Home समाचार राम के नाम पर कलंक रामचंद्र गुहा ने मजदूरों को लेकर ट्विटर...

राम के नाम पर कलंक रामचंद्र गुहा ने मजदूरों को लेकर ट्विटर पर उगला जहर,लोगों ने जमकर लगाई लताड़

933
SHARE

देशविरोधी बयानों और हरकतों के लिए कुख्यात इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने एक बार फिर देशविरोधी हरकत की है। गुहा ने ट्विटर पर लिखा कि भारत में जल्दबाजी में लिए गए लॉकडाउन के फैसले की वजह से ही मजदूरों को मुसीबत झेलनी पड़ी। भारत और पीएम मोदी को शर्मसार करने के लिए रामचंद्र गुहा ने दक्षिण अफ्रीका का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां मजदूरों को घर जाने के लिए पर्याप्त समय देने के बाद लॉकडाउन लागू किया गया। रामचंद्र गुहा के इस बयान पर यूजर्स ने बेहद तीखी प्रतिक्रिया दी। लोगों ने उन्हें जमकर घेरा। एक यूजर ने लिखा- गुलामों की दुनिया में आपका स्वागत है! प्रसार भारती ने सीइओ शशि शेखर ने जब गुहा को आईना दिखाते हुए लिखा कि आपको मालूम होना चाहिए कि दक्षिण अफ्रीका की आबादी महज 6 करोड़ है, तो एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा कि गुहा जैसे लोगों को तथ्यों से नहीं अपना प्रोपेगेंडा चलाने से मतलब है। सबसे बड़ा आईना तो स्वराजमग न्यूज पोर्टल के सीइओ प्रसन्ना विश्वनाथन ने दिखाया। गुहा को लताड़ते हुए और दक्षिण अफ्रीका की राजधानी प्रिटोरिया का एक वीडियो साझा करते हुए उन्होंने दिखाया कि कैसे भोजन और जरूरी सामानों के लिए लोग वहां मीलों की लाइन लगाकर खड़े हैं।

रामचंद्र गुहा की करतूत

भारत को शर्मसार करने के लिए अफ्रीका का हवाला दिया
यूजर्स ने जमकर की धुलाई
यूजर्स ने कहा, गुहा की मानसिकता गुलाम
भारत को बदनाम करने के लिए प्रोपेगेंडा चलाते हैं गुहा
‘खान मार्केट गैंग’ के सक्रिय सदस्य हैं गुहा

हे राम…!

भारत, राम और पीएम मोदी के विरोधी हैं रामचंद्र गुहा
कश्मीर पर भी दे चुके हैं भारत विरोधी बयान
सीएए और शाहीनबाग पर भी चलाते रहे हैं एजेंडा
‘असहिष्णुता गैंग’ के मुख्य किरदार

Leave a Reply