ मारने का मन 

प्रधानमंत्री मोदी पर कई आपत्तिजनक बयान देने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक और विवादित बयान दे दिया। 7 मई, 2019 को पुरुलिया के चुनावी रैली में उन्होंने कहा कि उनका प्रधानमंत्री मोदी को थप्पड़ मारने का मन करता है। ममता ने कहा, “मैं भाजपा के नारों में विश्वास नहीं रखती। पैसा मेरे लिए कोई मायने नहीं रखता, मगर जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बंगाल आकर कहते हैं कि टीएमसी लुटेरों से भरी पड़ी है तो मुझे उन्हें थप्पड़ मारने का मन हुआ।”

सबूत नंबर-3 : इंच-इंच का बदला

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी को धमकी भरे अंदाज में कहा कि मैं इंच-इंच का बदला लूंगी। आपने मुझे और बंगाल को बार-बार बदनाम किया है। ममता बनर्जी ने दक्षिण परगना जिले के बसंती इलाके में एक रैली में कहा, ”भविष्य में दिन आएंगे जब इंच-इंच का बदला लिया जाएगा। बदला, हत्या कर नहीं लेकिन इसकी कीमत उन्हें चुकानी होगी। आपने कई बार बंगाल और मुझे बदनाम किया है।”

सबूत नंबर-4 : देश के लिए बहुत बुरा प्रधानमंत्री

ममता बनर्जी ने 7 मई, 2019 को पुरुलिया के चुनावी रैली में कहा कि मैंने बहुत से प्रधानमंत्री देखे, लेकिन नरेन्द्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री नहीं देखा, जो देश के लिए बहुत बुरा है।

सबूत नंबर-5 : हाथ खून से सने हैं

ममता बनर्जी ने 7 मई, 2019 को विष्णुपर के राधानगर में चुनावी रैली में कहा कि मोदी तोलाबाज कहते हैं। अगर मैं तोलाबाज हूं तो वे ऊपर से नीचे तक दंगों में मारे गए लोगों के रक्त से सने हैं। ममता ने चक्रवाती तूफान फोनी पर कालिकुंडा में प्रस्तावित बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात करने से इनकार करते हुए कहा कि मैं मोदी को प्रधानमंत्री नहीं मानती। मोदी (एक्सपायरी प्रधानमंत्री) के साथ मंच साझा नहीं करूंगी।

सबूत नंबर-6 : मोदी को देश से निकाल दो

15 मई, 2019 को मीडिया को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने हमको बेइज्जत किया है। अपमान किया है। वो बात कहते हैं हम उसका काउंटर करते हैं। हमको बोलने का भी मौका नही है। अभिव्यक्ति की भी स्वतंत्रता नहीं है। ऐसे ही चलेगा देश में। मेहरबानी करके इसको वोट नहीं दीजिए। मेरे भाइयो, बहने, मोदी को हटाओं, मोदी को देश से निकाल दो।

सबूत नंबर-7 : जेल भेजेंगे

लोकसभा चुनाव-2019 के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मथुरापुर में एक सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला करते हुए उन्हें झूठा बताया और कहा कि या तो आप प्रमाण दीजिए, फिर हम आपको जेल भेजेंगे। हम ऐसे ही नहीं बोलते हैं। हमारे पास प्रमाण है।

सबूत नंबर-8 : रावण और दानव म‍िलकर देश चला रहे

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 24 फरवरी, 2021 को हुगली के डनलप मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को लेकर फिर बदजुबानी की और मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ गईं। उन्होंने कहा कि दो लोग हैं एक रावण और दानव जो मिलकर देश चला रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया।

 

Leave a Reply