Home कोरोना वायरस 21 जून से 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिकों के लिए...

21 जून से 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिकों के लिए भारत सरकार मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी: पीएम मोदी

319
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार शाम 5 बजे राष्ट्र को संबोधित किया। अपने संदेश में प्रधानमंत्री ने दो बड़ी घोषणाएं की। पहली घोषणा यह की कि 21 जून से 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिकों को भारत सरकार मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी और दूसरी घोषणा यह की कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक बढ़ा दिया गया है, यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक गरीबों को तय मात्रा में मुफ्त राशन उपलब्ध होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संदेश में कहा, “आज ये निर्णय लिया गया है कि राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 प्रतिशत काम था, उसकी जिम्मेदारी भी भारत सरकार उठाएगी। ये व्यवस्था आने वाले 2 सप्ताह में लागू की जाएगी। इन दो सप्ताह में केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर नई गाइडलाइंस के अनुसार आवश्यक तैयारी कर लेंगी। संयोग है कि दो सप्ताह बाद, 21 जून को ही अंतरराष्ट्रीय योग दिवस भी है। 21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी।”

पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। यानि देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। उन्होंने कहा कि अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे। सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी। श्री मोदी ने कहा कि गरीब हों, निम्न मध्यम हों, मध्यम वर्ग हो या फिर उच्च वर्ग, भारत सरकार के अभियान में मुफ्त वैक्सीन ही लगाई जाएगी। 

पीएम मोदी ने स्पष्ट किया कि जो व्यक्ति मुफ्त में वैक्सीन नहीं लगवाना चाहते, प्राइवेट अस्पताल में वैक्सीन लगवाना चाहते हैं, उनका भी ध्यान रखा गया है। देश में बन रही वैक्सीन में से 25 प्रतिशत,  प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं, ये व्यवस्था जारी रहेगी। प्राइवेट अस्पताल वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने दूसरी बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि पिछले वर्ष जब कोरोना के कारण लॉकडाउन लगाना पड़ा था तो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 8 महीने तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को मुफ्त राशन की व्यवस्था देश ने की थी। इस वर्ष भी दूसरी वेव के कारण मई और जून के लिए इस योजना का विस्तार किया गया। आज सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है। यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा। इस प्रयास का मकसद यही है कि मेरे किसी भी गरीब भाई-बहन को, उसके परिवार को, भूखा ना सोना पड़े।

प्रधानमंत्री मोदी ने वैक्सीन को लेकर भ्रम और अफवाहों के प्रति देशवासियों से सतर्क किया। उन्होंने कहा कि देश में कई क्षेत्रों से वैक्सीन को लेकर भ्रम और अफवाहों की जानकारी चिंता बढ़ाती है। जब से भारत में वैक्सीन पर काम शुरू हुआ, तभी से कुछ लोगों द्वारा ऐसी बातें कही गईं, जिससे आम लोगों के मन में शंका पैदा हो। कोशिश ये भी हुई कि भारत के वैक्सीन निर्माताओं का हौसला पस्त पड़ जाए और उनके सामने अनेक प्रकार की बाधाएं आएं। जब भारत की वैक्सीन आई तो अनेक माध्यमों से शंका-आशंका को और बढ़ाया गया। वैक्सीन न लगवाने के लिए भांति-भांति के तर्क प्रचारित किए गए। उन्होंने कहा कि जो लोग भी वैक्सीन को लेकर आशंका पैदा कर रहे हैं, अफवाहें फैला रहे हैं, वो भोले-भाले भाई-बहनों के जीवन के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसी अफवाहों से सतर्क रहने की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी ने समाज के प्रबुद्ध लोगों से, युवाओं से अनुरोध किया कि वे वैक्सीन को लेकर जागरूकता बढ़ाने में सहयोग करें।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि अभी कई जगहों पर कोरोना कर्फ्यू में ढील दी जा रही है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हमारे बीच से कोरोना चला गया है। हमें सावधान भी रहना है, और कोरोना से बचाव के नियमों का भी सख्ती से पालन करते रहना है। संदेश के अंत में उन्होंने विश्वास जताया कि हम सब कोरोना से जीतेंगे, भारत कोरोना से जीतेगा।

Leave a Reply