Home समाचार कांग्रेस का शेर तो तोता निकला, रटाया भी नहीं बोल पाता, 6...

कांग्रेस का शेर तो तोता निकला, रटाया भी नहीं बोल पाता, 6 महीने में 5 बार पकड़ी गई गलती

387
SHARE

हिन्दी फिल्म ‘अंधा कानून’ का एक गीत ‘जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना’ काफी मशहूर है। इस गीत की यह लाइन कांग्रेस के अघोषित अध्यक्ष राहुल गांधी पर अक्षरश: लागू होती है। कांग्रेस पार्टी के रणनीतिकार राहुल गांधी को एक से बढ़कर एक राजनीतिक दांव-पेंच सीखाते हैं। अपने विरोधियों पर हमले के तरीके बताते हैं। उन्हें रीलॉन्च करने की बार-बार कोशिश करते हैं। यहां तक कि उन्हें शेर की तरह पेश करने से भी बाज नहीं आते हैं। लेकिन राहुल गांधी ही उनकी पूरी योजना पर पानी फेर देते हैं। वे पार्टी की योजना और रणनीति के मुताबिक खुद को बदलने की कोशिश करते हैं, लेकिन उनकी बौद्धिक क्षमता इसके आड़े आ जाती है। वो लगातार गलतियां करते रहते हैं और इस दौरान उनके राजनीतिक सिपहसालार उनको बचाने का प्रयास करते रहते हैं। 

गुरुवार (16 मार्च, 2023) को कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उस समय दिलचस्प नजारा देखने को मिला, जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय महासचिव जयराम रमेश लाइव ही राहुल गांधी को कुछ समझाते नजर आए। दरअसल राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, “दुर्भाग्य से मैं संसद का सदस्य हूं। मुझे उम्मीद है कि मुझे संसद में बोलने दिया जाएगा।” राहुल गांधी के इस अटपटे बयान ने बगल में बैठे जयराम रमेश को गलती का एहसास करा दिया। उन्होंने तुरंत राहुल गांधी के बयान “दुर्भाग्य से मैं संसद का सदस्य हूं” को सुधारने की कोशिश की। वे राहुल गांधी के कान में Unfortunately बोलते सुने गए। उन्होंने कहा कि वे (बीजेपी) आपका मजाक बनाएंगे। इसे कहिए, दुर्भाग्य से आपके लिए, इसके बाद राहुल गांधी ने सुधार करते हुए यही बात दोहराई।

जिस समय जयराम रमेश ने बच्चों की तरह राहुल गांधी को टोका उस समय मीडिया का माइक ऑन था। माइक ने उनकी बात को कैद कर लिया और जयराम रमेश की सलाह सार्वजनिक हो गई। कुछ ही समय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की यह वीडियो क्लिप वायरल हो गई। इसके बाद राहुल गांधी बीजेपी और अन्य लोगों के निशाने पर आ गए। बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने तंज कसते हुए सवाल किया कि आखिर कितना और कबतक सिखाओंगे ? वहीं केंद्रीय मंत्री किरेण रिजिजू ने ट्वीट कर लिखा, “राहुल गांधी को दोष मत दीजिए। गलती जयराम रमेश की है। जयराम रमेश को राहुल गांधी के साथ क्लास 2 के बच्चे की तरह व्यवहार क्यों करना चाहिए ?”

सोशल मीडिया पर लोगों ने राहुल गांधी का मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। लोग सवाल कर रहे हैं कि क्या राहुल गांधी का बयान सांसदों, संसद और लोकतंत्र का अपमान नहीं है? कुछ लोगों का कहना है कि राहुल गांधी का सांसद होना देश के लिए दुर्भाग्य है। देश के अंदर हो या बाहर भारत को बदनाम करने में लगे रहते हैं। ‘द कश्मीर फाइल्स’ के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने राहुल गांधी का वीडियो शेयर करते चुटकी ली। उन्होंने ट्वीट में लिखा,”कठपुतली की सबसे बड़ी बदकिस्मती यह है कि उसे पता नहीं की उसे चलाने वाला कौन है-TheTashkentFiles का एक डायलॉग।” सोशल तमाशा नाम के ट्विटर यूजर ने ट्वीट किया, ” ये क्या सुप्रिया श्रीनेत का शेर तो तोता निकला, जो पढ़ाया जाता वही बोलता है।”

यह पहला मौका नहीं है,जब राहुल गांधी ने खुद अपना मजाक उड़ाने का मौका दिया हो। आइए देखते हैं पिछले छह महीन में राहुल गांधी की कब-कब जबान फिसली और कांग्रेस को उनके बचाव में उतरना पड़ा…

“सत्याग्रह का मतलब-सत्ता के रास्ते को कभी मत छोड़ो”

26 फरवरी, 2023 को रायपुर में राहुल गांधी ने कांग्रेस महाधिवेशन में एक भाषण दिया था। इस दौरान सत्याग्रह का मतलब समझाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि सत्ता के रास्ते को कभी मत छोड़ो। गलती का एहसास होते ही राहुल गांधी ने इसमें सुधार किया। उन्होंने कहा, “सॉरी, सत्ता नहीं सत्य के रास्ते को कभी मत छोड़ो।”

महंगाई पर भाषण : आटा की कीमत 40 रुपए लीटर

4 सितंबर 2022 को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने आटा की कीमत 40 रुपए लीटर बता दिया। भाषण के तुरंत बाद, राहुल ने इसे ठीक किया और कहा कि आटा किलोग्राम में। हालांकि, तब तक उनका यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया।

वोटों की गिनती से पहले खड़गे को कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दी बधाई

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने वोटों की गिनती से पहले ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में मल्लिकार्जुन खड़गे को कांग्रेस अध्यक्ष बनने की बधाई दे दी। राहुल के इस टिप्पणी पर खूब बवाल मचा, जिसके बाद कांग्रेस को आधिकारिक रूप से सफाई देनी पड़ी। इसबार भी कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश को राहुल के बचाव में सामने आना पड़ा। उन्होंने कहा कि खड़गे जी की जीत तय मानी जा रही थी, इसलिए उन्होंने बधाई दे दी।

राहुल गांधी ने कहा- देश की आबादी 140 करोड़ रुपए

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान हरियाणा में राहुल गांधी ने अमीरी और गरीबी को लेकर भाषण दिया। इस दौरान उनकी जबान फिसल गई। राहुल ने कहा कि देश की आबादी 140 करोड़ रुपए है। राहुल को इस गलती का तुरंत एहसास हुआ। उन्होंने इसे ठीक करते हुए कहा- 140 करोड़ लोग अब ठीक?

राहुल गांधी ने काले कानून को बताया काले किसान 

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी पंजाब में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान मोदी सरकार के 3 कृषि बिल का जिक्र करते हुए राहुल की जुबान फिसल गई। राहुल काले कानून को काले किसान बोल दिए। हालांकि राहुल ने इसमें सुधार किया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी।

Leave a Reply