Home चटपटी मैकाले की ‘भूमिका’ में गहलोत सरकार, राजस्थान में पॉलिटिकल साइंस के 12वीं...

मैकाले की ‘भूमिका’ में गहलोत सरकार, राजस्थान में पॉलिटिकल साइंस के 12वीं के पेपर में कांग्रेस की तारीफ के लिए पूछे गए पार्टी से जुड़े 6 सवाल, मचा बवाल

854
SHARE

राजस्थान की कांग्रेस सरकार इस समय थॉमस मैकाले की भी भूमिका में है। जिस प्रकार मैकाले भारतीय एजुकेशन सिस्टम का कम्युनिस्ट विचारधारा, यूरोपीय साहित्य और दर्शन को हिस्सा बनाया था। इससे विद्यार्थियों के मासूम दिलों में ऐसी ही आधी-अधूरी कहानियों को ठूंसा गया था। अब उसी प्रकार गहलोत सरकार कांग्रेस की विचारधारा, कांग्रेस की कहानियों को शिक्षा सिस्टम का हिस्सा बनाने पर उतारू है। राजस्थान की 12वीं बोर्ड परीक्षा में पॉलिटिकल साइंस के पेपर में कांग्रेस पार्टी से जुड़े ही छह सवाल पूछ डाले हैं। यानी परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए आपको कांग्रेस के बारे में ज्ञान होना लाजिमी है। सिर्फ कांग्रेस से जुड़े आठ अंकों के सवाल पूछे जाने पर प्रदेश की सियासत से लेकर सोशल मीडिया पर जमकर बवाल मचा हुआ है। यह संभवत: पहला मौका है जब बोर्ड की परीक्षा में पॉलिटिकल साइंस के पेपर में कांग्रेस पार्टी से जुड़े एक साथ 6 सवाल पूछे गए हैं। इसे लेकर बीजेपी ने अशोक गहलोत सरकार पर तीखा हमला बोला है।

 

राजस्थान बोर्ड के परीक्षकों को सिर्फ़ कांग्रेस नज़र आई, परीक्षा को बनाया मज़ाक
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आयोजित 12वीं कक्षा की राजनीतिक विज्ञान की परीक्षा का पेपर शुक्रवार को सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ। इस प्रश्न पत्र में कांग्रेस से जुड़े सवालों को लेकर सीधे तौर पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार कटघरे में है। इस प्रश्नपत्र में कुल 6 प्रश्न ऐसे हैं, जो सीधे तौर पर कांग्रेस से जुड़े हैं। इन प्रश्नों को एक साथ जोड़ कर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल किया जा रहा है और प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। बीजेपी नेताओं का कहना है कि ‘महाराणा प्रताप के योगदान को शून्य कर देने पर तुली कांग्रेस के बोर्ड के परीक्षकों को सिर्फ़ कांग्रेस ही कांग्रेस नज़र आती है। इन्होंने परीक्षा का भी मज़ाक बना कर रख दिया है।

गहलोत सरकार विद्यार्थियों को Eng-Dr बनाना चाहती है या कांग्रेसी कार्यकर्ता?
राजस्थान की 12वीं बोर्ड परीक्षा में पॉलिटिकल साइंस के पेपर में कांग्रेस पार्टी से जुड़े पूछे गए सवालों को लेकर विवाद हो गया है। पहली बार ऐसा हुआ है कि बोर्ड की परीक्षा में कांग्रेस पार्टी से जुड़े 6 सवाल पूछे गए हैं और सभी छह सवालों में कांग्रेस की तारीफ है छिपी हुई है। बीजेपी ने अशोक गहलोत सरकार पर तीखा हमला बोला है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट कर कहा है कि राजस्थान में 12वीं की परीक्षा में प्रश्न-पत्र के बजाय कांग्रेस का प्रशंसा पत्र बांटा जा रहा है। गहलोत सरकार विद्यार्थियों को Eng. , Dr. बनाना चाहती है या कांग्रेसी कार्यकर्ता? 

बोर्ड ने जान-बूझकर बीजेपी को छोड़ा, कांग्रेस से जुड़े 8 अंकों के प्रश्न
पॉलिटिकल साइंस के पेपर में जान-बूझकर भारतीय जनता पार्टी से संबंधित कोई सवाल नहीं पूछा गया है। कांग्रेस के जुड़े सवालों की भरमार के बीच एक-एक सवाल भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को लेकर पूछे गए हैं। सिलेबस में ‘एक दल के प्रभुत्व का दौर और कांग्रेस प्रणाली : चुनौतियां और पुर्नस्थापना’ पाठ हैं। इसी के आधार पर 6 सवाल पूछ लिए गए। इन 6 प्रश्नों में 3 प्रश्न 1-1 अंक के हैं। एक प्रश्न 2 अंक का है। दो अन्य प्रश्न जो कि अथवा में पूछे गए हैं वे 3 अंक का है। ऐसे में कुल 8 अंकों के प्रश्न पूछे गए हैं।

 जानिए प्रश्न पत्र में कांग्रेस की तारीफ के लिए कौन-कौन से प्रश्न पूछे गए
1. 1984 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस ने कुल कितनी सीटें जीती थी ?
2. भारत के प्रथम 3 आम चुनावों में किस दल का प्रभुत्व रहा ?
3. ‘गरीबी हटाओ’ का नारा किसने दिया ?
4. कांग्रेस की सामाजिक एवं विचारधारात्मक गठबंधन के रूप में संक्षिप्त विवेचना कीजिए।
5. कांग्रेस ने 1967 का आम चुनाव किन परिस्थितियों में लड़ा व इसका क्या जनादेश मिला ? विवेचना कीजिए।
6. ‘आम चुनाव 1971 कांग्रेस की पुनर्स्थापना का चुनाव साबित हुआ। इस कथन की व्याख्या कीजिए।

 Trolling : ये राजनीति विज्ञान का पेपर है या कांग्रेस का इतिहास दर्शन?
पॉलिटिकल साइंस का पेपर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। ट्वीटर पर यूजर राजस्थान की गहलोत सरकार, राजस्थान बोर्ट और कांग्रेस पार्टी को खूब ट्रोल कर रहे हैं। बीजेपी इस मुद्दे पर मुखर होकर गहलोत सरकार को घेरने में जुटी है। राजस्थान के चौमू से बीजेपी विधायक ने इस मसले पर अपने एक ट्वीट में लिखा, “ये राजनीति विज्ञान का पेपर है या कांग्रेस का इतिहास दर्शन? ऐसा लगता है राजस्थान में उच्च माध्यमिक परीक्षा की पॉलिटिकल साइंस में जो भी बच्चा टॉप करेगा, उसे राजस्थान @INCRajasthan का अध्यक्ष बनाया जाएगा।

 

Leave a Reply