Home विशेष विकास को जन-आंदोलन बनाने की जरूरत- पीएम मोदी

विकास को जन-आंदोलन बनाने की जरूरत- पीएम मोदी

175
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में विकास के काम के लिये एक बार फिर से जन-आंदोलन की आवश्यकता पर जोर दिया है। पीएम मोदी ने युवा सीईओ के साथ मंथन के दौरान कहा कि 2022 तक देश को सभी दिशा में आगे बढ़ाने के लिये सबको साथ मिलकर चलने की आवश्यकता है।

देश में ही टूरिज्म की बहुत बड़ी क्षमता
पीएम मोदी ने युवा सीईओ और स्टार्टअप से जुड़े उद्यमियों से कहा है कि देश में टूरिज्म की बहुत बड़ी क्षमता है। अगर इसका ठीक प्रकार से उपयोग किया जाय तो रोजगार का सृजन हो सकता है। उन्होंने कहा कि हमारा ये मनोविज्ञान रहा है कि हम अपनी ही चीजों की खूबसूरती को नहीं पहचान पाते। उन्होंने कहा कि देश में यात्राओं की परंपरा रही है। लेकिन आज हम उसे भूल चुके हैं, जिसे बढ़ाने में नये उद्यमी बहुत योगदान कर सकते हैं। इस अवसर पर उन्होंने गुजरात के कच्छ के रेगिस्तान के रणोत्सव का जिक्र किया।

टिंबर की खेती को बढ़ावा देने की जरूरत
पीएम ने कहा कि देश में किसानों की आय को 2022 तक दोगुनी करने के लिये सरकार पहल कर रही है। इस अवसर पर उन्होंने कृषि प्रधान देश होने के बावजूद टिंबर के आयात पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि इस तरह के कई क्षेत्र हैं, जहां देश में तरक्की की बहुत गुंजाइश है। उन्होंने कहा कि अगर हम खेतों के बीच वाले हिस्से पर टिंबर उत्पादन करें तो हम इसके निर्यातक बन सकते हैं। खाड़ी के देश हमारे टिंबर के आयातक बन सकते हैं और हम उनसे ऊर्जा के क्षेत्र में सहायता ले सकते हैं। उन्होंने फूड प्रोशेसिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर दिया। पीएम के अनुसार देश में हर साल लगभग एक लाख करोड़ का कृषि उत्पाद बर्बाद हो जाता है। ये क्षेत्र रोजगार का बहुत बड़ा अवसर दे सकता है।

भारतीय बाजार के हिसाब से काम करें
पीएम मोदी ने भारत के बहुत बड़े बाजार की ओर ध्यान दिलाते हुए कहा कि अगर देश की आवश्यकताओं के अनुसार काम शुरू किया जाय तो बहुत विकास हो सकता है। इस अवसर पर उन्होंने देश की जरूरतों के मुताबिक हेल्थकेयर इलेक्ट्रोनिक यंत्र बनाने का जिक्र किया। उन्होंने फसल के बचे हुए हिस्से से अंतिम क्रिया के लिये ब्लॉक्स बनाने वाले नागपुर के एक नौजवान का जिक्र भी किया। कहा कि उसके छोटे से स्टार्टअप ने उस मकसद से आवश्यकता में 20 प्रतिशत की कमी ला दी। उन्होंने कहा कि अगर आप लोग 2022 तक 5-5 नई चीजें करने की ठान लें तो देश कहां से कहां पहुंच सकता है।

GEM पोर्टल से सरकार को बचत और लोगों को रोजगार
पीएम ने भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम का जिक्र करते हुए कहा कि अब देश में सोच समझकर फैसले लिये जाते हैं। उन्होंने GEM पोर्टल का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार के सभी विभाग अपनी जरूरतें उसपर डालते हैं। सरकार क्वालिटी से समझौता किये बिना सबसे सस्ती चीजों को खरीदती है। कुछ ही दिनों में इससे 1000 करोड़ की खरीदारी की गई है। इस डिमांड को 28 हजार सप्लायर ने ये पूरे किये हैं। उन्होंने कहा कि पुराने सरकारों में इसके नाम पर 1700 करोड़ का भी पेमेंट हो गया होता। उन्होंने कहा कि देश में ऑप्टिकल फाइबर 360 गांवों से लाखों गांवों में पहुंचाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि सीईओ की ये कोशिश होनी चाहिये कि गांव और गरीबों का कल्याण हो। उन्होंने कहा कि दिवाली में गिफ्ट देने की कंपनियों में परंपरा रही है। उस गिफ्ट का एक हिस्सा खादी के रूप में भी दिया जा सकता है, जो गरीबों का कल्याण करेगा।

बेहद लगन से काम करते हैं पनगढ़िया- पीएम मोदी
योजना आयोग की जगह बने नीति आयोग में उसके उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने बहुत परिवर्तन ला दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने पनगढ़िया की तारीफ में कहा है कि उन्होंने नीति आयोग के लिए जिस तरह से काम किया है उसे ये देश हमेशा याद रखेगा। पीएम ने उनके उत्तम काम के लिये और अमेरिका में आगे के काम के लिये बहुत-बहुत शुभकामनाएं दी हैं। गौरतलब है कि पनगढ़िया अध्यापन के कार्य के लिये वापस अमेरिका लौट रहे हैं। वो पीएम मोदी के विशेष बुलावे पर भारत में योगदान देने के लिए 45 साल बाद स्वदेश लौटे थे।

पीएम ने कहा कि गांधी जी ने आजादी के आंदोलन को जन आंदोलन बना दिया। अगर आज ये भाव पैदा हो जाय और देश के विकास में सब योगदान देने के लिये तैयार हो जाएं, इसे जन-आंदोलन में बदल दें तो देश आधुनिक, समृद्ध और सामर्थ्यवान बन सकता है। ये तभी होगा जब देश को आगे ले जाने के लिये मीटिंग ऑफ माइंड होगा।

LEAVE A REPLY