Home उपलब्धियां 2019 वर्षांत विशेष : युवाओं के लिए उपलब्धियों भरा रहा 2019, मोदी सरकार...

वर्षांत विशेष : युवाओं के लिए उपलब्धियों भरा रहा 2019, मोदी सरकार ने संवारा भविष्य

743
SHARE

वर्ष 2019 का समापन हो चुका है और नया वर्ष 2020 दस्तक दे चुका है। जब हम बीते हुए साल 2019 पर नजर डालते हैं, पाते हैं कि यह साल देश के युवाओं के लिए काफी खास रहा। जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में केंद्र की सरकार ने युवाओं के कौशल विकास और रोजगार के लिए बेहतर अवसर उपलब्ध कराया, वहीं युवाओं ने भी इसका समुचित लाभ उठाकर जीवन के हर क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन किया।

“युवाओं को अराजकता, जातिवाद और परिवारवाद से नफरत है”

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 29 दिसंबर, 2019 को देशवासियों के साथ वर्ष 2019 की आखिरी ‘मन की बात’ की। युवाओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी बहुत प्रतिभाशाली है। भारत के युवा हर दिन कुछ नया करना चाहते हैं। आज के युवा एक बेहतर सिस्टम पंसद करते हैं और अगर कोई सिस्टम सही से काम न करे तो वे बेचैन हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि वे इसे अच्छा मानते हैं। नई पीढ़ी को अव्यवस्था, अराजकता के प्रति चिढ़ है। जातिवाद और परिवारवाद जैसी अव्यवस्था को वे पसंद नहीं करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि आने वाले दशक को गति देने में युवा ज्यादा सक्रिय भूमिका निभाएंगे,जिनका जन्म 21वीं सदी में हुआ है,जो इस सदी के महत्वपूर्ण मुद्दों को समझते हुए बड़े हुए हैं। ऐसे युवाओं को आज बहुत सारे नामों से पहचाना जाता है। कुछ लोग इन्हें मिलेनियल कहते हैं तो कुछ जेन जेड या जनरेशन जेड के नाम से जानते हैं। 

पीएम मोदी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भारत में ये दशक न सिर्फ युवाओं के विकास के लिए होगा, बल्कि युवाओं के सामर्थ्य से देश का विकास करने वाला भी साबित होगा। भारत को आधुनिक बनाने में युवा पीढ़ी की बहुत बड़ी भूमिका होने वाली है। 

आइए एक नजर डालते हैं मोदी सरकार की उन योजनाओं और कार्यक्रमों पर, जो 2019 में युवाओं के लिए मील का पत्थर साबित हुए… 

कौशल विकास और उद्यमशीलता को बढ़ावा 

  • राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन (एनएसडीएम) के अंतर्गत सालाना एक करोड़ से ज्यादा युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
  • स्किल इंडिया पोर्टल से एक ही प्लेटफॉर्म पर विभिन्न मंत्रालयों और राज्य सरकारों का कौशल विकास संबंधी डाटा उपलब्ध है।
  • वर्ष 2014 में भारत में औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्रों की संख्या 11,964 थी, जो 2018-19 तक 12 प्रतिशत बढ़कर 14,939 हो गईं।
  • इस अवधि के दौरान प्रशिक्षुओं का नामांकन 37 प्रतिशत बढ़कर 16.90 लाख से 23.08 लाख के स्तर पर पहुंच गया।
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत अब तक करीब 87 लाख युवाओं को प्रशिक्षण दिया गया, जिनमें से 54 प्रतिशत को रोजगार मिला।
  • देश के सभी हिस्सों में कौशल प्रशिक्षण की बेहतर पहुंच के लिए लेह में एक एनएसटीआई विस्तार केंद्र का शुभारम्भ किया गया।
  • एमएसडीई ने 6 एनएसटीआई में प्रशिक्षण प्रयोगशालाओं की स्थापना के लिए रिलायंस जियो के साथ भागीदारी कायम की।
  • देश में 6 जगहों पर रोजगार मेलों का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण के लिए 400 अभ्यर्थियों का चयन किया गया।
  • 5 सितंबर, 2019 को कौशलाचार्य पुरस्कार, 2019 का आयोजन किया गया, जिसमें 53 प्रशिक्षकों को पुरस्कार प्रदान किए गए।
  • 2019 में 30 युवा उद्यमियों और 6 संगठनों को राष्ट्रीय उद्यमशीलता पुरस्कार, 2019 से सम्मानित किया गया।
  • स्किल साथी परामर्श कार्यक्रम के अंतर्गत 40 लाख विद्यार्थियों को परामर्श दिया गया।
  • सरकारी विद्यालयों में 500 कौशल हब और प्रयोगशालाओं की स्थापना की योजना को भी अंतिम रूप दिया गया।
  • कौशल भारत फिलहाल 9100 से ज्यादा विद्यालयों के साथ जुड़ चुका है। अभी तक 7.5 लाख विद्यार्थियों को फायदा हुआ है।
  • मुंबई में भारतीय कौशल संस्थान (आईआईएस) की स्थापना की घोषणा की गई। जिसका दर्जा आईआईएम और आईआईटी जैसा होगा।
  • रूस के कजान में आयोजित वर्ल्ड स्किल्स इंटरनेशनल, 2019 में भारत ने 63 देशों में 13वां स्थान हासिल किया।
  • देश में जमीनी स्तर पर विभिन्न सुधारों और हर नागरिक को सशक्त बनाने के के लिए सभी जिलों में जिला कौशल समितियों का गठन किया गया।
  • 6 राज्यों के 75 जिलों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप की शुरुआत की गई। इसके अंतर्गत 75 युवा पेशेवरों को चुना जाएगा।
  • सितंबर 2019 में भारतीय कौशल विकास सेवा के पहले बैच ने मैसूरु के प्रशासनिक प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत की।
  • आईएसडीएस केंद्र सरकार की सबसे नई सेवा है। 263 पदों के लिए नियुक्ति आईईएस परीक्षा के माध्यम से किए जाने का प्रावधान है।
  • ई-स्किल इंडिया प्लेटफॉर्म के तहत भारतीय युवाओं को ई-कौशल अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं।
  • प्रधानमंत्री मोदी द्वारा स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई मुद्रा योजना के कारण युवा जॉब सीकर की जगह जॉब क्रिएटर बन रहे हैं।
  • मुद्रा योजना के तहत 25 दिसंबर, 2019 तक अपना कारोबार शुरू करने के लिए 21.4 करोड़ से ज्यादा लोगों को बिना गारंटी का ऋण दिया गया।

राष्ट्र निर्माण में युवा भागीदारी

  • नेहरू युवा केंद्र संगठन (एनवाईकेएस) के तहत करीब 35.28 लाख युवाओं ने देशभर में 1.80 लाख युवा क्लब के जरिये पंजीकरण कराया।
  • एनवाईकेएस स्वयंसेवकों द्वारा 8.39 लाख पौधे लगाए गए और 49,050 यूनिट रक्त दान किया गया।
  • बुनियादी शिक्षा में 286 शिक्षा कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें 9,531 युवाओं ने शिरकत की।
  • ब्लॉकों में 359 स्पोर्ट्स मीट का आयोजन किया गया, जिसमें 55,325 युवाओं ने हिस्सा लिया।
  • 30.27 लाख युवाओं के साथ एनवाईकेएस द्वारा पूरे भारत में 33,264 स्थानों पर 21 जून, 2019 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।
  • एनवाईकेएस द्वारा 98,681 स्थानों पर स्वच्छ कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें काफी सख्या में युवाओं ने हिस्सा लिया। 
  • जल संरक्षण के कार्य में 4.2 लाख युवा शामिल हुए। इसके तहत 2,346 नए जल निकाय बनाए गए ।
  • इंद्रधनुष कार्यक्रम के तहत 1,27,995 बच्चों को सेवा प्रदाताओं की मदद से प्रतिरक्षित किया गया।
  • राष्ट्रीय एकता दिवस और रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम भारत भर में जिला नेहरू युवा केंद्र द्वारा आयोजित किया गया था, जिसमें 9.47 लाख युवा शामिल हुए।
  • राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के तहत करीब 3.91 मिलियन युवाओं ने 42661 एनएसएस इकाइयों में पंजीकरण कराया।

खेल क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन 

  • देश को स्वास्थ्य की दृष्टि से चुस्त और दुरुस्त बनाने के लिए पीएम मोदी ने 29 अगस्त, 2019 को फिट इंडिया अभियान की शुरुआत की।
  • स्कूलों, कालेजों, विभिन्न संस्थानों और जन भागीदारी से फिट इंडिया अभियान अब एक जनांदोलन बन चुका है।
  • 2 अक्टूबर, 2019 को फिट इंडिया अभियान के तहत देशभर में 1500 से भी अधिक फिट इंडिया दौड़ आयोजित की गयी।
  • फिट इंडिया स्कूल सप्ताह और फिट इंडिया प्रमाण– पत्र प्रणाली की शुरुआत की गयी।
  • एक अहम पहल के तहत खिलाड़ियों को खेल के मैदानों और संबंधित आधारभूत सुविधाओं को मुफ्त में उपलब्ध कराने की घोषणा की गई ।
  • 9 से 20 जनवरी, 2019 के बीच खेलो इंडिया युवा खेल 2019 का आयोजन किया गया, जिसकी मेजबानी का जिम्मा महाराष्ट्र ने उठाया।
  • कुल 403 स्पर्धा आयोजित की गई, जिसमें महाराष्ट्र समग्र विजेता बना। उसके बाद हरियाणा और दिल्ली का स्थान रहा।
  • 29 अगस्त, 2019 को राष्ट्रपति ने 32 खिलाड़ियों और 5 संस्थाओं को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रदान किया।
  • सभी एथलीटों को आहार, पूरक भोजन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया गया।
  • चीन में आयोजित आईएसएसएफ विश्व कप में भारत संयुक्त रूप से हंगरी के साथ पदक तालिका में शीर्ष स्थान पर रहा।
  • श्रीलंका में आयोजित एशियाई युवा शतरंज चैम्पियनशिप में भारत ने 28 स्वर्ण पदक हासिल किया।
  • दोहा (कतर) में आयोजित एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 02 स्वर्ण पदक हासिल किया।
  • अप्रैल 2019 में बैंकॉक (थाईलैंड) में आयोजित एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में भारत को 02 स्वर्ण पदक मिला।
  • जून 2019 में नीदरलैंड के हर्टोजेनबोश में आयोजित विश्व तीरंदाजी चैम्पियनशिप में भारत को 1 रजत और 2 कांस्य पदक मिला। यह विश्व तीरंदाजी की किसी प्रतियोगिता में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।
  • जुलाई 2019 में समोआ में आयोजित राष्ट्रमंडल भारोत्तोलन चैंपियनशिप, 2019 की पदक तालिका में भारत 35 पदक जीतकर अव्वल रहा। इस टूर्नामेंट में भारत का यह अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।
  • जुलाई 2019 में कटक (भारत) में आयोजित 21 वें राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस चैंपियनशिप में भारत ने सभी स्वर्ण पदक (7) हासिल किए।

व्यक्तिगत खेल स्पर्धाओं में उपलब्धियां

  • हेमा दास ने जुलाई 2019 में आयोजित विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय एथलेटिक्स प्रतियोगिताओं में 20 दिनों के भीतर पांच स्वर्ण पदक जीते।
  • दुती चंद जुलाई 2019 में आयोजित वर्ल्ड यूनिवर्सएड की 100 मीटर दौड़ स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बनीं।
  • स्विट्जरलैंड में आयोजित बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप, 2019 में पी.वी. सिंधु ने स्वर्ण पदक जीता। वह इस आयोजन में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बनीं।
  • कजाकिस्तान के नूर-सुल्तान में आयोजित विश्व कुश्ती चैंपियनशिप 2019 में भारतीय पहलवानों ने शानदार प्रदर्शन किया। टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए कुश्ती में चार स्थान हासिल किए।
  • अबू धाबी (यूएई) में आयोजित विशेष ओलंपिक, 2019 में भारतीय खिलाड़ियों ने 85 स्वर्ण, 154 रजत और 129 कांस्य सहित 368 पदक जीते। भारत टूर्नामेंट की पदक तालिका में तीसरे स्थान पर रहा।
  • नेपाल में आयोजित 13वें दक्षिण एशियाई खेल, 2019 में भारत ने 174 स्वर्ण, 93 रजत और 45 कांस्य समेत कुल 312 पदक के साथ पहला स्थान हासिल किया।

Leave a Reply