Home समाचार न्यूयॉर्क टाइम्स की फर्जी पत्रकारिता को बिहार की जनता ने धोया

न्यूयॉर्क टाइम्स की फर्जी पत्रकारिता को बिहार की जनता ने धोया

376
SHARE

न्यूयॉर्क टाइम्स की फर्जी पत्रकारिता का एक बार फिर पर्दाफाश हो गया है। न्यूयॉर्क टाइम्स की फर्जी पत्रकारिता को बिहार की जनता ने धो दिया है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने ताजा आलेख India’s Modi Faces Chance of Another Electoral Setback, This Time in Bihar में लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक और चुनावी झटके का सामना करना पड़ेगा, इस बार बिहार में।

आलेख में लिखा गया है कि इस बिहार विधानसभा चुनाव को एक जनमत संग्रह के रूप में देखा गया और मतदाताओं ने दो पूर्व मुख्यमंत्रियों ( लालू यादव और राबड़ी देवी) के बेटे तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले महागठबंधन का जोरदार समर्थन किया है। कुछ एग्जिट पोल के आधार पर न्यूयॉर्क टाइम्स ने लिखा है कि बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और उसके गठबंधन के साथी को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

बिहार के मतदाताओं ने इस अमेरिकी अखबार के इस फर्जी खबर को सबके सामने ला दिया कि तेजस्वी यादव दस लाख नौकरी देने के वादे के साथ युवाओं को अपने पक्ष में करने में कामयाब रहे। आलेख में कहा गया है कि मतदाताओं ने तेजस्वी के गठबंधन का पुरजोर समर्थन किया है जिसमें कांग्रेस भी शामिल है।

हालांकि बिहार में जारी मतगणना के जो रुझान हैं, उससे एक बार फिर से बिहार में एनडीए की सरकार बनती दिख रही है। वोटों की गिनती में एनडीए आगे चल रही है। रुझानों में तेजस्वी यादव की अगुवाई वाले महागठबंधन को हार का सामना करना पड़ रहा है। नीतीश कुमार की अगुवाई वाली एनडीए ने रुझानों में महागठबंधन से काफी बढ़त बना ली है। रुझानों से साफ है कि लोगों ने मोदी-नीतीश की डबल इंजन वाली सरकार पर भरोसा किया है।

Leave a Reply