Home समाचार अब क्या बोलेंगे सपा प्रमुख अखिलेश यादव, करीबी इत्र कारोबारी के घर...

अब क्या बोलेंगे सपा प्रमुख अखिलेश यादव, करीबी इत्र कारोबारी के घर छापे में इतना मिला कैश कि नोट गिनने के लिए मंगवानी पड़ी मशीन

609
SHARE

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में पड़े आईटी छापे को लेकर काफी हो-हल्ला मचा रहे थे। मुलायम सिंह के बेटे अखिलेश यादव इसे राजनीति से प्रेरित बता रहे थे, लेकिन पिछले दिनों पड़े छापों में 800 करोड़ की कर चोरी पकड़ी गई। इन लोगों ने भी शेल कंपनियां बनाकर काफी रकम इधर-उधर की। इसके साथ ही फेमा का मामला भी सामने आया। अब गुरुवार को आयकर विभाग की टीम ने कन्नौज के बड़े इत्र कारोबारी पीयूष जैन के आवास और अन्य ठिकानों पर छापेमारी की। अखिलेश के करीबी पीयूष जैन के यहां छापेमारी में इनकम टैक्स विभाग को इतना कैश मिला कि नोट गिनने के लिए कई मशीनें मंगवानी पड़ी।

फोटो- अमर उजाला

दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार डीजीआई (डायरेक्टर जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस) की टीम ने कारोबारी के कई ठिकानों पर छापा मारा। इत्र कारोबारी और सपा नेता पीयूष जैन के घर से इनकम टैक्स को 150 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम मिली है। आनंदपुरी इलाके में पीयूष जैन के घर में बड़े-बड़े कार्टन्स में नोट भरे मिले हैं। 500 रुपए के नोटों की गडि्डयों के बंडल बनाकर पूरा कैश रखा गया था। इन बंडलों को ऐसे पैक कर रखा गया था कि इन्हें आराम से कहीं भी भेजा जा सके।

फोटो- अमर उजाला

हिंदुस्तान की खबर के अनुसार छापों में करीब 150 करोड़ की अघोषित रकम का खुलासा हुआ है। आयकर विभाग को 90 करोड़ रुपये नकद मिले हैं। इत्र कारोबारी के कन्नौज स्थित तीन परिसरों, कानपुर में आवास, ऑफिस, पेट्रोल पंप व कोल्ड स्टोरेज पर जांच टीमों ने एक साथ छापे मारे। अधिकारियों ने उनके मुंबई स्थित शोरूमों और आफिस में भी कार्रवाई की है। छापों में बड़ी मात्रा में फर्जी कंपनियों द्वारा कालाधन सफेद करने का मामला पकड़ा गया है। कम से कम 40 बोगस कंपनियां पकड़ी जा चुकी हैं। फर्जी कंपनियों के शेयरों के बेस प्राइस को कई गुना बढ़ाकर कालेधन को सफेद करने के प्रमाण मिले हैं।

अमर उजाला की खबर के अनुसार जांच में यह भी पता चला है कि कारोबारी की दो कंपनियां अरब देशों में हैं और भारत में ही छह कंपनियां पंजीकृत हैं। मुखौटा कंपनियों के जरिये 100 करोड़ रुपये से अधिक का लोन लेने की भी बात सामने आई है। हाल ही में पीयूष जैन ने लखनऊ में समाजवादी इत्र नाम का एक परफ्यूम लॉच किया था। इस समाजवादी इत्र की लॉन्चिंग में अखिलेश यादव भी मौजूद थे। इसकी फैक्टरी डिंपल यादव के चुनावी क्षेत्र कन्नौज में है।छापे में ज्यादा रकम मिलने के कारण समाजवादी पार्टी के इस करीबी इत्र कारोबारी के घर पर आईटी की जांच चल रही है। आईटी विभाग की टीमें घर पर कागजात और आयकर का ब्योरा जुटा रही हैं। पीयूष जैन मूलरूप से कन्नौज के छिपत्ती के रहने वाले हैं। उनका वहां घर, कोल्ड स्टोर, पेट्रोल पंप और इत्र की फैक्ट्री भी है। वर्तमान में वे जूही थानाक्षेत्र के आनंदपुरी में रहते हैं। इत्र की फैक्ट्री का हेड ऑफिस मुंबई में है।

इसे भी पढ़े-

इनकम टैक्स छापे पर विधवा विलाप करने वाले अखिलेश के करीबियों के यहां सैकड़ों करोड़ के घोटाले और टैक्स चोरी का खुलासा

Leave a Reply