Home समाचार बिहार के भाइयों और बहनों के नाम प्रधानमंत्री मोदी का पत्र…

बिहार के भाइयों और बहनों के नाम प्रधानमंत्री मोदी का पत्र…

276
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार की जनता के नाम पत्र लिखा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि इस पत्र के माध्यम से एनडीए के संकल्प के बारे में बात करना चाहता हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार में मतदाताओं के जोश ने हमें उत्साह के साथ काम करने को प्रेरित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोगों को भरोसा है कि बिहार का विकास एनडीए सरकार ही कर सकती है। अपने पत्र में प्रधानमंत्री ने कहा है कि एनडीए सरकार बिहार के गौरवशाली अतीत को स्थापित करने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है, डबल इंजन की ताकत इस दशक में बिहार को विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचाएगी।

मेरे प्रिय बिहार के भाइयों और बहनों,
सादर प्रणाम !
आज इस पत्र के माध्यम से आपसे बिहार के विकास, विकास के लिए NDA पर विश्वास और विश्वास बनाए रखने के लिए NDA के संकल्प के बारे में बात करना चाहता हूं।

युवा हों या बुजुर्ग, गरीब हों या किसान, हर वर्ग के लोग जिस प्रकार आशीर्वाद देने के लिए सामने आ रहे हैं, वह एक आधुनिक और नए बिहार की तस्वीर दिखाता है। बिहार में लोकतंत्र के महापर्व के दौरान मतदाताओं के जोश ने हम सबको और अधिक उत्साह के साथ कार्य करने को प्रेरित किया है।

बिहार में लोकतंत्र की पहली कोपल फूटी, ज्ञान-विज्ञान, शास्त्र-अर्थशास्त्र, हर प्रकार से बिहार संपन्न रहा है। ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र पर चलते हुए NDA सरकार बिहार के गौरवशाली अतीत को फिर स्थापित करने के लिए कटिबद्ध है, प्रतिबद्ध है।

साथियों
यह हम सबके लिए गर्व का विषय है कि बिहार चुनाव का पूरा फोकस विकास पर केंद्रित रहा। NDA सरकार ने पिछले वर्षों में जो कार्य किए, उसका हमने न केवल रिपोर्ट कार्ड पेश किया, बल्कि जनता-जनार्दन के सामने आगे का विजन भी रखा। लोगों को भरोसा है कि बिहार का विकास NDA सरकार ही कर सकती है।

अव्यवस्था और अराजकता के वातावरण में नव-निर्माण असंभव होता है। वर्ष 2005 के बाद से बिहार में माहौल भी बदला और नव-निर्माण की प्रक्रिया भी आरंभ हुई। बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर और कानून का राज, ये सामाजिक और आर्थिक संपन्नता के लिए अनिवार्य हैं। बिहार को ये दोनों NDA ही दे सकता है।NDA के लिए मानव जीवन की गरिमा सर्वोपरि है। हम हर नागरिक को देश की उन्नति और प्रगति में भागीदार मानते हैं। पहले देश के विकास में बनावटी बाधाएं खड़ी करके रखी गई थीं, जिससे युवाओं, महिलाओं और किसानों के लिए अवसर कम होते गए। लेकिन NDA के निरंतर प्रयासों से अब यह स्थिति बदल रही है।

NDA ने बिहार में बिजली, पानी, सड़क, इलाज, शिक्षा, कानून व्यवस्था, हर क्षेत्र में बहुत काम किया। मूल आवश्यकताओं की पूर्ति के बाद अब यह दशक बिहार की आकांक्षाओं की पूर्ति का है। NDA का प्रत्येक साथी, इन आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए पूरी निष्ठा के साथ काम करने के लिए तत्पर है।
बिहार को अभाव से आकांक्षा की ओर ले जाना NDA सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है।

हर गरीब को पक्का घर देना हो, घर-घर शौचालय बनाना हो, घरों में नल से जल देना हो, बिजली पहुंचानी हो, गैस कनेक्शन देना हो, हर गरीब को बैंक से जोड़ना हो, यह सब बिहारवासियों के वोट की ताकत से ही संभव हो पाया है।

बिहार की बहनों, बेटियों की अपेक्षाएं और आकांक्षाएं भी अब निरंतर बढ़ रही हैं। उनको शौचालय की सुविधा मिली तो उनमें सुरक्षा का एहसास आया। उनके नाम से प्रधानमंत्री आवास योजना का घर मिला तो चिंता कम हुई। जनधन खाता खुला, मुद्रा योजना से बैंक लोन मिला तो नया आत्मविश्वास जागा। समाज में आत्मविश्वास तब और बढ़ता है, जब जन्म से लेकर बुढ़ापे तक संपूर्ण सुरक्षा कवच मिले। बीते वर्षों में NDA ने गर्भावस्था से लेकर बुढ़ापे में पेंशन और बीमा तक की सुरक्षा दी है। आज बिहार का गरीब से गरीब परिवार भी गंभीर बीमारी का इलाज देश में कहीं भी मुफ्त में करा पा रहा है।

जलशक्ति को लेकर केंद्र सरकार के प्रयास भी आज बिहार में लोगों को NDA की तरफ आकर्षित कर रहे हैं। NDA ‘हर घर जल’ के सपने को पूरा करने के लिए कृतसंकल्प है। इससे करोड़ों लोगों विशेषकर महिलाओं के जीवन स्तर में बहुत बड़ा सुधार आएगा।

साथियों,
कनेक्टिविटी से जुड़े प्रोजेक्ट्स को तेजी से आगे बढ़ाना NDA की पहली प्राथमिकता है। अच्छे एयरपोर्ट्स, वाटरपोर्ट्स, बेहतर रोड के लिए बिहार में लगातार काम हो रहा है। कनेक्टिविटी जितनी ज्यादा बढ़ेगी, उतना ही गरीब, किसान, नौजवान और मध्यम वर्ग की ‘Ease of Living’ में भी सुधार आएगा।

बिहार को आधुनिक बनाने में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का बड़ा योगदान होगा। आज बिहार प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा योजना का बड़ा हिस्सेदार है, बिहार गैस बेस्ड इकॉनॉमी का अहम अंग भी बन रहा है। आज बिहार में CNG आधारित ट्रैफिक व्यवस्था का नेटवर्क भी तैयार हो रहा है। गंगा जी पर बन रहे पहले इनलैंड वॉटरवे से भी बिहार को बहुत लाभ होगा।

आज बिहार में दुकान या फैक्ट्री चलाने वाले, इंजीनियर-डॉक्टर से लेकर रेहड़ी-पटरीवाले तक, हर कोई भयमुक्त होकर अपना काम कर रहा है। आज जब यहां के लोग आत्मनिर्भर बिहार के संकल्प को पूरा करने में जुटे हैं, तो उसके पीछे एनडीए सरकार की जन-कल्याणकारी योजनाओं की ठोस बुनियाद है।

मातृभाषा में शिक्षा के निर्णय का बिहार ने हृदय से स्वागत किया है। इससे प्रतिभाशाली युवाओं के लिए नए अवसरों के द्वार खुलेंगे।
बिहारवासी ‘स्वामित्व योजना’ का भी बहुत उम्मीद के साथ इंतजार कर रहे हैं। इन मजबूत कदमों से आम लोगों का सशक्तिकरण होगा और उन्हें गरिमापूर्ण जीवन मिलेगा।
साथियों,
बिहार में वोट पड़ रहा है-
जात-पात पर नहीं, विकास पर
झूठे वादों पर नहीं, पक्के इरादों पर
कुशासन पर नहीं, सुशासन पर
भ्रष्टाचार पर नहीं, ईमानदारी पर
अवसरवादिता पर नहीं, आत्मनिर्भरता के विजन पर
मैं बिहार के विकास को लेकर बहुत आश्वस्त हूं। बिहार के विकास में कोई कमी न आए, विकास की योजनाएं अटकें नहीं, भटकें नहीं, इसलिए मुझे बिहार में नीतीश जी की सरकार की जरूरत है।

मुझे विश्वास है, डबल इंजन की ताकत, इस दशक में बिहार को विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचाएगी।
जय बिहार, जय भारत !

Leave a Reply