Home झूठ का पर्दाफाश AAP के पाप: दिल्ली नगर निगम चुनाव में आप का धंधा शुरू,...

AAP के पाप: दिल्ली नगर निगम चुनाव में आप का धंधा शुरू, महिला को पार्टी की टिकट दिलाने के नाम पर आप विधायक के साले और पीए ने लिए 55 लाख, ACB ने किया तीन को गिरफ्तार

339
SHARE

दिल्ली नगर निगम के आगामी चुनाव से पहले ही आप के नए-नए पाप उजागर होने लगे हैं। आप की दिल्ली सरकार के मंत्री जेल में हैं। डिप्टी सीएम शराब घोटाले में फंसे हुए हैं और अब आप के माननीय विधायक भी महिला को नगर निगम चुनाव में पार्षद की टिकट दिलाने के नाम पर लाखों रुपये हजम करते सुर्खियों में आ गए हैं। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने आप विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी के साले, पीए समेत तीन लोगों को 55 लाख रूपये टिकट दिलाने के नाम पर लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। तीनों पर रुपये लेकर पार्षद का टिकट नहीं दिलाने का आरोप है। महिला ने आरोप लगाया है कि लाखों रुपये आप विधायक के नाम पर ही दिए हैं। ब्यूरो की टीम रिश्वत के इस मामले में आप विधायक की भूमिका की जांच कर रही है।

महिला को पार्षद का टिकट दिलाने के लिए आप नेताओं ने मांगे 90 लाख रुपये
भ्रष्टाचार के खिलाफ सौ-सौ कस्मे खाने वाले आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए हालांकि पार्टी के अंदर भ्रष्टाचार का यह कोई पहला मामला नहीं है। आप नेता सत्येंद्र जैन से लेकर मनीष सिसोदिया तक लंबी फेहरिस्त है। आप के कई नेता विभिन्न एजेंसियों की जांच का सामना कर रहे हैं। अब दिल्ली में एमसीडी चुनाव में टिकट को लेकर धांधली का मामला सामने आया है। दिल्ली की एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। एंटी करप्शन ब्यूरो ने आप विधायक के पीए विशाल पांडेय और रिश्तेदार शिव शंकर पांडेय व ओम सिंह को गिरफ्तार किया है। इन तीनों पर एक महिला से पार्षद का टिकट दिलाने के लिए 90 लाख रुपये मांगने का आरोप है।

महिला ने आप विधायक अखिलेश को 35 और वजीरपुर विधायक राजेश को 20 लाख दिए
दिल्ली की एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने कार्रवाई करते हुए आप विधायक के पीए और रिश्तेदार समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल, पूरा मामला कमला नगर के वार्ड संख्या 69 का है। आप कार्यकर्ता शोभा खारी ने पार्टी से टिकट मांगा। महिला का आरोप है कि विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी ने टिकट दिलवाने के बदले 90 लाख रुपये की डिमांड की। महिला ने टिकट के लिए विधायक अखिलेश को 35 लाख रुपये और वजीरपुर विधायक राजेश गुप्ता को 20 लाख रुपये की राशि दे दी।

आप की टिकट का सौदा- 55 लाख पहले और 35 लाख लिस्ट में नाम आने के बाद
आप कार्यकर्ता शोभा खारी का कहना है कि वह काफी समय से अपने क्षेत्र में चुनाव लड़ने की तैयारियां कर रही थी। इसके लिए मतदाताओं से मिलना-जुलना और कार्यक्रमों में शामिल होना होता रहता था। ऐसे ही एक कार्यक्रम में आप विधायक ने उससे टिकट का सौदा किया। इसके तहत 55 लाख पहले और 35 लाख लिस्ट में नाम आने के बाद देने थे। वह पैसे देने पर राजी भी हो गई। आरोप है कि बाकी रकम लिस्ट में नाम आने के बाद देने की बात तय हुई। आम आदमी पार्टी की लिस्ट में महिला का नाम नहीं आया। इस पर महिला ने विधायक अखिलेश के साले ओम सिंह से रुपये वापस करने की मांग की। ओम सिंह ने महिला को रुपये वापस देने का आश्वासन दिया।

एसीबी ने जाल बिछाया तो 33 लाख की घूस लेते हुए तीनों को रंगे हाथों पकड़ लिया
इसके बावजूद कई दिनों तक उसके पैसे वापस नहीं किए तो महिला ने एंटी करप्शन ब्यूरो से इसकी शिकायत कर दी। पीड़ित महिला ने ब्यूरो को वीडियो भी दिया। इसमें कथित रूप से पार्षद के लिए आप की टिकट के सौदे की बातचीत हो रही थी। वीडियो देखने के बाद एसीबी की टीम ने जाल बिछाया और 15 नवंबर की रात में ओम सिंह अपने साथी शिव शंकर पांडे और प्रिंस रघुवंशी के साथ घूस के 33 लाख रुपये लेकर पीड़ित महिला के पास पहुंचा। यहां पहले से मौजूद टीम के सदस्यों ने तीनों को रंगे हाथ नकदी के साथ पकड़ लिया।

आप के रिश्वतखोर नेताओं की पोल खुली, रिश्वत कांड में दो विधायक भी शामिल-बिधूड़ी
आप विधायक द्वारा टिकट के नाम पर रिश्वत वसूले जाने के मामले में भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि आप नेताओं की पोल खुल गई है। वे अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के काम के लिए भी रिश्वत ले रहे हैं तो जनता को कैसे छोड़ेंगे। विधूड़ी ने कहा कि सिर्फ मेरा आरोप ही नहीं, 33 लाख रुपये (रिश्वत की रकम) पहले ही वसूले जा चुके हैं। आरोपी (आप विधायक के साले) को गिरफ्तार किया जा चुका है। मुझे यकीन है कि दो और विधायक भी शामिल हैं, मुझे उनका (गोपाल खारी) फोन आया कि मेरे साथ धोखा हुआ है।

 

Leave a Reply